Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 13 2022

75 वीं विश्व स्वास्थ्य सभा में आशा कार्यकर्ताओं को डब्ल्यू.एच.ओ. (WHO) पुरस्कार

परिचय

  • 22-28 मई‚ 2022 के मध्य जेनेवा‚ स्विट्‌जरलैण्ड में 75वीं विश्व स्वास्थ्य सभा (World Health Assembly) का आयोजन किया गया।
    • गौरतलब है‚ कि कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से यह पहली व्यक्तिगत उपस्थिति स्वास्थ्य सभा है। 
  • विश्व स्वास्थ्य सभा‚ 2022 का विषय (Theme) शांति वâे लिए स्वास्थ्य‚ स्वास्थ्य के लिए शांति (Health for peace, peace for health) था। 
  • इस सभा में डब्ल्यू.एच.ओ. (WHO) के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस (Dr. Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने वैश्विक स्वास्थ्य को आगे बढ़ाने‚ क्षेत्रीय स्वास्थ्य मुद्दों के नेतृत्व और प्रतिबद्धता का प्रदर्शन देने के लिए ग्लोबल हेल्थ लीडर्स अवॉड्‌र्स (Global Health Leaders Award) की घोषणा की।
  • यह पुरस्कार छह (6) अलग व्यक्ति/समूह को प्रदान किया गया। 

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 22 मई‚ 2022 को विश्व स्वास्थ्य संगठन की 75वीं स्वास्थ्य सभा में भारत के आशा कार्यकर्ताओं (मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता) को ग्लोबल हेल्थ लीडर्स अवॉड्‌र्स देने की घोषणा की गई। 
  • यह पुरस्कार उनको डब्ल्यू.एच.ओ. द्वारा कोविड-19 महामारी के दौरान समुदाय को स्वास्थ्य देखभाल से जोड़ने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के लिए दिया गया। 

प्रमुख बिंदु

  • वैश्विक स्वास्थ्य लीडर्स पुरस्कार कुल छह प्राप्तकर्ताओं को दिया गया- 

(i)    आठ स्वयंसेवी पोलियो कार्यकर्ता को जिनकी फरवरी‚ 2022 में अफगानिस्तान में बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।
(ii)    डॉ. पॉल फार्मर (Dr. Paul farmar) (पार्टनर्स इन हेल्थ वैश्विक संगठन के सह-संस्थापक) को हाशिए के लोगों को सेवाएं प्रदान करने के लिए उनके योगदान हेतु।
(iii)    डॉ. अहमद हंकिर (Dr. Ahmed Hankir) को उनके कलंक विरोधी कार्यक्रम (Anti-Stigma Programme) के लिए।
(iv)    वॉलीबॉल खिलाड़ी लुडमिला सोफिया ओलिवेरा वेरेला (Ludmila Sofia Oliveira Verela) को‚ युवाओं में जोखिम भरे व्यवहार की जगह खेलों तक पहुंच प्रदान करने की सुविधा के लिए।
(v)    योहेई सासाकावा (Yohei Sasakaw) को कुष्ठ रोग और इससे जुड़े कलंक के खिलाफ उनकी वैश्विक लड़ाई के लिए। 
(vi)    आशा (ASHA :- Accredited Social Health Activist)

  • आशा कार्यकर्ताओं ने कोविड-19 के दौरान निम्नलिखित भूमिका का वहन किया-

नोट- वर्तमान में‚ देशभर में लगभग दस लाख आशा कार्यकर्ता हैं।

आशा कार्यकर्ता 

  • पहली बार‚ वर्ष 2005 में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (National Rural Health Mission:- NRHM) में आशा कार्यकर्ताओं की भूमिका को स्थापित किया गया।
    • यह NRHM के प्रमुख घटकों में से एक है।
  • संबंधित गांव की निवासी महिला‚ जो विवाहित‚ विधवा या तलाकशुदा 25 से 45 वर्ष की आयु वर्ग में दसवीं कक्षा तक योग्य है‚ को ग्राम पंचायत (स्थानीय सरकार) द्वारा आशा कार्यकर्ता के रूप में चुना जाता है।

नोट- उपयुक्त योग्यता उपलब्ध न होने पर इन मानदण्डों में ढील भी दी जा सकती है।

  • आमतौर पर‚ प्रति ‘‘1000 जनसंख्या पर 1 आशा’’ कार्यकर्ता होती है।
    • हालांकि‚ जनजातीय पहाड़ी और रेगिस्तानी क्षेत्रों में काम के बोझ के आधार पर इस मानदण्ड को 1 आशा प्रति गांव तक शिथिल किया जा सकता है।
  • आशा कार्यकर्ता महिलाओं और बच्चों सहित ग्रामीण आबादी के वंचित वर्गों की स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए संपर्क के अग्रणी पंक्ति के रूप में कार्य करती है। 

निष्कर्ष 

ऐसे समय में जब दुनिया असमानता‚ संघर्ष‚ खाद्य‚ असुरक्षा‚ जलवायु संकट और एक महामारी के अभूतपूर्व अभिसरण का सामना कर रही है‚ यह पुरस्कार उन लोगों को मान्यता देता है‚ जिन्होंने दुनियाभर में स्वास्थ की रक्षा और बढ़ावा देने में उत्कृष्ठ योगदान दिया है।

  • इस पुरस्कार विजेताओं में आजीवन समर्पण‚ अथक‚ वकालत‚ समानता के प्रति प्रतिबद्धता और मानव की निस्वार्थ  सेवा शामिल है।  

संकलन : पंकज तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List