Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 19 2021

फूड वेस्ट इंडेक्‍स रिपोर्ट, 2021

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 4 मार्च, 2021 को फूड वेस्ट इंडेक्‍स रिपोर्ट, 2021 (Food waste index Report, 2021) जारी किया गया।
  • इस रिपोर्ट को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (United Nation Environment Programme: UNEP) और WARP द्वारा निर्मित किया गया है।
  • WRAP (Worldwide Responsible Accredited Production) ब्रिटेन स्थित एक गैर-सरकारी संगठन है।
  • यह (UNEP) का पहला फूड वेस्ट इंडेक्‍स रिपोर्ट है।

प्रमुख बिंदु

1. इस रिपोर्ट को प्रकाशित करने का उद्देश्य सतत विकास लक्ष्यों (Sustainable Development Goals:SDG) के 12.3 के लक्ष्य का समर्थन करना है।

इस लक्ष्य के दो घटक हैं-

(i) खाद्य हानि सूचकांक
(ii) खाद्य अपशिष्ट सूचकांक

2. यह रिपोर्ट वैश्विक खाद्य अपव्यय का विस्तृत अनुमान लगाते हुए अब तक का सबसे व्यापक खाद्य अपशिष्ट डेटा संग्रह, विश्लेषण और प्रतिस्पण प्रस्तुत करता है।
3. SDG के 12.3 के लक्ष्य को पूरा करने के संदर्भ में देशों की प्रगति के मूल्‍यांकन हेतु घरेलू, खाद्य सेवा और खुदरा स्तर पर खाद्य अपशिष्ट को मापने के लिए एक मानक संदर्भ प्रस्तुत करता है।

  • इस रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2019 में घरेलू, रेस्तरां और दुकानों में उपभोग के दौरान पूरे विश्व में प्रति वर्ष 17 फीसद खाद्य उत्‍पादन (लगभग 931 मिलियन टन) क्षति जाता है।
  • वर्ष 2019 में बेचे गए 930 मिलियन टन से अधिक खाद्य पदार्थों को कूड़ेदान में डंप कर दिया गया।
  • उपर्युक्‍त क्षति में घरेलू स्तर पर लगभग 570 मिलियन टन प्रतिवर्ष क्षति का अनुमान है।
  • रिपोर्ट से यह भी ज्ञात होता है कि वैश्विक औसत74 किलोग्राम प्रति व्यक्‍ति प्रति वर्ष घरेलू खाद्य क्षति होती है।
  • खाद्य अपशिष्ट विकसित देशों की समस्या मानी जाती है।
  • परंतु रिपोर्ट के मुताबिक यह पाया गया कि खाद्य अपव्यय निम्न, मध्यम और उच्‍च सभी प्रकार के आय वाले देशों में पाया जाता है।
  • आपूर्ति श्रृंखला के दौरान घरेलू क्षति 11प्रतिशत है, तो वहीं खाद्य सेवाओं और खुदरा बिक्री में क्रमश: क्षति का यह स्तर 5 प्रतिशत और 2 प्रतिशत रहा।
  • जो उच्‍च आय वाले देश हैं उनके घरेलू, खाद्य सेवा एवं खुदरा बिक्री के स्तर पर खाद्य क्षति क्रमश: 79, 26 एवं 13 किग्रा प्रति व्यक्‍ति प्रति वर्ष है।
  • मध्यम आय एवं निम्न मध्यम आय देशें में सेमी घरेलू क्षति के आकड़े उपलब्ध हैं जो क्रमश: 76 एवं 91 किग्रा प्रति व्यक्‍ति प्रति वर्ष है।

