Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 27 2021

प्रवासी एवं शरणार्थी बच्‍चों पर यूनिसेफ की रिपोर्ट

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • अभी हाल ही में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) द्वारा ‘अनसर्टेन पाथवेज : हाउ जेंडर शेप्स द एक्सपीरियंसेज आॅफ चिल्‍ड्रेन ऑन द मूव’ शीर्षक वाली रिपोर्ट प्रस्तुत की।

प्रमुख निष्कर्ष

  • इस रिपोर्ट के अनुसार, अपने मूल देश या नागरिकता वाले देश के बाहर रहने वाले व्यक्तियों की संख्या वर्ष 2020 में 281 मिलियन के रिकाॅर्ड स्तर पर पहुंच गई, जो वैश्विक आबादी का 3.6 प्रतिशत है।
  • इस 281 मिलियन में 18 वर्ष से कम उम्र के लड़के एवं लड़कियों की संख्या 35.5 मिलियन है।
  • इस 35.5 मिलियन में 13 मिलियन (एक-तिहाई से अधिक) शरणार्थी एवं शरण चाहने वाले थे।
  • 35.5 मिलियन बाल प्रवासियों में लड़कों की संख्या लड़कियों से 1.2 मिलियन (6.7%) अधिक है, जो अब तक का सबसे बड़ा अंतर है। यह अंतर वर्ष 2000 के सापेक्ष लगभग दोगुना है।
  • वर्ष 2000 में 23.9 मिलियन अंतरराष्ट्रीय बाल प्रवासियों में लड़कों की संख्या लड़कियों से 3.6 प्रतिशत अधिक थी।
  • अंतरराष्ट्रीय बाल प्रवासियों की संख्या (1990-2020) लिंग के आधार पर (संख्या मिलियन में हैं) 

अन्य निष्कर्ष 

  • सभी अंतरराष्ट्रीय प्रवासियों में से लगभग दो-तिहाई उच्‍च आय वाले देशों (65%) में रहते हैं और शेष अधिकांश मध्यम आय वाले देशों (31%) में रहते हैं।
  • विश्व के 14.7 मिलियन बाल प्रवासी (कुल का 41 %) मात्र 10 देशों में शरण पाए हुए हैं।
  • जाॅर्डन, तुर्की और युगांडा जैसे देशों में बहुसंख्यक शरणार्थी हैं।
  • वर्ष 2020 में मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका में लगभग 9 मिलियन बाल प्रवासी रहते हैं, जिसमें 54.3 प्रतिशत लड़के हैं।
  • पश्चिमी यूरोप में बाल प्रवासियों की संख्या में भी लिंग असमानता दिखती है। यहां 5.6 मिलियन बाल प्रवासियों में 52 प्रतिशत लड़के हैं।
  • अधिकांश अन्य क्षेत्रों में बाल प्रवासियों की संख्या में लैंगिक दिखती है।
  • पूर्वी एवं दक्षिणी अफ्रीका (50.4 %) तथा पश्चिमी और मध्य अफ्रीका (52.7%) में लड़कियों की संख्या लड़कों  से अधिक है।
  • क्षेत्र एवं लिंग के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय बाल प्रवासियों की संख्या 

  • विश्व में 10 मिलियन शरणार्थी बच्‍चे हैं, जिनका क्षेत्रवार विवरण ग्राफ में अंकित है-
  • क्षेत्र एवं लिंग के अनुसार, बाल शरणार्थियों की संख्या, वर्ष, 2020 -

  • 10 मिलियन बाल शरणार्थी में से प्रत्येक 3 में 1 शरणार्थी सीरिया से संबंधित है। जिसमें 1.6 मिलियन लड़के और 1.5 मिलियन लड़कियां हैं।
  • बाल शरणार्थियों के शीर्ष 10 उद्‍गम देश (हजार में)

  • 2020 के अंत तक कुल बच्‍चों का आंतरिक विस्थापन (देश के भीतर ही) 

  • 2020 में 14.6 मिलियन बच्‍चों का विस्थापन वैश्विक स्त्‍ार पर हुआ, जिसमें 4.6 मिलियन संघर्ष एवं हिंसा के कारण एवं 10 मिलियन प्राकृतिक आपदा के कारण था।

भारत के संदर्भ में

  • यह रिपोर्ट कोविड-19 के दौरान  करोड़ों आंतरिक प्रवासी घरेलू कामगारों की स्थिति का खुलासा करती है।
  • इस दौरान उन्हें बिना किसी सहायता के छोड़ दिया गया।
  • उसमें  से अनेक अपने परिवहन का खर्च भी वहन करने में सक्षम नहीं थे।
  • भारत में किशोर प्रवासी लड़कियों के अध्ययन में पया गया कि शादी के बाद ससुराल में लड़कियांे को अक्‍सर मर्यादा में रहना पड़ता है।
  • अविवाहित लड़कियांे की तुलना में इन विवाहित की सामाजिक कियाशीलता एवं गतिशीलता कम हो जाती है।
  • विवाहित लड़कियों के पास सामाजिक सहायता प्राप्त करने के ज्यादा अवसर नहीं होते हैं।
  • गावं से शहर में प्रवास करने वाली किशोर लड़कियों को गांव में रहने वाली लड़कियों की तुलना में ज्यादा अधिकार एवं स्वतंत्रता प्राप्त है।


 

संकलन-अशोक कुमार तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List