Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 20 2022

पार्टनर्स इन ब्लू पैसिफिक

क्या है पार्टनर्स ब्लू पैसिफिक ?

  • पार्टनर्स इन ब्लू पैसिफिक प्रशांत क्षेत्रों मे स्थित द्वीपों का संरक्षण एवं इन क्षेत्रों में राजनीतिक तथा आर्थिक संबंधों को बढ़ाने के लिए प्रारंभ की गई एक पहल है।
  • इस पहल में शामिल देश हैं-
    • अमेरिका 
    • ऑस्ट्रेलिया 
    •  न्यूजीलैण्ड
    • जापान एवं 
    • यूनाइटेड किंगडम
  • इस पहल का उद्देश्य द्वीपीय राष्ट्रों (Island countries) के साथ सहयोग के माध्यम से प्रशांत क्षेत्र में समृद्धि, लचीलापन एवं सुरक्षा (Prosperity, Resilience and Security) को बढ़ावा देना है।
  • इसका तात्पर्य है, कि प्रशांत क्षेत्र में स्थित द्वीपीय देश ‘पार्टनर्स इन ब्‍लू पैसिफिक’ में शामिल देशों के साथ रणनीतिक संबंधों को बढ़ाकर चीन के आक्रामक प्रभाव को संतुलित कर सकते हैं।
  • अंतरराष्ट्रीय विश्लेषकों के अनुसार, ‘पैसिफिक आइलैण्ड्स फोरम’ इस दिशा में रणनीतिक भूमिका निभाएगा
  • पैसिफिक आइलैण्ड्‍स फोरम प्रशांत क्षेत्र का प्रमुख रणनीतिक और आर्थिक संगठन है।
  • इस संगठन की स्थापना वर्ष 1971 में हुई थी।
  • इस संगठन में 18 सदस्य शामिल हैं-ऑस्ट्रेलिया, कुक आइलैण्ड्‍स, माइक्रोनेशिया के संघीय राज्य, फिजी, फ्रेंच पोलिनेशिया, किरिबाती, नौरू, न्यू कैलेडोनिया, न्यूजीलैण्ड, नीयू, पलाऊ, पापुआ न्यू गिनी, मार्शल आइलैण्ड्‍स गणराज्य, समोआ, सोलोमन द्वीप, टोंगा, तुवालु एवं वनुआतू।

वर्तमान संदर्भ

  • जून, 2022 में अमेरिका एवं उसके सहयोगी देशों-ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैण्ड, जापान एवं यूनाइटेड किंगडम ने प्रशांत क्षेत्र के छोटे द्वीपीय राष्ट्रों के साथ ‘ प्रभावी एवं कुशल सहयोग’ हेतु ‘पार्टनर्स इन द ब्लू पैसिफिक’ नामक नई पहल शुरू की है।

प्रशांत क्षेत्र में चीन की गुटबंदी

  • हाल के वर्षों में चीन ने प्रशांत क्षेत्र में अपना प्रभाव स्थापित करने के लिए निम्नलिखित कदम उठाएं हैं-
  • चीन ने सोलोमन द्वीपसमूह के साथ सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • चीन का प्रशांत क्षेत्र में स्थित 10 देशों द्वारा ‘कॉमन डेवलपमेंट विजन’ को बनाने का प्रस्ताव।
  • इस प्रस्ताव के जरिए चीन चाहता है, कि ये 10 देश सुरक्षा से लेकर मत्स्यपालन के संदर्भ में भी चीन के साथ समझौता करें।
  • हिंद-चीन प्रशांत क्षेत्र में चीन का लगातार अतिक्रमण आदि।

पैसिफिक आइलैण्ड्‍स फोरम (Pacific Island Forum) एवं भारत 

  • प्रशांत द्वीपीय देशों के साथ भारत का संबंध उन देशों में रहने वाले प्रवासी भारतीयों की उपस्थिति से प्रेरित है।
  • ध्यातव्य है, कि ‘फिजी’ की लगभग 40 प्रतिशत आबादी भारतीय मूल की है एवं लगभग 3000 भारतीय वर्तमान में पापुआ न्यू गिनी में रहते हैं।
  • उल्‍लेखनीय है, कि भारत प्रशांत द्वीप फोरम (PIF) में फोरम के प्रमुख संवाद भागीदारों में से एक के रूप में भाग लेता है।
  • प्रशांत द्वीपीय देशों के साथ भारत के संबंधों को औपचारिक रूप देने हेतु वर्ष 2014 में भारत और प्रशांत द्वीपीय समूह सहयोग (India and Pacific Islands Cooperation)  का गठन किया गया।

संकलन-आलोक त्रिपाठी


 


Comments
List view
Grid view

Current News List