Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 31 2021

ई-श्रम पोर्टल

वर्तमन परिदृश्य

  • 26 अगस्त, 2021 को केंद्र सरकार ‘ई-श्रम पोर्टल  लांच किया। 
  • असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डेटाबेस, ई-श्रम पोर्टल में संग्रहित रहेगा।

पृष्ठभूमि

  • पूर्व में अंतरराज्यीय प्रवासी कामगर अधिनियम, 1979 और असंगठित श्रमिक सामाजिक सुरक्षा अधिनियम, 2008 के प्रावधानों के तहत समान राष्ट्रीय डेटाबेस बनाने के प्रयास असफल रहे थे।
  • नई सामाजिक सुरक्षा संहिता जब अधिसूचित तो उसके तहत श्रमिक विभिन्‍न योजनाओं के लिए पात्र होंगे।
  • सरकार पहले डेटाबेस बनाने की समय सीमा से चूक गई थी, जिसके कारण सुप्रीम कोर्ट की आलोचना झेलनी पड़ी थी।
  • महत्वपूर्ण बिंदु
  • सरकार का लक्ष्य 38 करोड़ असंगठित कामगारों को पंजीकृत करना है, जैसे कि निर्माण मजदूर, प्रवासी कार्यबल, रेहड़ी-पटरी वाले और घरेलू कामगर, आदि।
  • जो आगे जाकर उन्हें सामाजिक सुरक्षा योजनाओं में शामिल करने में मदद करेगा।
  • श्रमिकों को 12 अंकों की विशिष्ट संख्या वाला ई-श्रम कार्ड जारी किया जाएगा।
  • पोर्टल पर श्रमिकों के  पंजीकरण का समन्‍वय श्रम मंत्रालय, राज्य सरकारों, ट्रेड यूनियनों और सीएससी द्वारा किया जाएगा।
  • एक श्रमिक जन्म तिथि, गृह नगर, मोबाइल नंबर और सामाजिक श्रेणी जैसे अन्य आवश्यक विवरण भरने के अलावा, अपने आधार कार्ड नंबर और बैंक खाते के विवरण का उपयोग करके पोर्टल पर पंजीकरण कर सकता है।
  • श्रमिक जरूरत पड़ने पर देश के 4 लाख से अधिक सामान्य सेवा केंद्रो में से किसी के माध्यम से पोर्टल पर पंजीकरण कर सकेंगे।
  • श्रमिकों के राष्ट्रव्यापी पंजीकरण को सक्षम करने के लिए देश भर में जागरूकता अभियानों की योजना बनाई जाएगी।
  • एक टोल फ्री नंबर 14434 भी शुरू हो गया, जो रजिस्टर्ड हो गया था।
  • ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने वाले सभी श्रमिकों को मृत्यु या स्थायी विकलांगता की स्थिति में 2 लाख रुपये और आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख रुपये का बीमा आवरण प्राप्त होगा।
  • इंडियन फेडरेशन ऑफ ऐप बेस्ट ट्रांसपोर्ट वर्कर्स (आईएफटी) ने केंद्र सरकार से ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए ऐप-आधारित कैब सेवा कंपनियों के गिग वर्कर्स और ड्राइवरों के लिए सरल मानदंड पेश करने को कहा गया है।

संकलन-मनीष प्रियदर्शी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List