Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 31 2021

ग्‍लोबल स्किल्‍स रिपोर्ट, 2021

वर्तमान संदर्भ

  • 09 जून, 2021को कौरसेरा (coursera) द्वारा अपनी तीसरी वार्षिक ग्‍लोबल स्किल्‍स रिपोर्ट, 2021 जारी की गई।
  • ग्‍लोबल स्किल्‍स रिपोर्ट, 2021 की ओवरआल रैकिंग में स्विटजरलैंड प्रथम स्थान पर एवं भारत 67वें स्थान पर है।

रिपोर्ट के बारे में-

  • ग्‍लोबल स्किल्‍स रिपाेर्ट, 2021 में स्विटजरलैंड के बाद द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर क्रमश: लक्‍समबर्ग और ऑस्ट्रिया है।
  • वर्ष 2018-2019 में महिलाओं के कोर्सेस में भागीदारी 31 प्रतिशत से बढ़कर वर्ष 2020 में 38 प्रतिशत हो गयी है। साथ ही इसी समय अंतराल में महिलाओं की समग्र कोर्सेस में भागीदारी 38 प्रतिशत से बढ़कर 45 प्रतिशत हो गई है।
  • बहुत से देशों में डिजिटल डिवाइड की गंभीरता व्याप्‍त है। वर्ष 2019 के अध्ययन के अनुसार विकसित देशों में इंटरनेट तक पहुंच 87 प्रतिशत लोगों तक, विकासशील देशों में 47 प्रतिशत तथा सबसे कम विकसित देश 19 प्रतिशत ही है।
  • महामारी के दौरान इनरोलमेंट में बेरोजगार अधिगमकर्ताओं की संख्या में इजाफा हुआ है। वर्ष 2018 और 2019 में बेरोजगार अधिगमकर्ताओं की कोर्सेस में भागीदारी 10 प्रतिशत थी जो वर्ष 2020 में बढ़कर 17 प्रतिशत हो गई है।
  • ओवर आॅल कोर्स इनरॉलमेंट में इनकी भागीदारी वर्ष 2018 एवं 2019 में 9 प्रतिशत से बढ़कर वर्ष 2020 में 14 प्रतिशत हो गई है।

(2) एशिया-पैसेफिक परिदृश्य-

  • एशिया पैसेफिक क्षेत्र में जापान प्रथम स्थान पर है तथा इसकी ओवरआल वैश्विक रैंकिंग चौथी (4th) है।
  • भारत, एशिया-पैसेफिक क्षेत्र में फिलिपीन्‍स एवं थाईलैंड से आगे है, परंतु जापान एवं सिंगापुर जैसे देशों से पीछे 16वें स्थान पर है।

(3) भारतीय परिदृश्य-

  • भारत, ग्‍लोबल स्किल्‍स रिपोर्ट, 2021 में मध्यम श्रेणी में 38% दक्षता (Proficiency) के साथ समग्ररूप से 67वें स्थान पर है।
  • भारत बिजनेस श्रेणी में 55वें तथा टेक्‍नोलॉजी एवं डेटा साइंस दोनों श्रेणियों में 66वें स्थान पर है।
  • ग्‍लोबल स्किल्‍स रिपोर्ट, 2021 के अनुसार भारत से संबंधित प्रमुख निष्कर्ष निम्नलिखित है-

(i) भारतीय अधिगमकर्त्ताओं (Leanners) में डिजिटल स्किल जैसे- क्‍लाउड कंप्‍यूटिंग (83%), मशीन लर्निंग (52%) तथा गणितीय कौशल (52%) में उच्‍च दक्षता है, परंतु भारत को अपने डिजिटल स्किल में सुधार की आवश्यकता है, क्‍योंकि डेटा एनालिसिस और स्टैटिस्टिकल (statistical) प्रोग्रामिंग में कौशल दक्षता क्रमश: 25% तथा 15% ही है।
(iii) भारतीय महिलाओं द्वारा सीखने के लिए ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्मों का उपयोग तेजी से बढ़ा है। इनकी कौरसेरा कोर्सेस तथा S.T.E.M. (विज्ञान, तकनीक, इंजीनियरिंग एवं गणित) कोर्सेस में नामांकन के कारण वैश्विक स्तर पर भागीदारी दूसरे स्थान पर पहुंच गई है।
(iv) भारतीय कार्यबल का केवल 12 प्रतिशत ही डिजिटल रूप से कौशलयुक्‍त है। रिपोर्ट के अनुसार, इसमें वर्ष 2025 तक 9 गुना वृद्धि की उम्मीद की गई है।

भारत में ट्रेंडिंग स्किल-

 

निष्कर्ष-

रिपोर्ट के अनुसार, भविष्य की नौकरियों में प्राब्लम सॉल्‍विंग, कम्यूनिकशेन, कंप्‍यूटर लिटरेसी एवं कैरियर मैनेजमेंट जैसे कौशलों की आवश्यकता होगी। भारत को इन सभी कौशलों पर ध्यान देने के साथ-साथ डिजिटल गैप को कम करने एवं डेटा साइंस तथा डेटा एनालिसिस जैसे कौशलों में सुधार की आवश्यकता है।

सं अभिषेक कुमार


Comments
List view
Grid view

Current News List