Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 16 2022

संयुक्त राष्ट्र महासागर सम्मेलन

परिचय

महासागर पृथ्वी के लगभग 70 प्रतिशत भाग को अच्छादित करते हैं। यह पृथ्वी का सबसे बड़ा जीवमण्डल है। तथा विश्व के 80 प्रतिशत जीवों का आश्रय स्थल है।

  • यह हमारे लिए आवश्यक ऑक्सीजन के 50 प्रतिशत की आपूर्ति करते हैं। जबकि 25 प्रतिशत कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन का अवशोषण करते हैं। 
  • ये सिर्फ पृथ्वी का फेफड़ा ही नहीं वरन सबसे बड़ा कार्बन सिंक है। इस प्रकार यह जलवायु परिवर्तन के प्रभाव में महत्वपूर्ण बफर क्षेत्र है। 

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 27 जून से 1जुलाई‚ 2022 के मध्य संयुक्त राष्ट्र महासागर सम्मेलन‚ 2022 (The United Ocean Conference, 2022) का आयोजन किया गया। 
  • इस सम्मेलन का आयोजन पुर्तगाल की राजधानी लिस्बन में पुर्तगाल एवं केन्या की सह-मेजबानी में हुआ। 
  • यह इस तरह का दूसरा सम्मेलन था।
  • प्रथम सम्मेलन वर्ष 2017 में संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय न्यूयॉर्क में संपन्न हुआ था। 

सम्मेलन का विषय (Theme)

  • सतत विकास के लक्ष्य 14 के कार्यान्वयन के लिए विज्ञान और नवाचार आधारित समुद्री कार्यवाही को बढ़ाना : सर्वेक्षण साझेदारी और समाधान (Scaling up Ocean action based on science and innovation for the implemention of the goal 14 : Stock Taking, Partnerships and Solution)।

सम्मेलन का उद्देश्य 

  • सामूहिक प्रयासों को बढ़ावा देना
  • महासागर के समक्ष उत्पन्न चुनौतियों के प्रभावी रूप से समाधान के लिए विज्ञान आधारित खोज करना।

चुनौतियों से निपटने के उपाय

  • महासागरों की वहनीयता (Sustainability) के लिए सामूहिक प्रयास किए जाने की आवश्यकता। 
  • साझा शोध क्षमता का विकास एवं आंकड़े‚ सूचना एवं प्रौद्योगिकी को साझा किया जाना चाहिए। 
  • वैज्ञानिक ज्ञान एवं नीति - निर्माण के बेहतर समन्वय की आवश्यकता पर जोर दिया जाना चाहिए। 

सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र द्वारा की गई अनुशंसाएं 

  • संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से समुद्रों की रक्षा व संरक्षण के लिए 4 अनुशंसाएं की हैं। 
    • सतत महासागर अर्थव्यवस्था में निवेश।
    • महासागरों की सफलता को दोहराना।
    •  लोगों की रक्षा तथा
    •  अधिक विज्ञान व नवाचार।

सम्मेलन में किए गए संकल्प

  • महासागर संरक्षण के लिए पेरिस जलवायु समझौता‚ 2015 को लागू करना। 
  • ग्लास्गो जलवायु पैक्ट‚ 2021 को लागू करना। 
  • लिस्बन घोषणा-पत्र के अनुसार‚ वर्ष 2020 के बाद दुनिया के लिए एक महत्वाकांक्षी‚ संतुलित व्यावहारिक प्रभावी स्फूर्त एवं रूपांतरित वैश्विक जैव विविधता फ्रेमवर्क का आह्वान किया गया। 
  • वर्ष 2040 तक कार्बन तटस्थ हानिकारक प्लास्टिक प्रदूषण में कमी का संकल्प। 
  • नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देना। 
  • सम्मेलन में 100 से अधिक देशों ने वैश्विक महासागरों के कम-से-कम 30 प्रतिशत हिस्से की रक्षा करने व उनका संरक्षण करने का स्वैच्छिक संकल्प लिया। 
  • महासागर अम्लीकरण से निपटने के उपायों पर शोध‚ जलवायु परिवर्तन सहन सक्षम योजना व निगरानी के लिए निवेश।
  • मिस्र के काहिरा में संयुक्त राष्ट्र के वार्षिक जलवायु सम्मेलन में वित्तपोषण और अनुकूलन पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

निष्कर्ष—

महासागरों को पृथ्वी की जीवन रक्षक प्रणाली के रूप में माना जाता है। इसके द्वारा आर्थिक सामाजिक तथा राजनैतिक गतिविधियों के संचालन में काफी सहयोग होता है। 

अन्य तथ्य—

  • विश्व महासागर दिवस— 8 जून को मनाया जाता है।
  • वर्ष 2021-2030 को सतत विकास के लिए महासागर का संयुक्त राष्ट्र दशक के रूप में घोषित किया गया है। 

​​​​​​​संकलन : संतोष पाण्डेय 


Comments
List view
Grid view

Current News List