वैश्विक स्तर पर खाद्य क्षति का क्षेत्रवार आंकड़े

  • अमेरिका में, घरेलू क्षति मंे बर्बाद होने वाले भोजन की मात्रा प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष 59 किलोग्राम है।
  • चीन में यह मात्रा प्रतिव्यक्ति प्रतिवर्ष 64 किलोग्राम है।
  • भारत में यह मात्रा प्रतिव्यक्ति प्रतिवर्ष 50 किलोग्राम है।
  • दक्षिण एशिया के देशों में क्षति भोजन की मात्रा प्रतिव्यक्ति प्रतिवर्ष के संदर्भ में 82 किलोग्राम के साथ अफगानिस्तान शीर्ष पर है।
  • इस तरह पाकिस्तान दक्षिण एशिया में प्रति वर्ष प्रति व्यक्ति खाद्यान क्षति करने वाले देशों की सूची में 74 किलोग्राम के साथ चौथे पायदान पर है।
  • भारत दक्षिण एशिया में इस सूची में 50 किलोग्राम के साथ अंतिम पायदान पर है।

विभिन्‍न देशों में प्रतिवर्ष प्रतिव्यक्ति भोजन की क्षति (देश और किलोग्राम/व्यक्ति/वर्ष)


वैश्विक स्तर पर खाने की बर्बादी के मायने

  • विश्व में व्यापक मात्रा में बर्बाद किए जा रहे भोजन का पर्यावरण, सामाजिक और आर्थिक रूप से नकारात्‍मक असर पड़ता है।
  • वैश्विक ग्रीन हाउस गैस उत्‍सर्जन का लगभग 8-10 प्रतिशत उन खाद्य पदार्थों से जुड़ा होता है, जिनका सेवन नहीं किया जाता है।
  • इस प्रकार खाद्य अपव्यय के मुद्दों से निपट कर पेरिस समझौते (Paris agreement) के लक्ष्यों को प्राप्‍त किया जा सकता है।
  • खाद्य और कृषि संगठन (Food and Agriculture Organization:FAO) के अनुसार, वर्ष 2019 में कुल 69 करोड़ लोग भुखमरी के शिकार थे।
  • कोविड-19 महामारी के उपरांत इस संख्या में और भी वृद्धि की संभावना है।
  • भोजन की बर्बादी से न केवल ग्रीन हाउस गैसों के उत्‍सर्जन एवं भुखमरी की समस्या को भी दूर किया जा सकता है, बल्‍कि मृदा संरक्षण, प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन जैसी वृहद समस्याओं को भी कुछ हद तक दूर किया जा सकता है।
  • रिपोर्ट का उद्देश्य वर्ष 2030 तक खुदरा और उपभोक्ता स्तरों पर प्रतिव्यक्ति वैश्विक खाद्य अपशिष्ट आधा करना तथा उत्‍पादन एवं आपूर्ति श्रृंखलाओं के साथ खाद्य नुकसान को कम करना है।

रिपोर्ट के सुझाव

  • इस रिपोर्ट का उपयोग करके सभी देश खाद्य अपशिष्ट की रोकथाम के लिए राष्ट्रीय रणनीति के निर्माण हेतु प्रेरित होंगे, जो खाद्य पदार्थों की बर्बादी को रोकने के लिए पर्याप्‍त रूप से संवेदनशील होगा।
  • इसके साथ ही वांछित दिशा में प्रगति को मापने हेतु वैश्विक स्तर पर विभिन्‍न देशों के बीच तुलनात्‍मक अध्ययन करने में भी यह इंडेक्‍स मददगार होगा।

खाद्य-प्रणाली शिखर सम्मेलन

  • संयुक्त राष्ट्र खाद्य प्रणाली शिखर सम्मेलन, 2021 (United Nation Food Systems Summit : FSS) का आयोजन संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस करेंगे।
  • सतत विकास लक्ष्यों को वर्ष 2030 तक प्राप्‍त करने के लिए इस सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।
  • यह सम्मेलन सभी 17 सतत विकास लक्ष्यों पर प्रगति के लिए साहसिक नए कार्य शुरू करेगा।
  • जिनमें से प्रत्‍येक स्वस्थ और अधिक स्थायी एवं न्‍यायसंगत खाद्य प्रणालियों पर कुछ हद तक निर्भर करता है।

सं. आदित्‍य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List