Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 29 2021

वन क्षेत्रों का लीडार (Lidar) सर्वेक्षण

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 25 जून, 2021 को दस राज्यों में वन क्षेत्रों के लीडार (Light Detection and Ranging: LIDAR) आधारित सर्वेक्षण की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (Detailed Project Reports: DPRS) जारी की गई।
  • यह सर्वेक्षण पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (Ministry of Environment, Forest And Climate Change) द्वारा संचालित किया गया है।
  • ये दस राज्य है-

प्रमुख बिंदु

  • इस परियोजना के कार्यान्वयन का दायित्व वापकोस (WAPCOS) लिमिटेड को सौंपा गया था।
  • वापकोस (जल एवं विद्युत परामर्श सेवाएं) जल शक्ति मंत्रालय के तहत सार्वजनिक क्षेत्र का एक मिनी रत्न उपक्रम (Public Sector Undertaking : PSU) है।
  • यह लाइट डिटेक्शन एंड रेंजिंग (LIDAR) तकनीक के उपयोग पर आधारित अपने तरह का प्रथम और एक विशिष्ट प्रयोग है।
  • राज्यों को इस परियोजना मंे उपयोग करने के लिए क्षतिपूरक वनीकरण काेष प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण (Compensatory Afforestation Fund Management and Planning Authority: CAMPA) द्वारा निधि प्रदान की जाएगी।
  • CAMPA कोष की स्थापना वर्ष 2006 में क्षतिपूरक वनीकरण के प्रबंधन के लिए की गई थी।
  • इसका मुख्य ध्येय वन क्षेत्रों में होने वाली कमी के बदले प्राप्त राशि का संधारण और वनीकरण में उसका फिर से निवेश करना है।

महत्व

  • जल एवं चारे की उपलब्धता सुनिश्चित करना, जिससे मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाओं को कम किया जा सके ।
  • यह वर्षा जल संचरण में मदद करेगा एवं उसके बहाव को रोकेगा, जिससे भूजल पुनर्भरण (Ground Water Rechange) में मदद मिलेगी।
  • यह विभिन्न प्रकार की मिट्टी और जल संरक्षण संरचनाओं की सिफारिश करने में मदद करेगा।

संकलन-आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List