Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 19 2021

E9 पहल (E9 Initiative)

वर्तमान संदर्भ-

  • 6 अप्रैल 2021 को E9 देशों के शिक्षा मंत्रियों की एक परामर्श बैठक हुई, जिसमें भारत के शिक्षा राज्‍य मंत्री संजय धोत्रे ने भारत का प्रतिनिधित्‍व किया।
  • यह बैठक शिक्षा से संबंधित सतत विकास लक्ष्य संख्या-4 (SDG-4) की प्रगति में तेजी लाने के लिए डिजिटल लर्निंग को बढ़ावा देने से संबंधित विषय पर आयोजित की गई थी। थीम: ‘E9 इनिशिएटिव: स्केलिंग अप डिजिटल लर्निंग टू एक्‍सेलरेट प्रोग्रेस टुवर्ड्स SDG4 (सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल-4)’’

महत्‍वपूर्ण बिंदु

(1) इस बैठक के दौरान शिक्षा मंत्रियों द्वारा सीमांत बच्‍चों एवं युवाओं को लक्षित कर डिजिटल शिक्षण एवं कौशल पर एक पहल शुरू की गई।

  • यह पहल मुख्य रूप से वर्ष 2020 में हुई वैश्विक शिक्षा बैठक (World Education Meeting-GEM) की पांच प्राथमिकताओं में से तीन प्राथमिकताओं को गति देगी-

(i) शिक्षकों का सहयोग
(ii) कौशल में निवेश
(iii) डिजिटल विभाजन को कम करना।

(2) परामर्श बैठक के दौरान, शिक्षा राज्‍य मंत्री संजय धोत्रे ने डिजिटल लर्निंग को बढ़वा देने के लिए भारत द्वारा किए गए प्रयासों पर प्रकाश डाला-

(i) भारत सरकार टीचिंग और लर्निंग का समर्थन करने के लिए ‘‘डिजिटल पहल’’ दृष्टिकोण को क्रियान्‍वित करने के लिए ‘‘राष्ट्रीय डिजिटल शिक्षा वास्तुकला’’ स्थापित करने की योजना पर कार्य कर रही है।

(3) बैठक में चर्चा के बिंदु –

(i) सदस्यों ने सार्वजनिक-निजी भागीदारी के लिए एक मार्केट प्‍लेस सेगमेंट, स्थानीय पारिस्थितिकी प्रणालियों को मजबूत करने के लिए स्थानीय और वैश्विक समाधानों एवं डिजिटल लर्निंग के अवसरों पर ध्यान केंद्रित करने पर चर्चा की।
(ii) इसके अलावा, सदस्यों ने प्रगति, साझा पाठ और सहयोग के अवसरों का पता लगाने के साथ-साथ डिजिटल लर्निंग और कौशल के विस्तार के तरीकों पर भी चर्चा की।

(4) वैश्विक शिक्षा बैठक घोषणा-2020

  • वर्ष 2020 में वैश्विक शिक्षा बैठक (GEM) में हुई घोषणा में सतत विकास लक्ष्य-4 (SDG-4) की प्रगति में तेजी लाने के लिए और कोविड-19 महामारी से उत्‍पन्‍न परिस्थितियों का सामना करने के लिए तत्‍काल कार्रवाई हेतु पांच प्राथमिकताओं को चिह्नित किया गया-

(i) शिक्षा का वित्‍त पोषण
(ii) स्कूलों को पुन: खोलना
(iii) सहायक शिक्षकों को अग्रिम पंक्‍ति में खड़ा करना
(iv) कौशल में निवेश करना
(v) डिजिटल विभाजन को कम करना

  • कोविड-19 रूपी वैश्विक संकट ने पूरे विश्व की वर्तमान शिक्षा प्रणालियों और उनमें व्याप्‍त असमानता को उजागर किया।
  • लगभग सभी देशों में बड़े पैमाने पर स्कूल बंद होने से डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा मिला है, परंतु डिजिटल विभाजन की वजह से शिक्षा सभी तक पहुंच नहीं पा रही है और साथ ही शिक्षा की गुणवत्‍ता भी प्रभावित हुई है।
  • एक सरकारी सर्वे के अनुसार 1.5 मिलियन से ज्‍यादा स्कूल बंद हुए हैं।
  • डिजिटल शिक्षा में बाधा का मुख्य कारण इंटरनेट एवं स्मार्ट फोन की अनुपलब्धता है। शहरों में जहां 25 प्रतिशत परिवार इंटरनेट तक पहुंच रखते हैं वहीं गांव में यह 15 प्रतिशत ही है।

