Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 29 2021

आकाश-एनजी मिसाइल का सफल परीक्षण

वर्तमान संदर्भ

  • रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने दिनांक 21 जुलाई, 2021 को ओडिशा के तट के करीब एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) से सतह-से-हवा में मार करने वाली नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।
  • ध्यातव्य है कि जनवरी, 2021 में आकाश-एनजी मिसाइल का प्रथम सफल परीक्षण किया गया था।
  • यह परीक्षण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO), भारत डायनामिक्स लिमिटेड (BDL) तथा भारत इलेक्ट्राॅनिक्स लिमिटेड (BEL) के संयुक्त दल द्वारा भारतीय वायु सेना के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किया गया।

पृष्ठभूमि

  • आकाश-एनजी (नई पीढ़ी) मिसाइल के विकास की अनुमति सितंबर, 2016 में प्रदान की गई थी।
  • इस मिसाइल को परंपरागत आकाश मिसाइल एवं आकाश-1S मिसाइल का स्थान लेने के लिए विकसित किया जाना था।

आकाश-एनजी (नई पीढ़ी ) मिसाइल

  • यह मिसाइल आकाश और आकाश-1s श्रृंखला की मिसाइल है।
  • इसमें दोहरे पल्स सॉलिड राॅकेट मोटर, एक कनस्तरकृत लांचर और एक AESA (Active Electronically Scannad Array) बहुकार्यात्मक लक्ष्यीकरण रडार लगे हैं।
  • इस सुधार से छोटे जमीनी संचालन के साथ प्रक्षेपास्र की मारक क्षमता में सुधार होगा।
  • यह सतह-से-वायु में मार करने वाली नई पीढ़ी की मिसाइल है।
  • जहां परंपरागत आकाश मिसाइल का वजन लगभग 720 किग्रा. है, वहीं नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल का वजन मात्र 350 किग्रा. है।
  • आकाश-एनजी मिसाइल की एक प्रमुख विशेषता इसमें संलग्‍न अत्याधुनिक रॉकेट मोटर हैं।
  • जहां परंपरागत आकाश मिसाइल पुरानी रेमजेट मोटर से लैस है, वहीं आकाश-एनजी मिसाइल में द्वि-पल्स ठोस रॉकेट मोटर लगी हुई है।
  • आकाश-एनजी मिसाइल पूर्व के 40 किमी. से आगे 80 किमी. दूर तक स्थित शत्रु के लड़ाकू विमानों को चिह्नित कर लेती है।
  • जब शत्रु का लड़ाकू विमान 50 किमी. की दूरी पर होता है, तो आकाश-एनजी मिसाइल को लांच कर दिया जाता है, जो मात्र एक मिनट की अवधि में 30 किमी. की दूरी तय कर लक्ष्य को ध्वस्त कर देती है।

आकाश मिसाइल

  • DRDO द्वारा 96 प्रतिशत देशीकृत साधन से अभिकल्पित और विकसित आकाश अस्त्र प्रणाली BDL के हैदराबाद इकाई द्वारा विनिर्मित की जा रही है।
  • आकाश .िमसाइल अधिकतम 25 किमी. की दूरी और 18 किमी. की ऊंचाई तक हवाई खतरे को मारने की क्षमता रखती है।
  • यह 1.8-2.5 मैक की गति से उड़ान भरने में सक्षम है।
  • दिसंबर, 2020 में केंद्र सरकार ने आकाश मिसाइल प्रणाली के निर्यात को अनुमति प्रदान की तथा निर्यात की अनुमोदन प्रक्रिया में तेजी लाने के उद्देश्य से एक समिति का गठन किया।
  • आकाश मिसाइल का निर्यात किया जाने वाला संस्करण वर्तमान में भारतीय सशस्र सेनाओं में तैनात संस्करण से भिन्‍न होगा।
  • ज्ञातव्य है कि आकाश मिसाइल को वर्ष 2014 में भारतीय वायु सेना में तथा वर्ष 2015 में भारतीय थल सेना में शामिल किया गया था।

आकाश मिसाइल के अन्य प्रारूप

 

संकलन-मनीष प्रियदर्शी

 


Comments
List view
Grid view

Current News List