Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 10 2021

स्टेट ऑफ फाइनेंस फॉर नेचर रिपोर्ट

वर्तमान परिदृश्य

  • 27 मई, 2021 को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP), विश्व आर्थिक मंच (WEF), इकोनॉमिक्‍स ऑफ लैंड डीग्रेडेसन (ELD) इनिशिएटिव द्वारा संयुक्त रूप से ‘स्टेट ऑफ फाइनेंस फॉर नेचर’ रिपोर्ट जारी की गई।
  • इस रिपोंर्ट का उपशीर्षक है ‘प्रकृति आधारित समाधान में निवेश को 2030 तक तीन गुणा करना’
  • इस रिपोर्ट के माध्यम से प्रकृति-आधारित समाधानों (Nature – Based Solutions NBS) में वर्तमान सार्वजनिक एवं वैश्विक निवेश प्रवाह का विश्लेषण किया गया है, जो जलवायु परिवर्तन, जैवविविधता तथा भूमि क्षरण लक्ष्यों को पूरा करने के लिए भविष्य के आवश्यक निवेशों की पहचान करती है।
  • यह रिपोर्ट प्रकृति-आधारित समाधानों के लिए संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम द्वारा विकसित वैश्विक मानक का उपयोग करती है।
  • ध्यातव्य है कि संयुक्‍त राष्ट्र संघ 2021-2030 तक पारिस्थितिकी तंत्र पुनर्बहाली दशक (The United Nations Decade on Ecosystem Restoration 2021-2030) मना जा रहा है।

रिपोर्ट की आवश्यकता क्‍यों-

(i) विश्व की तीन-चौथाई भूमि दो तिहाई समुद्री पर्यावरण मानवीय क्रिया द्वारा परिवर्तित किए गए है
(ii) प्राकृति का निरन्‍तर क्षरण वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए प्रणालीगत जोखिम उत्‍पन्‍न कर सकता है। नेचर इकोनामी रिपोर्ट के अनुसार विश्व की आधी जीडीपी प्रकृति पर निर्भर करती है।
(iii) NBS पेरिस पर्यावरण समझौते के लक्ष्य को प्राप्‍त करने हेतु 37 प्रतिशत तक वैश्विक लागत प्रभावी समाधान प्रदान कर सकता है 32 गीगावाट तक कार्बन उत्‍सर्जन को कम कर सकता है।

प्रकृति-आधारित समाधान(NBS)

  • IUCN (International Union for Conser- vation of Nature) के अनुसार, NBS प्राकृतिक या संशोधित पारिस्थितिक तंत्र की रक्षा, स्थायी प्रबंधन और पुनर्स्थापना के लिए कार्यवाही है, जो सामाजिक-आर्थिक चुनौतियों को प्रभावी ढंग से एवं अनुकूल रूप से संबोधित करती है, साथ ही मानव कल्‍याण एवं जैवविविधता तथा संधारणीयता को लाभ प्रदान करती है।
  • ध्यातव्य है कि NBS जलवायु परिवर्तन पर हुए पेरिस समझौते के लक्ष्यों को प्राप्‍त करने के समग्र वैश्विक प्रयास का एक महत्‍वपूर्ण घटक है।

NBS में वर्तमान वैश्विक निवेश

  • इस रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में लगभग 133 बिलियन अमेरिकी डॉलर प्रतिवर्ष NBS के रूप में निवेश होता है (2020 को आधार वर्ष के रूप में उपयोग करते हुए)।
  • वर्तमान में NBS में सर्वाधिक निवेश लगभग 113 बिलियन अमेरिकी डॉलर घरेलू सार्वजनिक निकायों द्वारा जैवविविधता और सतत वानिकी जैसी गतिविधियों के संरक्षण हेतु किया जाता है।
  • वर्तमान में निजी क्षेत्रों के द्वारा NBS में टिकाऊ आपूर्ति श्रृंखला तथा स्थापना में निवेश के माध्यम से प्रतिवर्ष लगभग 18 बिलियन अमेरिकी डाॅलर का अतिरिक्त योगदान दिया जाता है।
  • विदेशी विकास सहायता (Public Overseas Development Assistance) तथा अन्‍य प्रकार की निवेश राशियों के द्वारा NBS में लगभग 2 बिलियन अमेरिकी डॉलर का योगदान दिया जाता है।

वर्ष 2020 में NBS में वैश्विक निवेश

क्षेत्र

निवेश राशि (बिलियन यूएस डॉलर)

सार्वजनिक

113

निजी

18

पब्लिक, ओवरसीज डेवलपमेंट एसिस्टेंस तथा अन्‍य

2

कुल

133

घरेलू तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सार्वजनिक निवेश

  • सार्वजनिक क्षेत्रों के द्वारा NBS में प्रतिवर्ष लगभग 113 बिलियन यूएस डॉलर का निवेश किया जाता है, जो प्रकृति आधारित समाधानों में किए गए कुल निवेश (133 बिलियन यूएस डॉलर) का 86 प्रतिशत है, जिसका विवरण निम्नांकित चार्ट में दिया गया है।

NBS में सार्वजनिक क्षेत्र का निवेश (वर्ष 2019) में

        क्षेत्र निवेश राशि यूएस डॉलर में

1

जैवविविधता तथा भू-दृश्य संरक्षण

53

2

कृषि वानिकी तथा मत्‍स्यपालन

23

3

जल संसाधन संरक्षण तथा भू-प्रबंधन, प्रदूषण नियंत्रण तथा अन्‍य

17

4

प्रदूषण न्‍यूनीकरण, जल-अपशिष्ट प्रबंधन तथा पर्यावरण संरक्षण

11

5

पर्यावरण नीतियां तथा अन्‍य

08

 

