Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 19 2022

हाइड्रोजन निष्कर्षण की नवीन तकनीक

पृष्ठभूमि

  • वर्तमान समय में वैश्विक तापमान वृद्धि एवं जलवायु परिवर्तन की समस्या गंभीर चिंता का विषय है। इस समस्या को पेट्रोलियम पदार्थों और कोयला दहन से प्राप्त होने वाली ऊर्जा ने और गंभीर बना दिया है। ऐसे में विश्वभर के वैज्ञानिक स्वच्‍छ ईंधन की तलाश में लगे हुए हैं। हाइड्रोजन से उत्पन्‍न ऊर्जा को इसके समाधान के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि यह प्रदूषण रहित स्वच्‍छ ईंधन का दीर्घकालीन विकल्प है।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 1 सितंबर, 2022 को कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, सांता क्रूज के शोधकर्ताओं ने एल्युमीनियम-गैलियम धातु का प्रयोग करके एक ऐसी तकनीक विकसित की है, जो कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन उत्‍पन्‍न करेगा।

शोध का विवरण

  • शोधकर्ताओं ने सबसे पहले एल्‍युमीनियम को ऑक्सीजन की उपस्थिति में पानी से क्रिया करा करके हाइड्रोजन उत्‍पन्‍न किया।
  • क्रिया कराने के पश्चात शोधकर्ताओं ने यह देखा कि एल्‍युमीनियम का शुद्ध रूप बहुत सक्रिय है और तुरंत हवा के साथ क्रिया करके सतह पर एल्‍युमीनियम ऑक्साइड की परत बना लेता है।
  • शोधकर्ताओं ने धातु की सतह पर बने एल्युमीनियम ऑक्साइड परत को हटाने के लिए एल्‍युमीनियम के साथ गैलियम को मिश्रित किया जाे सतह पर बनी परत को हटा देता है और एल्‍युमीनियम सीधे पानी से क्रिया करके हाइड्रोजन गैस उत्पन्‍न करती है।
  • परीक्षणोपरांत शोधकर्ताओं ने यह पाया कि गैलियम और एल्‍युमीनियम युक्त मिश्रण का प्रयोग करने से हाइड्रोजन का उत्पादन अप्रत्याशित रूप से अधिक हुआ ।
  • मिश्रण में प्रयुक्त किए गए गैलियम काे प्रक्रिया पूर्ण होने के उपरांत 95 प्रतिशत तक प्राप्त किया जा सकता है।

 

हाइड्रोजन के 3 प्रकार हैं-

  • ग्रे हाइड्रोजन
  • ब्‍लू हाइड्रोजन
  • ग्रीन हाइड्रोजन

गैलियम क्या है ?

  • यह तरल अवस्था में पाई जाती है।
  • इसका तापमान कमरे के तापमान से थोड़ा अधिक होता है।
  • यह एक महंगी दुर्लभ धातु है। गैलियम का का प्रयोग स्पार्क प्‍लग और काटने वाले उपकरण में होता है।

हाइड्रोजन क्या है ?

  • हाइड्रोजन एक गंधहीन, स्वादहीन, रंगहीन, अधातु है।
  • यह आवर्त सारणी में सबसे पहले स्थान पर है।
  • इसके नाभिक में एक प्रोटाॅन और एक न्यूट्राॅन होते हैं।
  • यह ब्रह्माण्ड में सर्वाधिक मात्रा में पाई जाती है तथा हल्की गैस होती है।
  • हाइड्रोजन की खोज 1766 ई. में हेनरी कैवेंडिस ने की थी। 
  • हाइड्रोजन को भविष्य का ईंधन कहा जाता है।

महत्व

  • हाइड्रोजन का प्रयोग ईंधन के रूप में किया जाने लगा है।
  • यह स्वच्‍छ एवं प्रदूषण रहित ईंधन है।
  • यह कभी न समाप्त होने वाला (Renewable)  ईंधन है।
  • हाइड्रोजन गैस का प्रयोग सैटेलाइट इंजन व राॅकेटों में होता है।

आगे की राह

  • विश्व जो नेट जीरो उत्सर्जन की प्रतिज्ञा लेकर आगे बढ़ रहा है, उसको सार्थक करने में हाइड्रोजन ऊर्जा महत्वपूर्ण सिद्ध होगी। हाइड्रोजन ऊर्जा प्रदूषण रहित है, इसलिए वैश्विक तापन (Global warming)  कम होगा, जिससे वातावरण में हो रहे बदलाव को स्थिर करने में थोड़ी सफलता मिलेगी।

संकलन- अमित शुक्‍ला
 


Comments
List view
Grid view

Current News List