Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 13 2021

ब्लू फिंड (Finned) महासीर : IUCN

वर्तमान संदर्भ

  • 4 जून, 2021 को ब्लू फिंड महासीर को प्रकृति के संरक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय संघ (IUCN) द्वारा अपने रेड लिस्ट मंे ‘लुप्‍त प्राय’ (Endangered) से हटाकर कम ‘चिंताजनक’ (Least Concern) श्रेणी में शामिल किया गया है।

ब्लू फिंड महासीर/महासीर के बारे मंे

  • ब्लू फिंड महासीर मीठे पानी की मछली है। यह महासीर की कई उप प्रजातियों में से एक है।
  • इसे डेक्‍कन महासीर या तोर खुद्री (Tor Khudree) के नाम से भी जाना जाता है।

विशेषताएं

  • यह एक सिल्वर-ब्लू रंग की मछली है, जिसमें लाल या नीले रंग के पंख होते हैं।
  • संकेतक प्रजाति : ब्लू फिंड महासीर जल में घुलित ऑक्सीजन के प्रति बहुत संवेदनशील होती है, साथ ही यह प्रदूषण, जल के तापमान तथा अचानक जलवायु परिवर्तन को सहन करने में सक्षम नहीं होती है। इस कारण यह पर्यावरणीय स्वास्थ्य के संकेतक प्रजातियों के रूप में कार्य करती है।
  • आहार : इस मछली का मुख्य आहार पेड़, फल, कीड़े मकोड़े आदि हैं। ये कभी-कभी छोटी महासीर मछलियों को भी खाती हैं।
  • आवास (Habitat) : ये भारत में पूना में बहने वाली मुला-मुठा नदियों में पाई जाती हैं। ये दक्‍कन पठार के अन्य नदियों में भी पाई जाती हैं।

भारत में महाशीर की प्रमुख प्रजातियाँ

वैज्ञानिक शुक्‍ला

सामान्य अंग्रेजी नाम

टौर प्युटिटौरा (हैम)

गोल्डन या प्युटिटौर महाशीर

टौर टौर (हैम)

टयूरिया या टौर महाशीर

टौर मोसाल (हैम)

डीप बाडी महाशीर

टौर प्रोजिनस (मैक्‍लीलैड)

असम की जुनगाह महाशीर

टौर खुदरी

डैकन या खुदरी महाशीर

टौर मुसुल्‍लाह

हम्पबैक या मुसुल्‍लाह

महाशीर

टौर मोसाल

कोपर या मोसाल महाशीर

टौर कुलकर्णी

बौना महाशीर

IUCN के बारे में-
स्थापना – 1948

  • यह विश्व के पौधों एवं जानवरों की प्रजातियों के वैश्विक संरक्षण की स्थिति को दर्शाने के लिए ‘रेड लिस्ट’ जारी करता है।
  • इस रेड लिस्ट का वर्गीकरण ‘9’ भागों में किया गया है

(1)

NE

(2)

DD

(3)

LC

(4)

NT

Not Evaluated

Data Deficient

Least  Concern

Near Threatend

(5)

VU

(6)

EN

(7)

CR

(8)

EW

Vulnerable

Endangered

Critically

Extinct in Wild

(9)

EX

 

Extinct

निष्कर्ष

  • टाटा समूह के अथक प्रयासों (50 वर्ष से) से ब्लू फिंड महासीर को IUCN की ‘कम चिंताजनक’ (LC) की स्थिति मिल पाई है। हालांकि महासीर की उप प्रजाति गोल्डेन महासीर के विलुप्‍त होने का खतरा अभी भी बना हुआ है।

सं. अभिषेक कुमार


Comments
List view
Grid view

Current News List