Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 28 2022

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा तीन डिजिटल भुगतान पहलों की शुरुआत

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 20 सितंबर, 2022 को भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India : RBI) के गवर्नर ने ‘ग्‍लोबल फिनटेक फेस्ट, 2022’ में तीन प्रमुख डिजिटल भुगतान पहलों की शुरुआत की ।
  • आरबीआई द्वारा शुरू की गई तीन डिजिटल भुगतान पहल निम्नलिखित हैं-

(i) एकीकृत भुगतान इंटरफेस (United Payment Interface :UPI) पर रुपे (RuPay) क्रेडिट कार्ड
(ii) यूपीआई लाइट (UPI Lite) 
(iii) भारत बिल पे क्राॅस-बार्डर बिल भुगतान पर रुपे क्रेडिट कार्ड (Bharat Bill Pay Cross Border Bill Payments) 

प्रमुख बिंदु

  • देश में डिजिटल भुगतान परितंत्र को सुरक्षित व समावेशी बनाने के उद्देश्य से आरबीआई गवर्नर द्वारा तीन प्रमुख डिजिटल पहल की शुरुआत की गई, जिनका विवरण निम्नलिखित है-

(i)  यूपीआई (UPI) पर रुपे (RuPay) क्रेडिट कार्ड-

  • नेशनल पेमेंट्‍स कॉर्पोरेशन ऑफ इण्डिया (National Payments Corporation of India : NPCI) ने रुपे नेटवर्क पर क्रेडिट कार्ड के माध्यम से यूनिफाइड पेमेंट्‍स इंटरफेस (यूपीआई) पेश किया है।
  • अभी तक डेबिट कार्ड और बैंक खातों का इस्तेमाल पहले यूपीआई को जोड़ने के लिए किया जाता था, लेकिन अब रुपे क्रेडिट कार्ड को भी  जोड़ा जा सकेगा। 
  • इस लिंकेज के परिणामस्वरूप, ग्राहक अधिक बार क्रेडिट कार्ड का उपयोग करेंगे, जिससे व्यापारियों को अधिक ग्राहकों तक पहुंचने में भी मदद मिलेगी। 
  • रुपे (RuPay) क्रेडिट कार्ड वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (VPA) यानी यूपीआई आईडी से जोड़ा जाएगा, ताकि डिजिटल भुगतान  और लेन-देन को और सुरक्षित बनाया जा सके।
  • BHIM ऐप (भीम का अर्थ : भारत इंटरफेस फॉर मनी)  का उपयोग करके RuPay (रुपे) क्रेडिट कार्ड पर UPI लांच करने वाले पहले बैंक; पंजाब नेशनल बैंक (PNB) , यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया (UBI) और इण्डियन बैंक हैं।

यूपीआई लाइट

  • यह उपयोगकर्ताओं को तेज, सरल तथा कम मूल्य के लिए एक सुविधाजनक समाधान प्रदान करेगा।
  • भारत में यूपीआई के माध्यम से 50%  लेन-देन रू.200 से कम के होते हैं। 
  • भीम (BHIM) ऐप पर यूपीआई लाइट सक्षम होने से, उपयोगकर्ता निकट ऑफलाइन मोड में छोटे मूल्य के लेन-देन करने में सक्षम होंगे।
  • यूपीआई लाइट, ‘कोर बैंकिंग प्रणाली’ (Core Banking System) पर डेबिट लोड को कम करेगा, जिससे लेन-देन की सफलता दर में और सुधार होगा।
  • इससे यूपीआई प्‍लेटफॉर्म पर एक दिन में एक अरब लेन-देन को संसाधित करने के करीब एक कदम आगे ले जाएगा।
  • यूपीआई लाइट भुगतान लेन-देन की ऊपरी सीमा रू. 200 होगी, जबकि किसी भी समय डिवाइस पर वॉलेट के लिए यूपीआई लाइट बैलेंस की कुल सीमा रू. 2000 होगी।
  • एनपीसीआई के अनुसार, केनरा बैंक, एचडीएफसी बैंक, इण्डियन बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक आॅफ इण्डिया,यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया और उत्कर्ष स्मॉल्‍ा फाइनेंस बैंक सहित आठ बैंक इस सुविधा के साथ लाइव हैं।

 

भारत बिल पे क्राॅस-बॉर्डर बिल भुगतान

  • इसका उद्देश्य भारत से बाहर रहने वाले लोगों के लिए बिल भुगतान को आसान बनाना है।
  • भारत, विदेशों में रहने वाले 30 मिलियन से अधिक भारतीयों के साथ, भारत अनिवासी प्रेषण के शीर्ष 5 सबसे बड़े प्राप्तकताओं में से एक है।
  • भारत बिल पे क्राॅस-बार्डर बिल भुगतान सुविधा अनिवासी भारतीयों (एनआरआई) को भारत में अपने परिवारों की ओर से उपयोगिता, पानी और टेलीफोन से संबंधित बिल भुगतान’ करने के लिए सशक्त और सक्षम बनाएगी।
  • संयुक्त अरब अमीरात (UAE)  के लुलु एक्‍सचेंज के साथ फेडरल बैंक ‘भारत बिल पे क्राॅस-बार्डर बिल भुगतान’ के साथ लाइव होने वाला पहला बैंक होगा।

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य


संकलन-पंकज तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List