(5) E9 पहल-

  • E9 नौ देशों का एक मंच है, जिसकी स्थापना वर्ष 1993 में की गई थी, जिसका गठन यूनेस्को की ‘‘सभी के लिए शिक्षा (Education for All)’’ पहल हेतु किया गया था।
  • E9 में ‘E’ का अर्थ ‘Education’ है और ‘9’ नौ सदस्य देशों की संख्या को इंगित करता है। 
  • E9 पहल के सदस्य देश निम्नलिखित है-

  • ये देश दुनिया की आधी आबादी का प्रतिनिधित्‍व करते हैं और साथ ही दुनिया के 70 % साक्षर वयस्क इन देशों से हैं।
  • E9 पहल को वर्ष 1993 में नई दिल्‍ली में ईएफए (EFA Summit) शिखर सम्मेलन में शुरू किया गया था।
  • E9 पहल, देशों के लिए सर्वोत्‍तम प्रथाओं के आदान-प्रदान तथा शिक्षा आदि से संबंधित अपने अनुभवों पर विचार-विमर्श का एक मंच बन गया है।
  • E9 पहल में शामिल सभी 9 देश विकासशील देशों की श्रेणी में आते हैं।
  • वर्ष 1993 में, E9 देशों का विश्व GDP में केवल 5 % हिस्सा था, जबकि वर्तमान में इसकी हिस्सेदारी विश्व GDP का 30 प्रतिशत है।
  • E9 देश ‘‘SDG-4 शिक्षा 2030’’ को प्राप्‍त करने के लिए काम कर रहे हैं।

(6) सभी के लिए शिक्षा (Education for All)

  • वर्ष 1990 में यूनेस्को, UNDP, UNFPA (United Nations Population Fund-UNFPA), यूनिसेफ और विश्व बैंक द्वारा, थाईलैंड में ‘‘शिक्षा के लिए अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन’’ के अवसर पर शुरू की गई एक वैश्विक पहल है।
  • इस दौरान ‘‘सीखने की विस्तारित दृष्टि’’ (Expanded Vision of Learning) का समर्थन किया गया और साथ ही प्राथमिक शिक्षा को व्यापक बनाने एवं दशक के अंत तक निरक्षरता को कम करने का संकल्‍प लिया गया।
  • वर्ष 2000 में सेनेगल के डार्कर में कई देशों के साथ राष्ट्रीय सरकारों, नागरिक समाज समूहों और विकास एजेंसियों के एक व्यापक गठबंधन ने मिलकर वर्ष 2015 तक EFA (Education for All) लक्ष्य को प्राप्‍त करने की प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि की।
  • इस दौरान 6 प्रमुख शिक्षा लक्ष्यों की पहचान की गई, जिनका लक्ष्य वर्ष 2015 तक सभी बच्‍चों, युवाओं और वयस्कों की सीखने की जरूरत को पूरा करना है। (जैसे-डार्कर फ्रेमवर्क-2000)।
  • इस पहल को अप्रैल 2000 में डार्कर फ्रेमवर्क (Darker) द्वारा अपनाया गया था।

(7) सतत विकास लक्ष्य-4 (SDG-4)

  • संयुक्‍त राष्ट्र के सदस्य देशों द्वारा वर्ष 2015 में ‘‘सतत विकास लक्ष्य, 2030’’ को अपनाया गया।
  • इसके तहत वर्ष 2030 तक 17 लक्ष्य और 169 विशिष्ट लक्ष्य प्राप्‍त करने के लिए निर्धारित किए गए हैं।
  • सतत विकास लक्ष्य (SDG) कानूनी रूप से बाध्यकारी नहीं है।
  • सतत विकास लक्ष्य-4 (SDG-4):– सभी के लिए समावेशी और समान गुणवत्‍ता वाली शिक्षा तथा आजीवन सीखने के अवसरों को सुनिश्चित करता है।

सं. शिशिर अशोक सिंह


Comments
List view
Grid view

Current News List