Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 16 2022

ई-अभियोजन पोर्टल के उपयोग में उत्तर प्रदेश शीर्ष राज्य

ई-अभियोजन पोर्टल

  • डिजिटल इण्डिया मिशन के तहत भारत सरकार द्वारा ई-अभियोजन पोर्टल (e-Prosecution Portal) का प्रबंधन किया जाता है। 
  •  ई-अभियोजन पोर्टल‚ गृह मंत्रालय‚ इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा कानून और न्याय मंत्रालय की एक संयुक्त पहल है।
  • इसे भारतीय राज्यों द्वारा वर्ष 2020 में आपराधिक परीक्षणों में तेजी लाने (Speeding Criminal Trials) तथा अदालतों और अभियोजन प्रणाली का समर्थन करने के लिए शुरू किया गया था। 
  • प्रत्येक राज्य का अपना पृथक ई-अभियोजन खाता संचालित है।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 5 सितंबर‚ 2022 को उत्तर प्रदेश‚ डिजिटल इण्डिया मिशन के तहत केंद्र सरकार द्वारा प्रबंधित ई-अभियोजन पोर्टल के माध्यम से 9.12 मिलियन मामलों के निवारण और प्रविष्टि की संख्या के साथ शीर्ष राज्य बना हुआ है।
  • पोर्टल में मामलों की गणना के लिए अगस्त‚ 2022 तक के आंकड़ों का उपयोग किया गया है।

मुख्य बिंदु

  • ई-अभियोजन पोर्टल पर अगस्त‚ 2022 तक के प्रस्तुत आंकड़े के अनुसार‚ उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है‚ वहीं मध्य प्रदेश दूसरे तथा बिहार तीसरे स्थान पर है।
  • ई-अभियोजन पोर्टल के माध्यम से मामलों के प्रविष्टि व निवारण करने वाले शीर्ष पांच राज्य:—

  • ई-अभियोजन पोर्टल‚ ’इंटर-ऑपरेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम’ (ICJS) के तहत पुलिस विभाग और अभियोजन निदेशालय के बीच ई-संचार को सक्षम बनाता है।
  • ICJS, अदालतों‚ पुलिस‚ जेलों और फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशालाओं के बीच डाटा के हस्तांतरण की अनुमति देता है।

अन्य बिंदु

  • नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की वर्ष 2021 की रिपोर्ट के अनुसार‚ साइबर अपराध के दोषियों को सजा दिलाने में उत्तर प्रदेश‚ देश में शीर्ष राज्य है।
  • उत्तर प्रदेश में साइबर अपराध में दोषसिद्ध होने की दर 83.2 प्रतिशत है।
  • इसके अलावा उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध में दोषसिद्धि दर सबसे ज्यादा है। साथ ही उत्तर प्रदेश में महिलाओं ने वर्ष 2021 में देश में सर्वाधिक अपराधों का सामना किया।
  • NCRB रिपोर्ट‚ 2021 के अनुसार‚ उत्तर प्रदेश भारतीय दण्ड संहिता (आईपीसी) अपराध की घटनाओं से संबंधित मामलों में गिरफ्तार लोगों की सजा को लेकर शीर्ष राज्य है।

 

डिजिटल इण्डिया कार्यक्रम

  • 1 जुलाई‚ 2015 को लांच किया गया।
  • यह भारत को डिजिटल रूप से सशक्त समाज और ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था में बदलने का दृष्टिकोण रखता है। 

संकलन - पंकज तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List