Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 22 2022

राष्ट्रीय सोलर रूफटॉप पोर्टल

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 30 जुलाई, 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सोलर  रूफटॉप पोर्टल (National Solar Rooftop Portal)को लांच किया।
  • इसको उज्‍ज्‍वल भारत उज्‍ज्‍वल भविष्य-पाॅवर @2047(Ujjwal Bharat Ujjwal Bhavishya-Power@2047) कार्यक्रम के समापन अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लांच किया गया।
  • इस अवसर पर विद्युत मंत्रालय की पुनर्विकसित वितरण योजना का भी शुभारंभ किया गया।
  • साथ-ही-साथ एन.टी.पीसी (National Thermal Power Corporation : NTPC) की 5,200 करो़ड़ रुपये की हरित परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित की गई।

उद्देश्य 

  • रूफटॉप सोलर उपभोक्ताओं के आवेदनों के पंजीकरण से लेकर प्‍लांट के इंस्टालेशन (Installation) निरीक्षण तथा सब्सिडी (Subsidy) निर्गत किए जाने तक की समस्त प्रक्रिया को पारदर्शिता के साथ शीघ्रता से पूरा करना। 

राष्ट्रीय रुफटॉप सोलर पोर्टल    

  • यह एक राष्ट्रीय पोर्टल है।    
  • इस पोर्टल के माध्यम से आवासीय उपभेक्ताओं के लिए  रूफटॉप सोलर लगवाने के लिए आवेदन करना काफी आसान हो जाएगा। 
  • इसके माध्यम से उपभोक्ताओं को यह विकल्प उपलब्ध होगा कि वह वितरण कंपनी के साथ पंजीकृत किसी वेण्डर‚सोलर मॉडयूल्स (Solar Modules), सोलर इन्वर्टर (Solar Inverter) और अन्य प्‍लांट्‍स एवं उपकरण चुन सकेंगे।    
    • इसके द्वारा वितरण कंपनी के साथ वेण्डर्स के पंजीकरण की प्रक्रिया को सरल बनाया गया है।
  • इसमें पंजीकरण के लिए 2.5 लाख रुपये की पीजीबी (Personal Guarantee Bond : PGB) धनराशि के साथ एक घोषणा-पत्र जमा करना होगा। 
  • पोर्टल पर उपभोक्ताओं के बैंक खाते में सब्सिडी जारी करने के लिए आवेदन के पंजीकरण की प्रक्रिया पर ऑनलाइन निगरानी रखी जा सकेगी।
  • इसके अंतर्गत डिस्काॅम में वेण्डर्स के पंजीकरण अनिवार्य बनाने के अतिरिक्त उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए वेण्डर को कम-से-कम 5 वर्ष तक रूफटॉप सोलर सिस्टम का रख-रखाव करना होगा।   

प्रभाव

  • उपभोक्ताओं को सब्सिडी सीधे उनके बैंक खातों में भेजी जाएगी।
  • रूफटॉप सोलर के इंस्टालेशन में तेजी आएगी।
  • रूफटॉप सोलर प्रोग्राम फेज-2 के तहत 4000 मेगावाॅट के लक्ष्य को हासिल  किया जा सकेगा।
  • इस कार्यक्रम में 10 लाख परिवार लाभान्‍वित होंगे।
  • बिजली की बचत होगी‚हरित ऊर्जा का विस्तार होगा और राष्ट्रीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता मिलेगी।

 

अन्य संबंधित तथ्य 
परियोजनाओं का शुभारंभ

  • रामागुण्डम फ्‍लोटिंग सौर परियोजना (Ramagundam Floating Solar Project), तेलंगाना
    • यह भारत की सबसे बड़ी फ्‍लोटिंग सोलर पी.वी. परियोजना है।
    •  इसमें 4.5 लाख ‘मेक इन इण्डिया’ सोलर पी.वी. मॉडयूल लगाया गया है।
    •  यह 100 मेगावाॅट की परियोजना है।
  • कायमकुलम फ्‍लोटिंग सौर परियोजना (kayamkulam Floating Solar Project), केरल
    •  यह भारत की दूसरी सबसे बड़ी फ्‍लोटिंग सोलर पी.वी. परियोजना है। 
    •  इसमें 3 लाख ‘मेक इन इण्डिया’सोलर पी.वी. पैनल लगाए गए हैं। 
    • यह 92 मेगावाॅट की परियोजना है।

संकलन - संतोष कुमार पाण्डेय
 

 


Comments
List view
Grid view

Current News List