Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 29 2021

मैन पोर्टेबल एंटीटैंक गाइडेड मिसाइल (एमपी-एटीजीएम)

वर्तमान संदर्भ

  • 21 जुलाई, 2021 को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने स्वदेशी रूप से विकसित कम वजन वाली, दागो और भूल जाओ (Fire & Forget ), मैन पोर्टेबल एंटीटैंक गाइडेड मिसाइल (एमपी-एटीजीएम) का सफल परीक्षण किया।
  • मिसाइल को एक मैन पोर्टेबल थर्मल साइट के साथ एकीकृत कर प्रक्षेपित किया गया था और लक्ष्य एक टैंक को बनाया गया था।
  • इस परीक्षण ने न्यूनतम रेंज को सफलतापूर्वक सत्यापित किया।

विशेषता

  • एमपी-एजीजीएम एक कम वजनी (15 किग्रा. से कम), फायर एंड फॉरगेट प्रणाली की मिसाइल है।
  • इसकी रेंज 2.5 किमी. है।
  • यह एक उन्‍नत इमे Aजिंग इन्फ्रारेड सेंसर (IIR) सेंसर और एकीकृत एविमोनिक्स से युक्त है, जो क्रमश : लक्ष्य की पहचान करने एवं मिसाइल को दिशा निर्देशित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • यह थल सेना को ताकत प्रदान करेगी।
  • डीआरडीओ तथा ‘वीइएम टेक्‍नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने मिलकर इसका निर्माण किया है।
  • स्वदेशी होने के कारण आत्मनिर्भर भारत के लिए बड़ा प्रोत्साहन है।

भारत के महत्वपूर्ण एंटीटैंक प्रक्षेपास्र

  • नाग (एनएजी) एक तीसरी पीढ़ी की मिसाइल है और दुश्मन के भारी भरकम टैंकों से मुकाबला करने के लिए यांत्रीकृत संरचनाओं के लिए मिसाइल है।
  • हेलिना, हेलिकॉप्टर से छोड़ी जाने वाली एंटी टैंक मिसाइल तीसरी पीढ़ी की मिसाइल है और इसकी रेंज 7 किलोमीटर की है। यह मिसाइल उन्‍नत लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच) के हथियार वाले संस्करण पर एकीकरण के लिए विकसित की गई है।
  • एमपीएटीजीटीजीएम एक मैन पोर्टेबल एंटीटैंक गाइडेड मिसाइल है, जिसकी रेंज 2.5 किलोमीटर है और पैदल सेना के उपयोग के लिए बड़े हमले की क्षमता है।
  • SANT एक स्मार्ट स्टैंड ऑफ एंटी -टैंक मिसाइल है, जिसे वायु सेना के एंटीटैंक ऑपरेशन के लिए एमआई-35 हेलीकाॅप्टर से लांच करने के लिए विकसित किया जा रहा है।
  • एमबीटी अर्जुन के लिए एटीजीएम एक लेजर गाइडेड पीजीएम (प्रिसिजन गाइडेड) है, जो विस्फोटक रिएक्टिव कवच (ईआरए) संरक्षित बख्तरबंद लक्ष्यों को से मुकाबला करने और हराने के टैंक की 120 मिलीमीटर राइफल वाली बंदूक से लांच किया जाता है।

संकलन-मनीष प्रियदर्शी


Comments
List view
Grid view

Current News List