Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Nov 18 2022

भारत का पहला पानी में तैरता वित्तीय साक्षरता शिविर

वित्तीय साक्षरता (Financial literacy)

  • आर्थिक सहयोग एवं विकास संगठन (Organization for Economic Co-operation and Development: OECD) वित्तीय साक्षरता को ‘व्यक्तिगत कल्याण एवं वित्तीय सक्षमता’ प्राप्त करने के लिए वित्तीय जागरूकता, ज्ञान, कौशल, दृष्टिकोण और व्यवहार के संयोजन के रूप में परिभाषित करता है।

वित्तीय शिक्षा (Financial Education)

  • वित्तीय शिक्षा को उस प्रक्रिया के रूप में परिभाषित किया जाता है, जिसके द्वारा वित्तीय उपभोक्ता/ निवेशक वित्तीय उत्पादों, अवधारणाओं और जोखिमों की अपनी समझ में सुधार करते हैं तथा सूचना, निर्देश सलाह के माध्यम से वित्तीय जोखिम और अवसरों के बारे में अधिक जागरूक बनाने के लिए कौशल और आत्मविश्वास विकसित करते हैं।
  • गौरतलब है, कि वित्तीय समावेश को बढ़ावा देने या वित्तीय रूप से जागरूक और सशक्त भारत निर्माण हेतु अगस्त, 2020 में भारतीय रिजर्व बैंक ने वित्तीय शिक्षा के राष्ट्रीय रणनीति (National Strategy for Financial Eduation: NSFE), 2020-2025 जारी की है।
  • यह वित्तीय शिक्षा के लिए राष्ट्रीय रणनीति का दूसरा संस्करण है, जिसका पहला संस्करण वर्ष 2013 में जारी किया गया था।

 

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 2 नवंबर, 2022 को संचार मंत्रालय, भारत सरकार के डाक विभाग के तहत स्थापित भारतीय डाक भुगतान बैंक (India Post Payments Bank: IPPB) ने भारत का पहला पानी में तैरता वित्तीय साक्षरता शिविर आयोजित किया।
  • भारत का पहला पानी में तैरता वित्तीय साक्षरता शिविर डल झील, श्रीनगर (जम्मू एवं कश्मीर) में आयोजित किया गया।
  • यह शिविर भारतीय डाक भुगतान बैंक द्वारा कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय (Ministry of Corporate Affairs: MCA) के तत्वावधान में निवेशक शिक्षा एवं संरक्षण कोष प्राधिकरण (Investor Education and Protection Fund Authority : IEPFA)  के सहयोग से आयोजित किया गया।
  • उल्‍लेखनीय है, कि भारत का पहला पानी में तैरता वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन निवेशक दीदी या महिला डाकिया पहल के तहत किया गया।
  • निवेशक दीदी या महिला डाकिया पहल : यह पहल महिलाओं के लिए महिलाओं की विचारधारा पर आधारित है।
  • जो महिलाओं के लिए महिलाओं के द्वारा वित्तीय साक्षरता की अवधारणा को बढ़ाता है। 
  • यह पहल वित्तीय जागरूकता के साथ-साथ एक खुशनुमा। आरामदायक वातावरण में महिलाओं के प्रश्नों का समाधान करता है।

महत्वपूर्ण तथ्य

  • भारत का पहला पानी में तैरता वित्तीय साक्षरता शिविर जम्मू एवं कश्मीर के श्रीनगर मे प्रसिद्ध डल झील के आस-पास के स्थानीय निवासियों के बीच आयोजित किया गया।
  • सनीय निवासी, शिकारा उत्सव के तहत भाग लेने वाली शिकारा (Shikara) नाव पर आयोजित इस शिविर में भाग लिया।
  • इस  शिविर ने ग्रामीण महिलाओं के लिए वित्तीय उत्पादों और सेवाओं को लेकर समझ बढ़ाने, धोखाधड़ी से सावधान रहने और निवेशक दीदी पहल की सहायता से अपनी भाषा में सहायता पाने का मार्ग प्रशस्त किया।
  • ध्यातव्य है, कि इस शिविर में बैंकिंग और वित्तीय उत्पादों, वित्तीय सेवाओं के महत्व और धोखाधड़ी से बचाव के उपायों के साथ निवेश को लेकर विभिन्‍न प्रकार के जोखिम सुरक्षा आदि विषयों पर चर्चा की गई।

भारतीय डाक भुगतान बैंक (India Post Payments Bank : IPPB)

  • भारत सरकार के 100 प्रतिशत स्वामित्व वाले भारतीय डाक भुगतान बैंक को संचार मंत्रालय के डाक विभाग के तहत स्थापित किया गया।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 सितंबर, 2018 को भारतीय डाक भुगतान बैंक का शुभारंभ किया था।
  • इसका उद्देश्य भारत के आम जनमानस तक अत्यंत सुगम, सस्ती और भरोसेमंद बैंक सेवा की सुविधा मुहैया कराना।
  • भारतीय डाक भुगतान बैंक का लक्ष्य बैंकिंग सुविधाओं से वंचित तबके तक बैंक की बाधाओं को दूर कर 160,000 डाकघरों एवं 400,000 डाक कर्मचारियों वाले नेटवर्क का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना।

संकलन-सुरेंद्र वर्मा


Comments
List view
Grid view

Current News List