Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 22 2021

मिशन शक्ति 3:0

पृष्ठभूमि 

  • 17 अक्‍टूबर, 2020 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बलरामपुर (उत्तर प्रदेश) में ‘मिशन शक्ति’ अभियान का उद्‍घाटन किया था। 
  • इस अभियान को तीन चरणों में संचालित करने की योजना थी।
  • यह उत्तर प्रदेश सरकार के महिला कल्‍याण एवं बाल विकास के अंतर्गत संचालित अभियान है।
  • इस अभियान के तीन स्तंभ हैं - नारी सुरक्षा, नारी सम्मान एवं नारी स्वावलंबन।

मिशन शक्ति 

  • इस अभियान का प्रथम चरण 17-25 अक्‍टूबर, 2021 तक संचालित किया गया।
  • इस अभियान में प्रत्‍येक महीने एक-एक सप्‍ताह के लिए जनजागरूकता अभियान चलाया जाएगा।
  • इसके अंतर्गत प्रथमत: महिलाओं एवं बेटियों की सुरक्षा एवं सम्मान सुनिश्चित करते हुए जन जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाएगा।
  • इसके बाद आॅपरेशन शक्ति के अंतर्गत चिह्नित अराजक तत्‍वों (शोहदों, मनचलों) की काउंसलिंग की जाएगी।

उद्देश्य

  • छात्राओं, अध्यापिकाओं एवं अन्‍य महिलाओं को सुरक्षित परिवेश की अनुभूति कराना।
  • अध्ययन स्थल एवं कार्य स्थल पर मानसिक एवं यौन उत्‍पीड़न से संरक्षण।
  • विभिन्‍न स्थानों (अध्ययन एवं कार्य स्थल) पर मानसिक एवं यौन उत्‍पीड़न से संरक्षण विषयक विधिक प्रावधानों की जानकारी उपलब्ध कराना।
  • विपरीत परिस्थितियों में स्वयं को सक्षम बनाने हेतु महिलाओं एवं लड़कियों को आत्‍मरक्षा की तकनीक एवं सिद्धांतों का प्रशिक्षण देना।
  • शैक्षणिक संस्थाओं में महिला सुरक्षा एवं संरक्षा मानदंडों का मूल्‍याकंन करना।

प्रमुख प्रावधान

  • प्रदेश के 1535 पुलिस थानों एवं तहसीलों में महिला डेस्क की स्थापना।
  • शीघ्र निपटान (Fast Track) अदालतों का गठन।
  • आने वाले कुछ वर्षों में मिशन शक्ति अभियान के तहत पुलिस में 20 प्रतिशत महिला पुलिस कर्मियों की भर्ती की जाएगी।
  • उत्तर प्रदेश पुलिस 112 एवं महिला सहायता केंद्र (Women Help Line) 1090 को भी कार्यवाही का अधिकार होगा।
  • सामाजिक संगठन, महिला संगठनों और जागरूक समाज सेवियों की समिति बनाकर रोल मॉडल का चयन किया जाएगा।
  • प्रत्‍येक जिले में 100 रोल माॅडल का चयन किया जाएगा।

मिशन शक्ति 2.0 
इस चरण के तहत फोकस बिंदु   

  • बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता
  • महिला अधिकारों, घरेलू हिंसा, बाल विवाह व कन्‍या भ्रूण हत्‍या जैसे मुद्दों पर जनजागरण।
  • यह चरण सामाजिक व्यवहार परिवर्तन संचार नारे के तहत संचालित किया गया।
  • दूसरे चरण का संचालन पांच अलग-अलग विषयों (Theme) के आधार पर किया गया।

ये विषय (Theme) हैं

  • बाल एवं महिला अधिकार व मनोसमाजिक परामर्श
  • कन्‍या भ्रूण हत्‍या
  • महिला तथा बच्‍चों की तस्करी
  • बलपूर्वक भिक्षावृित्त व बालश्रम
  • बाल विवाह व घरेलू हिंसा

वर्तमान परिप्रेक्ष्य  

  • 21 अगस्त, 2021 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ द्वारा मिशन शक्ति अभियान के तीसरे चरण 3.0 का शुभारंभ किया गया।
  • इस अवसर पर उत्तर प्रदेश की राज्‍यपाल आनंदी बेन पटेल एवं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की उपस्थित रही।

विवरण 

  • यह चरण 31 दिसंबर, 2021 तक चलेगा।
  • महिला ग्राम प्रधानों को मिशन शक्ति अभियान से जोड़ा गया।
  • प्रदेश के 59 हजार ग्राम पंचायत भवनों में एक कक्ष मिशन शक्ति कार्यक्रम के लिए निर्धारित किया गया है। इस कक्ष का नाम मिशन शक्ति कक्ष रखा गया है।
  • मुख्यमंत्री कन्‍या सुमंगला योजना के तहत 1 लाख 55 हजार लड़कियों 30.12 करोड़ रुपये प्रदान किए गए।
  • मुख्यमंत्री निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 29.68 लाख लाभर्थियों को 451 करोड़ रुपये आवंटित किए गए।
  • 1.73 लाख नए लाभार्थियों को निराश्रित महिला पेंशन योजना से जोड़ा गया।
  • एक लाख महिला स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया।
  • 1286 थानों में पिंक टॉयलेट की स्थापना व महिला बीट पुलिस की तैनाती का फैसला लिया गया।
  • मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत जल्‍द उत्तर प्रदेश में महिला बटालियन के 2982 पदों पर विशेष भर्ती शुरू की जाएगी।
  • संभाग (Divisional head quarter) मुख्यालय एवं गौतमबुद्धनगर में सुरक्षित शहर परियोजना (Safe City Project) का प्रारंभ किया जाएगा।
  • शहरी क्षेत्रों में महिला उपनिरीक्षकों की तैनाती की जाएगी।
  • सभी पुलिस लाइनों में शिशुगृह की स्थापना की जाएगी।
  • महिला महाविद्यालयों में स्वास्थ्य क्‍लबों का निर्माण किया जाएगा।
  • तीसरे चरण में मिशन शक्ति अभियान के प्रथम एवं द्वितीय चरण में उत्‍कृष्ट प्रदर्शन करने वाली 47 जिलों की 75 महिलाओं को सम्मानित किया गया।

संकलन - अशोक कुमार तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List