Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 18 2021

वैश्विक युवा विकास सूचकांक 2020

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • लंदन स्थित राष्ट्रमंडल सचिवालय ने 10 अगस्त को वैश्विक युवा विकास सूचकांक (YDI)2020 रैकिंग जारी की।
  • यह सूचकांक 181 देशों के युवाओं के विकास की प्रगति को 6 कारकों के आधार पर मापता है।
  • इस रैकिंग में भारत को 181 देशों में 122वां स्थान प्राप्‍त हुआ है।

इसके आयाम

  • यह रैंकिंग 6 कारकों (2010-2018 की अवधि में) के 27 संकेतकों पर आधारित है-

मुख्य बिंदु

  • शांति और सुरक्षा तथा समानता एवं समावेश को वैश्विक युवा सूचकांक 2020 में पहली बार शामिल किया गया है।
  • यह सूचकांक 0.00 (निम्नतम) और 1.00 (उच्‍चतम) स्कोर के बीच में देशों को श्रेणी प्रदान करता है।
  • यह सूचकांक 15 से 29 वर्ष की आयु के बीच दुनिया 180 करोड़ लोगों की स्थिति को प्रदर्शित करता है।
  • युवा विकास के मानक

प्रमुख निष्कर्ष

  • इस रैंकिंग में सिंगापुर पहले स्थान (पहली बार) पर है जहां युवाओं का विकास सर्वाधिक हुआ है। उसके बाद स्लोवेनिया का स्थान है।
  • जबकि इस सूचकांक के अनुसार युवा का सर्वाधिक कम विकास क्रमश: चाड, मध्य अफ्रीकी गणराज्‍य एवं अफगानिस्तान और दक्षिणी सूडान में देखा गया है।
  • 10 शीर्ष देश

  • 5 निम्नतम रैंक वाले देश

  • 2010-2018 की अवधि के बीच वैश्विक औसत युवा विकास (YDI) स्कोर में 3.1 प्रतिशत का सुधार हुआ है।
  • 6 कारकों (चार्ट में उल्‍लिखित) में से 5 में औसतन सुधार हुआ है।
  • राजनीतिक एवं नागरिक भागीदारी में 0.18 प्रतिशत की कमी आई है यह एक मात्र नकारात्‍मक प्रवृत्ति दर्शाने वाला कारक है।
  • साथ ही उपर्युक्‍त अवधि में 181 देशों में से 156 देशों में सुधार देखा गया है।
  • स्वास्थ्य और कल्‍याण में 4.39 प्रतिशत (सबसे ज्‍यादा) सुधार हुआ है।
  • 2010-2018 के बीच अपनी स्थिति में सुधार करने वाले देश हैं- अफगानिस्तान, भारत रूस, इथियोपिया और बुर्किना फासो।
    • इन देशों के औसत स्कोर में 15.74 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।
  • सूची में सर्वाधिक गिरावट सीरिया, यूक्रेन लीबिया, यमन और जार्डन में देखी गई।
    • इनके औसत स्कोर में 10.28 प्रतिशत की औसत कमी देखी गई।
  • शांति और सुरक्षा में 3.41 प्रतिशत प्रतिशत का सुधार हुआ जिसके परिणामस्वरूप कम युवा प्रत्‍यक्ष रूप से हिंसा से प्रभावित हुए।
  • सोमालिया को शांति एवं सुरक्षा में सबसे ज्‍यादा लाभ प्राप्‍त हुआ। इसके बाद कोलंबिया, श्रीलंका इरीट्रिया और रूस का स्थान रहा।
  • नौ वैश्विक क्षेत्रों में से आठ क्षेत्रों के YDI में औसतन सुधार देखा गया है।

दक्षिण एशिया

  • दक्षिण एशिया ने युवा विकास स्तर में औसतन 9.5 प्रतिशत का विश्व में सबसे बड़ा सुधार किया।
  • इसके बाद उप-सहारा (अफ्रीका) क्षेत्र, रूस और यूरेशिया एवं दक्षिण अमेरिका का स्थान है।
  • वैश्विक शिक्षा स्कोर में 3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। जिसमें दक्षिण एशिया ने 16 प्रतिशत की वृद्धि की है।
  • इसके बाद उप-सहारा क्षेत्र में 10 प्रतिशत की वृद्धि (शिक्षा) दर्ज की गई।

भारत के संदर्भ में

  • भारत को 181 देशों में 122वाँ स्थान प्राप्‍त हुआ।
  • वर्ष 2016 में, 183 देशों में भारत की 133वीं रैंक थी।
  • शिक्षा में भारत की रैंकिंग 119 है जबकि रोजगार एवं अवसर में 139 है।
  • समानता एवं समावेशन के स्तर पर भारत को 172वां रैंक YDI में दिया गया है।

  • 2010-2018 के बीच स्थिति में सुधार करने वाले पांच शीर्ष देशों में भारत भी शामिल है।
  • भारत ने 18.8 प्रतिशत का सुधार किया है जो कि अफगानिस्तान (19.9%) के बाद सबसे ज्‍यादा है।
  • शांति एवं सुरक्षा के मानक में सुधार के मामले में भारत दक्षिण एशिया में अफगानिस्तान के बाद दूसरा सबसे बड़ा सुधारकर्ता देश है।

राष्ट्रीय युवा नीति: 2014

  • 9 जनवरी 2014 को इस राष्ट्रीय युवा नीति को 2003 के युवा नीति के स्थान पर मंजूरी प्रदान की गई थी।

उद्देश्य

  • राष्ट्रीय युवा नीति 2014 का लक्ष्य देश के युवाओं को उनकी पूरी क्षमता प्राप्‍त करने हेतु सशक्‍त बनाना और उनके माध्यम से भारत को वैश्विक समुदाय में अपना सही स्थान प्राप्‍त करने में सक्षम बनाना है।
  • इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए नीति में पांच भली भांति परिभाषित उद्देश्यों और प्राथमिकता वाले 11 क्षेत्रों (शिक्षा, रोजगार एवं कौशल विकास, उद्यमिता, स्वास्थ्य एवं स्वस्थ जीवन शैली, खेल, सामाजिक मूल्‍यों को बढ़ावा देना, सामुदायिक सहभागिता, राजनीति एवं शासन में भागीदारी, युवा सहभागिता, समावेशन एवं सामाजिक न्‍याय) की पहचान की गई है।
  • यह नीति 15 से 29 वर्ष अायु वर्ग के सभी युवाओं की जरूरतें पूरी करेगी जो 2011 की जनगणना के अनुसार कुल आबादी का 27.5 प्रतिशत और संख्या में लगभग 33 करोड़ है।
  • भारत दुनिया का सबसे अधिक युवा आबादी वाला देश है और भविष्य में उसे इस नीति का लाभ मिलेगा।

सं. अशोक कुमार तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List