Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 26 2022

तरंगा हिल-अंबाजी-अबू रोड रेल लाइन

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 13 जुलाई‚ 2022 को गुजरात में तरंगा हिल-अंबाजी-अबू रोड (Taranga Hill-Ambaji-Abu Road) नई रेल लाइन के निर्माण को मंजूरी प्रदान की गई। 
  • यह मंजूरी आर्थिक मामलों की मंत्रिमण्डलीय समिति द्वारा प्रदान की गई।

प्रमुख बिंदु

  • इस नई रेल लाइन की कुल लंबाई 116.65 किमी. है।
  • वर्ष 2026-27 तक इस परियोजना के पूर्ण होने की संभावना है।
  • यह परियोजना निर्माण के दौरान लगभग 40 लाख मानव दिवसों (40 Lakh Mandays) के लिए प्रत्यक्ष रोजगार पैदा करेगी।
  • इस परियोजना की अनुमानित लागत 2798.16 करोड़ रुपये है।
  • प्रस्तावित दोहरीकरण का संरेखण (Alignment) राजस्थान के सिरोही जिले और गुजरात के बनासकांठा और महेसाणा जिलों से होकर गुजरेगा।

तीर्थ स्थल

  • भारत में 51 शक्तिपीठों (Shaktipeeths) में से एक ’अंबाजी’ (गुजरात) प्रसिद्ध महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है।
  • यहां प्रतिवर्ष गुजरात के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों और विदेशों से लाखों भक्त आते हैं।
  • इसके अतिरिक्त 24 पवित्र जैन तीर्थंकरों (Holy Jain Tirthankaras) में से एक गुजरात के तरंगा हिल स्थित ’अजीतनाथ जैन मंदिर’ के दर्शन करने वाले श्रद्धालु भी इस रेल लाइन से लाभान्वित होंगे।
  • तरंगा हिल-अंबाजी-अबू रोड के मध्य यह नई रेलवे लाइन इन दो महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को रेलवे के नेटवर्क से जोड़ेगी।

महत्व

  • यह कनेक्टिविटी को बढ़ाएगी एवं गतिशीलता (Mobility) में सुधार करेगी‚ जिससे इस क्षेत्र का समग्र सामाजिक-आर्थिक (Socio-economic) विकास होगा। 
  • इसके साथ ही यह कृषि और स्थानीय सामानों की तीव्र आवाजाही की सुविधा भी प्रदान करेगी एवं गुजरात व राजस्थान के मध्य संपर्क को और बेहतर करेगा।
  • उल्लेखनीय है‚ कि यह परियोजना मौजूदा अहमदाबाद-अबू रोड रेलवे लाइन के लिए वैकल्पिक मार्ग भी प्रदान करेगी। 
  • गौरतलब है‚ कि यह रेल लाइन दो महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों को जोड़ती है‚ जिससे लाखों श्रद्धालुओं को यात्रा में आसानी होगी।

संकलन - आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List