Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 15 2021

गोवा: देश का प्रथम रेबीज मुक्‍त राज्‍य

वर्तमान संदर्भ-

  • 23 जनू, 2021 को रेबीज से मुक्‍त होने वाला देश का पहला राज्‍य बन गया है। इसकी घोषणा गोवा के मुख्यमंत्री ने की।
  • इस घोषणा का मतलब है कि राज्‍य में मनुष्यों और कुत्‍तों दोनों में रेबीज विषाणु का नियंत्रण कर लिया गया है।
  • गोवा में वर्ष 2018 से रेबीज का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

प्रयास

  • गोवा में रेबीज नियंत्रण का कार्य ‘मिशन रेबीज परियोजना’ द्वारा किया गया है, जिसे केंद्र सरकार के अनुदान के माध्यम से चलाया जा रहा है।
  • इस योजना के तहत स्कूली बच्‍चों व शिक्षकों को इसके सबंध में शिक्षित किया गया । साथ ही, कुत्‍तों का टीकाकरण भी किया गया।
  • गोवा मॉडल में विषाणु उन्‍मूलन के लिए पूरा ध्यान पूर्व उपायों पर केंद्रित किया गया। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रक्रिया के विपरीत है, जिसमें कुत्‍तों के काटने के बाद टीकों का उपयोग किया जाता है।

रेबीज़ : एक नजर में

  • रेबीज (अलर्क या जलांतक) एक विषाणु जनित बीमारी है। यह बुलेट के आकार का एक लाइसावायरस (Lyssavirus) है।

 

  • यह रोग मुख्य रूप से केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है। यह मनुष्यों सहित किसी भी स्तनपायी को प्रभावित कर सकता है।
  • संचालण विधि- यह एक जूनोटिक (Zoonotic) जानवरों से मनुष्यों में फैलने वाली) बीमारी है। यह रेबीज युक्‍त स्तनपायी जानवरों, जैसे- कुत्‍ते, बंदर या अन्‍य जानवरों के काटने व खरोंचने से फैलती है।
  • रोकथाम व उपचार-
  • कुत्‍तों का अनिवार्य प्रतिरक्षण (Immunization)
  • रेबीज से ग्रस्त पशुओं को मारना
  • पीड़ित व्यक्‍ति को एंटी-रेबीज इन्‍जेक्‍शन लगाना या ओरल खुराक देना।

क्‍या है भारत की स्थिति?

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार रेबीज की वजह से दुनिया में हर साल होने वाली मौतों में लगभग 36 फीसदी हिस्सेदारी भारत की है।
  • वैश्विक स्तर पर एक वर्ष में इससे अनमानत: 59,000 लोगों की मौत होती है, जिनमें से अधिकांश बच्‍चे हैं। रेबीज के कुल मामलों में से 95 एशिया और अफ्रीका से आते हैं।

मिशन रेबीज

  • ‘मिशन रेबीज’ ब्रिटेन आधारित एक चैरिटी समूह है, जो दुनिया भर में रेबीज उन्‍मूलन में कार्यक्रमों का संचालन करता है। यह विभिन्‍न देशों में रेबीज हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में कैनाइन (कुत्‍तों का) टीकाकरण कार्यक्रम संचालित करता है।
  • 2013 में भारत में मिशन की शुरुआत हुई जो विश्व का तीसरा रेबीज हॉट स्पाट है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन, विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन और संयुक्‍त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन के साथ वर्ष 2030 तक कुत्‍तों के कारण रेबीज से मानव मृत्‍यु को समाप्‍त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।
  • वर्ष 2014 में गोवा को रेबीज-मुक्‍त बनाने का अभियान प्रारंभ हुआ। गोवा की भौगोलिक स्थिति के कारण इसका चुनाव किया गया।

रेबीज: अन्‍य तथ्य

  • रेबीज के टीके की खोज लुईपाश्चर ने की थी। वर्ष 2007 से 28 सितंबर को विश्व रेबीज दिवस के रूप में मनाया जाता है।


Comments
List view
Grid view

Current News List