Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 02 2021

दुनिया का सबसे बड़ा हिमखंड अंटार्कटिका से टूटकर अलग

वर्तमान परिदृश्य

  • अभी हाल ही में दुनिया का सबसे बड़ा आइसवर्ग (हिमखंड) A-76 अंटार्कटिका से टूटकर अलग हो गया। यह हिमखंड 4320 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • अंटार्कटिका से टूटकर अलग हुआ हिमखंड A-76 बेडेल सागर में स्थित ‘रान आइससेल्‍फ ’ से अलग हुआ है।
  • हिमखंड के टूटने के बारे में जानकारी सर्वप्रथम यूरोपीयन स्पेस एजेंसी ने अपने सैटेलाइट के माध्यम से प्राप्‍त सूचना के आधार पर दी।
  • यूरोपियन स्पेस एजेंसी के मुताबिक इस इलाके के समुद्री जल का तापमान लगातार बढ़ रहा है, जिसकी वजह से अंटार्कटिका का पश्चिमी इलाका बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।
  • इस कारण अंटार्कटिका के बड़े ग्‍लैशियर जैसे थ्वाइट्स ग्‍लैशियर के टूटकर समुद्र मंे गिरने की सम्भावना है।

समुद्र जल स्तर पर प्रभाव

  • अभी A-76 हिमखंड समुद्र में तैर रहा हैं, इस कारण समुद्र जल स्तर बढ़ने की आशंका फिलहाल नहीं है।
  • हालांकि वैज्ञानिकों ने गर्म होते अंटार्कटिका को लेकर चेतावनी जरूर दी है।
  • वैज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी के अन्य हिस्सों की तुलना में अंटार्कटिका का जल स्तर 1880 के बाद से करीब 10 इंच तक बढ़ा है।
  • ध्यातव्य है कि वर्ष 2020 में A-68 a हिमखंड के साउथ जार्जिया द्वीप से टकराने के पश्चात उसके आस-पास मिलने वाले जीवों के लिए खतरा उत्पन्‍न हो गया था। परंतु वर्ष 2021 में यह पिघल गया।

कैसे रखा जाता है हिमखंड का नाम

  • हिमखंड का नाम इस आधार पर तय होता है कि उसे पहली बार कब और कहां देखा गया है।
  • अटार्कटिका को चार हिस्सों में बांटा गया है, इसके एक-एक हिस्से का नाम A,B,C और D है।
  • प्रत्येक हिस्से में मिलने वाले हिमखंड को एक संख्या दी जाती है।
  • इस प्रकार A-76 को अमेरिकी नेशनल आइस संेटर ने सबसे पहले वेडेल सागर में देखा । यह यहाँ का 76 वां हिमखंड था।

संकलन- अरविंद कुमार पाण्डेय


Comments
List view
Grid view

Current News List