Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 01 2021

प्रधानमंत्री की बांग्लादेश यात्रा

वर्तमान परिप्रेक्ष्य 

  • बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26-27 मार्च‚ 2021 के दौरान बांग्लादेश की राजकीय यात्रा संपन्न की।
  • कोविड-19 महामारी के प्रकाश में आने के बाद से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है।
  • प्र्ाधानमंत्री की यह बांग्लादेश यात्रा तीन युगांतरकारी घटनाओं के स्मरणोत्सव के अवसर पर संपन्न हुई‚ जिनका विवरण निम्नवत है-

(i)    मुजीब बोरशो (बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान की जन्म शताब्दी)
(ii) भारत एवं बांग्लादेश के मध्य राजनयिक संबंधों की स्थापना के 50 वर्ष
(iii)    बांग्लादेश के स्वतंत्रता संग्राम (Liberation War) की 50वीं वर्षगांठ

  • उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व प्रधानमंत्री ने वर्ष 2015 में बांग्लादेश का दौरा किया था।

बांग्लादेश का राष्ट्रीय दिवस कार्यक्रम

  • 26 मार्च‚ 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश की स्वतंत्रता की स्वर्ण जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि (Guest of Honour) के रूप में शामिल हुए।
  • इस समारोह के दौरान बांग्लादेश के राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान की जन्मशती भी मनाई गई।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शेख मुजीबुर्रहमान को मरणोपरांत गांधी शांति पुरस्कार‚ 2020 से सम्मानित किया‚ जिसे उनकी पुत्रियों प्रधानमंत्री शेख हसीना एवं शेख रेहाना ने ग्रहण किया।
  • शेख रेहाना ने प्रधानमंत्री मोदी को ‘सर्वकालिक मुजीब स्मृति चिह्न’ (Eternal Mujib Memento) भेंट किया।
  • प्रधानमंत्री ने भारत में बांग्लादेशी युवाओं के अध्ययन के लिए 1000 ‘सुबर्णो जयंती छात्रवृत्ति’ प्रदान करने की घोषणा की।
  • बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस समारोह के अवसर पर प्रख्यात हिंदुस्तानी शास्त्रीय गायक पंडित अजय चक्रवर्ती ने बंगबंधु को समर्पित एक विशेष राग‚ ‘राग मैत्री’ की रचना की।

यात्रा के अन्य महत्वपूर्ण तथ्य

  • 27 मार्च‚ 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सतखीरा जिला स्थित ‘जेशोदेश्वरी काली मंदिर’ में पूजा-अर्चना की।
  • यह मंदिर पौराणिक परंपरा के 51 शक्तिपीठों में से एक है। 
  • तत्पश्चात प्रधानमंत्री ने तुंगीपाड़ा स्थित बंगबंधु समाधि परिसर की यात्रा की।
  • तुंगीपाड़ा में अपनी उपस्थिति दर्ज कर बंगबंधु को श्रद्धांजलि अर्पित करने वाले श्री मोदी पहले विदेशी शासनाध्यक्ष हैं।

प्रमुख निर्णय 

  • इस यात्रा के दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय में ‘बंगबंधु पीठ’ (Bangabandhu Chair) स्थापित करने का निर्णय लिया गया।
  • भारत द्वारा बांग्लादेश को औपचारिक रूप से मान्यता प्रदान करने की तिथि ‘6 दिसंबर’ को ‘मैत्री दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया।
  • बांग्लादेश के स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए भारतीय सैनिकों के सम्मान में आशुगंज (बांग्लादेश) में एक ‘युद्ध स्मारक’ (War memorial) की स्थापना का निर्णय लिया गया।
  • बांग्लादेश की स्वतंत्रता के साथ-साथ द्विपक्षीय राजनयिक संबंधों की स्थापना की 50वीं वर्षगांठ के मद्देनजर दोनों पक्ष 19 चुनिंदा देशों में इस संबंध में कार्यक्रमों के आयोजन पर सहमत हुए।
  • दोनों पक्ष न्यू जलपाईगुड़ी (पश्चिम बंगाल) एवं ढाका के मध्य ‘मिताली एक्सपे्रस’ (Mitali Express) नामक एक नई यात्री ट्रेन सेवा को आरंभ करने पर सहमत हुए।
  • यह ट्रेन दिसंबर‚ 2020 में पुन: बहाल किए गए हल्दीबाड़ी (भारत)- चिल्हाटी (बांग्लादेश) रेल-संपर्क (Rail-link) से होकर गुजरेगी।
  • उल्लेखनीय है कि उत्तरी बांग्लादेश को उत्तरी बंगाल (राज्य : पश्चिम बंगाल) से जोड़ने वाले इस महत्वपूर्ण रेल-संपर्क का परिचालन वर्ष 1965 में बंद कर दिया गया था।
  • दोनों पक्षों द्वारा मुजीबनगर (बांग्लादेश) एवं नादिया (पश्चिम बंगाल) के मध्य ऐतिहासिक सड़क को जोड़ने एवं उसका नामकरण ‘शधिनोता शोरोक’ (Shadhinota Shorok) करने की घोषणा की गई।

समझौता/समझौता-ज्ञापन (MoU)

  • सद्य: यात्रा के दौरान निम्नलिखित द्विपक्षीय दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए गए -
  1. आपदा प्रबंधन‚ पुनर्निर्माण एवं शमन के क्षेत्र में सहयोग पर एमओयू।
  2. बांग्लादेश नेशनल्ा कैडेट कोर (BNCC) एवं भारत के राष्ट्रीय कैडेट कोर (INCC) के मध्य एमओयू।
  3. बांग्लादेश एवं भारत के मध्य कारोबार से संबंधित उपायों के क्षेत्र में सहयोग की रूपरेखा तय करने पर एमओयू।
  4. ‘बांग्लादेश-भरोट डिजिटल सेवा और रोजगार प्रशिक्षण केंद्र’ के लि्ाए ICT उपकरणों‚ कोर्सवेयर एवं संदर्भ पुस्तकों की आपूर्ति तथा प्रशिक्षण पर त्रिपक्षीय एमओयू।
  5. राजशाही कॉलेज मैदान (बांग्लादेश) और निकटवर्ती क्षेत्रों में खेल सुविधाओं व्ाâी स्थाप्ाना हेतु ित्रपक्षीय एमओयू।
     

Comments
List view
Grid view

Current News List