Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 31 2022

भारत में प्रवास‚ 2020-21

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 14 जून‚ 2022 को सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय‚ भारत सरकार द्वारा आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण (Periodic Labour Force Survey) जुलाई‚ 2020-जून‚ 2021 के साथ ही ‘भारत में प्रवास‚ 2020-21’ (Migration in India, 2020-21) भी जारी किया गया।
  • उल्लेखनीय है‚ कि आवधिक श्रम बल सवर्ेक्षण (PLFS) का सैंपल डिजाइन‚ प्रवासन विवरण तथा अस्थायी आगंतुकों के संदर्भ में जानकारी प्राप्त करने हेतु केंद्रित नहीं है। फिर भी‚ वर्ष 2020-21 के दौरान प्रचारित पीएलएफएस (PLFS) में कुछ अतिरिक्त जानकारी एकत्र की गई थी‚ जो निम्न है- 
  • परिवार के सदस्यों के प्रवास के विवरण की जानकारी।
  • घर में अस्थायी आगंतुकों के बारे में जानकारी‚ जो मार्च‚ 2020 के बाद आए और लगातार 15 दिन या उससे अधिक‚ लेकिन 6 माह से कम अवधि तक घर में रहे।

धारणात्मक ढांचा (Conceptual Framework) :
(i)  सामान्य निवास स्थान (Usual Place of Residence: UPR):- किसी व्यक्ति का सामान्य निवास स्थान (UPR) वह स्थान (गांव/कस्बा) होता है‚ जहां व्यक्ति कम-से-कम 6 माह से लगातार रह रहा हो। अगर कोई व्यक्ति लगातार 6 माह से गांव/कस्बे में नहीं रहा था‚ लेकिन सर्वेक्षण के दौरान वह लगातार 6 माह या उससे अधिक समय तक रहने के इरादे से वहां मौजूद था‚ तो वह जगह उसकी ‘सामान्य निवास स्थान’ (UPR) के रूप में दर्ज थी।
(ii)    प्रवासी (Migrant):- एक परिवार का सदस्य जिसका अतीत में किसी भी समय अंतिम सामान्य निवास स्थान गणना के मौजूदा स्थान से अलग था‚ एक घर में प्रवासी सदस्य माना गया।
(iii)    प्रवास दर (Migration Rate):- किसी भी श्रेणी के व्यक्ति (जैसे कि ग्रामीण या शहरी‚ पुरुष या महिला) के लिए प्रवासन दर‚ उस श्रेणी के व्यक्तियों से संबंधित प्रवासियों का हिस्सा है।
(iv)    अस्थायी आगंतुक (Temporary Visitors):- इस सर्वेक्षण के उद्देश्य के लिए घर में अस्थायी आगंतुक वे व्यक्ति हैं‚ जो मार्च‚ 2020 के बाद आए और लगातार 15 दिन या उससे अधिक‚ लेकिन 6 माह से कम की अवधि हेतु घर में रहे।

  • अस्थायी आगंतुकों से संबंधित अनुमान उन लोगों से संबंधित है‚ जिनके लिए मौजूदा निवास स्थान जहां वह अस्थायी रूप से रह रहे थे‚ उनके सामान्य निवास स्थान (UPR) से भिन्न थे।

  • अखिल भारतीय अंतर-राज्यीय प्रवास पीएलएफएस जुलाई‚ 2020-जून‚ 2021 से उसी राज्य‚ अन्य राज्य या अन्य देशों के संदर्भ में निवास के अंतिम सामान्य स्थान के आधार पर प्रवासियों का प्रतिशत वितरण।

  • प्रवास के कारणों में शीर्ष तीन कारण निम्न हैं- विवाह (71.6%)‚ माता-पिता/परिवार के कमाने वाले सदस्य का प्रवास (9.2%) तथा रोजगार/बेहतर रोजगार की तलाश (4.8%)।

संकलन-शिवशंकर तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List