Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 03 2021

एस-500 (S-500) मिसाइल

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 20 जुलाई, 2021 को रूस ने अपने दक्षिणी प्रशिक्षण रेंज कपुस्टिन यार से अपनी नई एस-500 वायु रक्षा मिसाइल प्रणाली का सफल परीक्षण किया।
  • इसका विकास रूस की सरकारी कंपनी अल्माज-एंटी डिफेंस कंट्रेक्टर द्वारा किया गया है।
  • S-500 रक्षा प्रणाली काे प्रोमेथ्यूज (Prometheus) भी कहा जाता है। 55 R6M  या TRIUM-FATOR-M इसके अन्य नाम हैं।
  •  आधिकारिक घोषणा के अनुसार, इसके (S-500) सभी परीक्षण पूरे होने के बाद इसे माॅस्को की वायु रक्षा इकाई (Air Defence Unit) को सौंप दिया जाएगा।

S-500

  • इस रक्षा प्रणाली की मारक क्षमता 400-600 किमी. तक है।
  • यह दुनिया की सबसे उन्‍न्‍त एंटी मिसाइल प्रणाली है।
  • ह मिसाइल एवं लड़ाकू विमानों को अपना लक्ष्य बनाने में समर्थ है।
  • यह सतह से हवा में मार करने वाली दुनिया की सबसे उन्‍नत एंटी बैलिस्टिक मिसाइल प्रणाली है।
  • यह मिसाइल प्रणाली अंतरिक्ष से होने वाले हमलों का सामना करने में भी सक्षम है।

  • एस-500 मिसाइल (प्रणाली) को ए-135 (A-135) एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल प्रणाली की जगह तैनात किया जाएगा।

भारत -रूस के बीच 70000 रायफल खरीद का समझौता

  • 19 अगस्त, 2021 को 700000 एके (AK) 103 असॉल्ट रायफल के (उन्‍नत श्रेणी) खरीद के लिए भारत ने रूस के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किया।
  • इस रायफल की आपूर्ति भारत को नवंबर, 2021 से प्रारंभ  होगी।
  • यह रायफल भारत की इंसास रायफल का स्थान लेगी।

    संकलन-अशोक कुमार तिवारी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List