Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 06 2022

भारत-अमेरिका संयुक्त अभ्यास वज्र प्रहार‚ 2022

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 28 अगस्त‚ 2022 को भारत-अमेरिका संयुक्त अभ्यास वज्र प्रहार‚ 2022 (Ex. Vajra Prahar, 2022) संपन्न हुआ। 
  • यह अभ्यास दोनों देशों के विशेष सुरक्षा बलों द्वारा संपन्न किया गया।
  • यह अभ्यास स्पेशल फोर्सेज ट्रेनिंग स्कूल (Special Forces Training School : SFTS) बकलोह (Bakloh) चम्बा‚ हिमाचल प्रदेश में हुआ।
  • इसका प्रारंभ 8 अगस्त‚ 2022 को हुआ था।
  • यह 21 दिवसीय अभ्यास रहा।
  • संयुक्त अभ्यास श्रृंखला का यह 13वां संस्करण (13th Edition) था।
  • ध्यातव्य है‚ कि इसका 12वां संस्करण अक्टूबर‚ 2021 में अमेरिका के वाशिंगटन (Washington) स्थित ज्वॉइंट बेस लुइस मैककार्ड (Joint Base Lewis Mc'chorad) में आयोजित किया गया था।
  • इस वार्षिक अभ्यास की मेजबानी बारी-बारी से दोनों देशों द्वारा की जाती है।

अभ्यास का उद्देश्य

  • इसका उद्देश्य दोनों देशों के विशेष बलों के बीच संयुक्त मिशन योजना (Joint Mission Planning) और परिचालन रणनीतियों (Operational Tactics) जैसे क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ परिपाटियों और अनुभवों को साझा करने के साथ-साथ अंतर संचालन में सुधार करना है।

प्रतिनिधित्व

  • अमेरिका दल का प्रतिनिधित्व अमेरिकी संयुक्त विशेष सैन्य बलों के फर्स्ट स्पेशल फोर्सेज ग्रुप (1st Special Forces Group : SFG) और स्पेशल टैक्टिक्स स्क्वाड्रन (Special Tactics Squadron : STS) ने किया।
  • भारतीय सैन्य दल का प्रतिनिधित्व एसएफटीएस (SFTS) की अगुवाई में गठित विशेष सैन्य बल द्वारा किया गया।

अभ्यास में सम्मिलित गतिविधियां

  • दोनों देशों की सेनाओं ने संयुक्त रूप से पहाड़ी इलाकों में पारंपरिक और गैर-पारंपरिक कृत्रिम परिस्थितियों में आतंकवाद रोधी अभियानों‚ वायु आधारित अभियानों की एक विशेष श्रृंखला में संयुक्त प्रशिक्षण‚ योजना एवं कार्यान्वयन किया।

अभ्यास के चरण

  • यह अभ्यास दो चरणों में संपन्न हुआ।
  • पहले चरण में युद्ध अनुकूलन और सामरिक स्तर के विशेष मिशन प्रशिक्षण अभ्यास को शामिल किया गया।
  • दूसरे चरण में दोनों दलों द्वारा प्रथम चरण में प्राप्त किए गए प्रशिक्षण का 48 घंटे का सत्यापन अभ्यास शामिल किया गया।

निष्कर्ष

  • यह संयुक्त सैन्य अभ्यास भारत एवं अमेरिका के विशेष बलों के बीच मित्रता के पारंपरिक संबंध के साथ-साथ आपसी द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को और अधिक मजबूत करने में सहायक होगा। 

संकलन - संतोष कुमार पाण्डेय


Comments
List view
Grid view

Current News List