Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 26 2022

तमिलनाडु की फुटवियर एवं चमड़ा उत्पाद नीति

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 23 अगस्त, 2022 को तमिलनाडु ने फुटवियर और चमड़ा उत्पाद नीति, 2022 शुरू की।
  • मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने फुटवियर एण्ड लेदर सेक्टर कॉनक्‍लेव में नीति का शुभारंभ किया।
  • एशिया में जूते और चमड़े के उत्पादों के निर्माण के लिए राज्य को एक पसंदीदा गंतव्य  बनाने के लिए यह नीति शुरू की गई है।

नीति के प्रमुख बिंदु

  • इस नीति के तहत, राज्य सरकार ने पांच कंपनियों के साथ समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए, जिनमें शामिल हैं- केआईसीएल एसईएमएस; वैगन इंटरनेशनल; केआईसीएल; वाकारू और केआईसीएल (फुटवियर क्‍लस्टर) ।
  • यह नीति कुल 2,250 करोड़ रुपये के निवेश के साथ, 37,450 व्यक्तियों के लिए रोजगार सृजन करने में सक्षम होगी। 
  • पनपक्‍कम, रानीपेट में 400 करोड़ रुपये के मेगा फुटवियर मैन्युफैक्चरिंग पार्क की आधारशिला भी कॉनक्‍लेव में रखी गई।
  • नीति में जूतों के निर्माण के लिए एक अनुकूल इको-सिस्टम और लचीला आपूर्ति श्रृंखला बनाना, क्‍लस्टरों, पार्कों और सामान्य सुविधाओं के माध्यम से बुनियादी ढांचे का समर्थन करना, सहायक इकाइयों का समर्थन करके गैर-चमड़े के जूते और घटक पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ाना और एफएलपी इकाइयों के लिए व्यापार करने में आसानी में सुधार करना शामिल है। 
  • नीति, जूते और चमड़े के उत्पादों (Footwear and Leather Products:FLP) के निर्माण और एफएलपी डिजाइन स्टूडियो के प्रोत्साहन के लिए एक विशेष पैकेज की पेशकश करेगी।
  • तमिलनाडु औद्योगिक नीति (TNIP), 2021 के अनुसार, 'सहायता का संरचित पैकेज' के तहत 'बी' और 'सी' श्रेणी के जिलों (₹300 करोड़+) में 'बड़ी' एफएलपी निर्माण परियोजनाएं विशेष पैकेज के लिए पात्र होंगी।
  • जबकि 'ए' श्रेणी के जिलों (₹500 करोड़ +) में 'मेगा' परियोजनाएं के लिए पात्र होंगी। 
  • एफएलपी निर्माण की श्रम प्रधान प्रकृति को ध्यान में रखते हुए, प्रोत्साहन के लिए आवेदन करने वाली फर्मों के लिए पात्रता मानदण्ड में "एफएलपी विनिर्माण के लिए विशेष पैकेज" के तहत छूट दी जाएगी। 
  • लेदर एफएलपी और स्टैण्डअलोन नॉन-लेदर फुटवियर के लिए, पात्रता न्यूनतम 50 करोड़ रुपये का निवेश और 2,000 लोगों के न्यूनतम रोजगार की है। 
  • जबकि घटक क्‍लस्टर के लिए 300 करोड़ रुपये और 3,000 व्यक्ति और संबद्ध जूते उद्योग (क्‍लस्टर के बाहर) 150 करोड़ रुपये और 100 व्यक्तियों के लिए, नीति में कहा गया है।
  • 1 अप्रैल, 2022 से किए गए निवेश को प्रोत्साहन प्राप्त करने के लिए योग्य माना जाएगा।

टर्नओवर आधारित सब्सिडी 

  • एफएलपी निर्माण में परिसंपत्ति अनुपात के लिए उच्‍च कारोबार को ध्यान में रखते हुए, एक कारोबार आधारित सब्सिडी प्रत्येक वित्तीय वर्ष में कारोबार के प्रतिशत के रूप में लागू होगी। 
  • ‘बी’ श्रेणी के जिलों में चमड़ा एफएलपी के लिए यह 1.5 प्रतिशत और ‘सी’ श्रेणी के जिलों के लिए 1.75 प्रतिशत होगा; स्टैण्डअलोन गैर-चमड़े के जूते निर्माण के लिए 1.75 प्रतिशत और 2 प्रतिशत, और घटक समूहों के लिए, यह 1.5 प्रतिशत और 1.75 प्रतिशत होगा।
  • कंपनियां व्यावसायिक उत्पादन की तारीख से या उद्योग श्रेणी के प्रकार में संरचित पैकेज के लिए न्यूनतम पात्र निवेश प्राप्त करने पर, जो भी बाद में, संचयी निवेश के 4 प्रतिशत की सीमा तक, टर्नओवर-आधारित सब्सिडी का लाभ उठाने का विकल्प चुन सकती हैं। 
  • नीति में कहा गया है, कि 10 साल की अवधि के लिए प्रतिवर्ष पात्र अचल संपत्तियां।

पूंजी सब्सिडी

  • फुटवियर निर्माण या क्‍लस्टर के बाहर स्थित घटक उद्योगों से जुड़े उद्योग 10 प्रतिशत की निश्चित पूंजी सब्सिडी के लिए पात्र होंगे।
  • ये सब्सिडी 10 समान वार्षिक किश्तों में वितरित की जाने वाली योग्य अचल संपत्तियों में निवेश की जानी होगी।
  • नीति के अनुसार, कंपनी वाणिज्यिक उत्पादन की तारीख से या 150 करोड़ रुपये की न्यूनतम पात्र निवेश सीमा और 100 नौकरियों की न्यूनतम रोजगार सीमा, जो भी बाद में हो, से निश्चित पूंजी सब्सिडी का लाभ उठाने का विकल्प चुन सकती है।

 अन्य तथ्य 

  • तमिलनाडु का राष्ट्रीय चमड़ा विनिर्माण उत्पादन में 26 प्रतिशत और निर्यात में 48 प्रतिशत हिस्सा है। 
  • लुई वुइटन, जियोर्जियो अरमानी, गुच्ची, क्‍लार्क्स, कोल हान, डैनियल हेचटर, बुगाटी, प्रादा, ज़ारा, कोच, टॉमी हिलफिगर, हश पप्पीज़, एक्‍को, जॉन्सटन एण्ड मर्फी, ह्यूगो बॉस, पियरे कार्डिन और फ्‍लोर्सहाइम जैसे वैश्विक ब्राण्ड राज्य में मौजूद हैं। 
  • ये ब्राण्ड या तो राज्य में अपने उत्पाद को निर्मित करते हैं, या राज्य कच्‍चे माल के लिए इन ब्राण्डों के सोर्सिंग प्‍वॉइंट के रूप में कार्य करता है।

संकलन-मनीष प्रियदर्शी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List