कुल

112

  • ध्यातव्य है कि NBS वित्त की एक छोटी-सी धनराशि सार्वजनिक क्षेत्र के विदेशी विकास सहायता (ODA) से आती है, जो कुल 2.4 बिलियन यूएस डॉलर के बराबर है।

सार्वजनिक क्षेत्र में शीर्ष निवेशकर्ता देश

  • NBS में निवेश के मामले में लगभग 36 बिलियन यूएस डॉलर/वर्ष के साथ संयुक्त राज्‍य अमेरिका शीर्ष स्थान पर है, जबकि इस संदर्भ में चीन 31 बिलियन यूएस डॉलर / वर्ष के साथ दूसरे स्थान पर है।
  • NBS में जापान के द्वारा 9 बिलियन यूएस डॉलर तथा जर्मनी एवं ऑस्ट्रेलिया द्वारा संयुक्त रूप से लगभग 5 बिलियन यूएस डॉलर / वर्ष निवेश किया जाता है।
  • ब्राजील, भारत तथा सऊदी अरब जैसे देशों के द्वारा भी बड़ी मात्रा में धन व्यय किया जाता है, परंतु वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तुलनात्‍मक आंकड़ों की रिपोर्ट नहीं करते हैं।

घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निजी क्षेत्र का निवेश

  • निजी क्षेत्रों के द्वारा NBS में प्रतिवर्ष लगभग 18 बिलियन यूएस डॉलर का निवेश किया जाता है, जो प्रकृति-आधारित समाधानों में किए गए कुल निवेश का लगभग 14 प्रतिशत है।
  • NBS में किए गए कुल निजी निवेश में 7 बिलियन डॉलर/वर्ष का निवेश सतत आपूर्ति श्रृंखला में किया जाता है, जिसके अंतर्गत सतत वन उत्‍पाद, सतत कृषि उत्‍पाद, मत्‍स्यपालन तथा समुद्री उत्‍पाद तथा पॉम ऑयल शामिल हैं।
  • बिलियन डॉलर/वर्ष का निवेश जैवविविधता स्थापना परियोजना पर किया जाता है। जो 33 देशों को इस कार्यक्रम के तहत समाहित करते है।
  • 3 बिलियन डॉलर/वर्ष निजी इक्‍विटी प्रभाव निवेश पर किया जाता है।
  • 2 बिलियन डॉलर/वर्ष का निवेश गैर-सरकारी संगठनों के संरक्षण पर किया जाता है, जो प्रकृति-आधारित समाधानों से संबंधित गतिविधियों में संलग्‍न हैं।

अन्‍य महत्‍वपूर्ण बिंदु

  • सार्वजनिक निधियों की कुल राशि (115 बिलियन यूएस डॉलर/वर्ष) का एक-तिहाई से अधिक राष्ट्रीय सरकारों द्वारा जैवविविधता परिदृश्य के संरक्षण में निवेश किया जाता है।
  • इसके तहत फॉरेस्ट रीस्टोरेशन, पीटलैंड रीस्टोरेशन, पुनर्योजी कृषि, जल संरक्षण और प्रदूषण नियंत्रण प्रणालियों पर लगभग दो-तिहाई धन व्यय किया जाता है।
  • ध्यातव्य है कि प्रकृति में निवेश होने वाली वित्त की कुल मात्रा, जलवायु वित्त (Climate Finance) की तुलना में काफी कम है।

सिफारिशें

  • भविष्य को ध्यान में रखते हुए जलवायु परिवर्तन, जैव-विविधता तथा भू-क्षरण के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रकृति-आधारित समाधानों में निवेश को वर्ष 2030 तक तीन गुना तथा वर्ष 2050 तक चार गुना (8.1 ट्रिलियन डालर) करने का सुझाव दिया गया है। इसमें विभिन्‍न NBS पर निवेश का विवरण चार्ट में दर्शाया गया है-

भविष्य में निवेश की आवश्यकता –

NBS के प्रकार

कुल संचयी निवेश (2021-2050) यूएस बिलियन डॉलर

वर्ष 2050 में अतिरिक्त वार्षिक निवेश यूएस बिलियन डॉलर/ वर्ष

पुन: वनीकरण

4684

203

मैंग्रोव पुनर्स्थापना

15

0.5

आर्द्रभूमि पुनर्स्थापना

301

7

चारागाह

3130

193

कुल निवेश की आवश्यकता

8130

403

  • कर सुधार, कृषि नीतियों तथा व्यापार से संबंधित शुल्‍कों का पुन: उपयोग करना तथा कार्बन बाजारों की क्षमता का दोहन करना।
  • प्रकृति में पूंजी प्रवाह को उस स्तर तक बढ़ाने के लिए सार्वजनिक नीति के साथ निजी वित्त को संरेखित करना, जो तीनों रियो सम्मेलन के लक्ष्यों को पूरा कर सके।
  • प्रकृति-आधारित समाधानों के लिए वित्तीय स्थिति की लेवलिंग, ट्रैकिंग, रिपोर्टिंग और सत्‍यापन के लिए एक व्यापक प्रणाली और ढांचे की आवश्यकता है।

संकलन – आलोक कुमार पाण्डे


Comments
List view
Grid view

Current News List