Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 10 2021

संयुक्त राष्ट्र महासभा का संकल्प 75/260 : HIV / AIDS

वर्तमान संदर्भ

  • 11 जून, 2021 को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने एचआईवी/एड्स की रोकथाम पर संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) के 75वें सत्र्‍ा को संबोधित किया।

मुख्य बिंदु
UNGA का संकल्प 75/260

  • संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा इस संकल्प को 23 फरवरी, 2021 को अपनाया गया।
  • यह एचआईवी/एड्स पर प्रतिबद्धता की घोषणा तथा HIV/AIDS पर राजनीतिक घोषणाओं के कार्यान्वयन से संबंधित है। ÆHIV/AIDS की महामारी को वर्ष 2030 तक समाप्‍त करने का लक्ष्य रखा गया है, यह सतत विकास लक्ष्य के अनुरूप है।
  • यह देखते हुए कि 2021 में 40 वर्ष होंगे जब एड्स का पहला मामला दर्ज किया गया तथा HIV/AIDS पर संयुक्त राष्ट्र कार्यक्रम के शुरू होने के 25 वर्ष बाद के मूल्यांकन कार्य और एक नई वैश्विक एड्स रणनीति 2021-26 को ध्यान में रखकर कार्य किया जा रहा है।
  • वैश्विक एड्स रणनीति 2021-26 में असमानताओं को समाप्‍त करना, एड्स का अंत तथा एड्स को समाप्‍त करने के लिए प्रगति को रोकने वाले अंतराल को बंद करने के लिए एक असमानता लेंस का उपयोग करता है।

भारत द्वारा की गई पहलें

  • भारत का HIV/AIDS का रोकथाम मॉडल ‘सामाजिक अनुबंध’ (Social Contracting) की अवधारणा पर केंद्रित है जिसके जरिए नागरिक समाज की मदद से ‘लक्षित हस्तक्षेप कार्यक्रम’ लागू किया जाता है।
  • ‘लक्षित हस्तक्षेप कार्यक्रम’ का उद्देश्य HIV की देखभाल के लिए संचार, सेवा वितरण, व्यवहार परिवर्तन, लिंकेज तथा परामर्श एवं परीक्षण सुनिश्चित किया जाता है।
  • HIV/AIDS निवारण एवं नियंत्रण अधिनियम, 2017 संक्रमित तथा प्रभावित आबादी के मानवाधिकारों की सुरक्षा के लिए कानूनी एवं सक्षम ढांचा प्रदान करता है।
  • भारत लगभग 14 लाख लोगों को मुफ्‍त एंटी-रेट्रो वायरल उपचार उपलब्ध करा रहा है।
  • भारत में राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के पहले चरण की शुरुआत वर्ष1992-1999 में हुई थी। कार्यक्रम को लागू करने की एजेंसी राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (NACO) थी।
  • भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 में उत्तर-पूर्वी राज्यों में ड्रग्स का इंजेक्शन लगाने वाले लोगों में बढ़ते HIV के प्रसार से निपटने के लिए सनराइज परियोजना की शुरुआत की गई थी।
  • लाल रिबन, एचआईवी से पीड़ित मनुष्यों के लिए जागरूकता तथा समर्थन का प्रतीक है।

सतत विकास लक्ष्य एवं एचआईवी, एड्स :

  • SDG 3- यह सभी उम्र के लोगों में स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं स्वस्थ जीवन को बढ़ावा देने से संबंधित है।
  • SDG 3.3- यह एड्स को सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरे के रूप में वर्ष 2030 तक समाप्‍त करने से संबंधित है।
  • SDG 10 – भेद-भाव के खिलाफ सुरक्षा का लक्ष्य तथा अपने अधिकारों का दावा करने एवं HIV सेवाओं तक पहुंच में वृद्धि के लिए लोगों का सशक्तीकरण करना तथा असमानताओं को समाप्‍त करना।
  • SDG 16 – प्रमुख आबादी तथा HIV के साथ रहने वाले लोगों के खिलाफ कम हिंसा सहित न्‍याय एवं मजबूत संस्थान।

सं. विकाश प्रताप सिंह

 


Comments
List view
Grid view

Current News List