Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Aug 20 2022

स्माइल 75

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 12 अगस्त‚ 2022 को ’’स्माइल (SMILE) – 75 पहल’’ का शुभारंभ नई दिल्ली से किया गया। 
  • स्माइल का पूर्ण रूप ’आजिविका और उद्यम हेतु सीमांत व्यक्तियों के लिए समर्थन’ (Support for Marginalised Individuals for Livelihood and Enterprise : SMILE) है।

कार्यान्वयन

  • सरकार ने निराश्रयता (Destitution) और भिक्षावृत्ति (Beggary) की समस्या को दूर करने के उद्देश्य से इस पहल की शुरुआत की।
  • विभिन्न हितधारकों के समन्वित गतिविधियों के माध्यम से भिक्षावृत्ति के काम में लगे लोगों के लिए व्यापक पुनर्वास की एक रणनीति तैयार करना है। 

वित्तपोषण

  • संबंधित मंत्रालय ने वर्ष 2025-26 तक के वर्षों के लिए मुस्कान परियोजना कुल 100 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।

विवरण

  • सरकार पहल के अंतर्गत गैर-सरकारी संगठनों और अन्य हितधारकों के सहयोग से 75 नगर निगम भिक्षावृत्ति के काम में लगे हुए लोगों के लिए कई प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं को व्यापक रूप से आच्छादित करेगी। 
  • जिनमें परामर्श‚ जागरूकता‚ शिक्षा‚ कौशल विकास‚ आर्थिक संबंध और अन्य सरकारी कल्याण कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान केंद्रित किया जाएगा।
  • उल्लेखनीय है‚ कि इस पहल के अंतर्गत ’भिक्षावृत्ति में लगे हुए लोगों के लिए व्यापक पुनर्वास’ (Comprehensive Rehabilitation of Persons Engaged in the act of Begging) की एक उप-योजना शामिल है।

भिक्षावृत्ति में भारत की स्थिति

  • वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार‚ भारत में भिखारियों की कुल संख्या 4,13,670 है।
  • जिसमें 2,21,673 पुरुष और 1,91,997 महिला शामिल हैं।
  • जनगणना के अनुसार‚ भिक्षावृत्ति की स्थिति में सर्वाधिक संख्या पश्चिम बंगाल (81244) में है।

राज्यवार भिखारी व निराश्रयता की सूची


संकलन - आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List