Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 07 2022

स्टॉकहोम + 50 सम्मेलन

पृष्ठभूमि

  • 5-16 जून‚ 1972 के मध्य स्वीडन के स्टॉकहोम में मानव पर्यावरण पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन का आयोजन किया गया था।
  • वैश्विक पर्यावरण की स्थिति पर यह पहला वैश्विक सम्मेलन था। 
  • इस सम्मेलन का विषय 'Only One Earth' था।
  • इस सम्मेलन में 122 देशों ने भाग लिया था।
  • संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) इस सम्मेलन के परिणामस्वरूप गठित हुआ था।
  • स्टॉकहोम घोषणा में 26 सिद्धांत शामिल थे।
  • इस घोषणा में पर्यावरण मुद्दों को अंतरराष्ट्रीय चिंताओं में सबसे आगे रखा गया और दुनिया के लोगों के बेहतर जीवन‚ आर्थिक विकास‚ वायु‚ जल और महासागर में प्रदूषण जैसे विषयों पर विकसित और विकासशील देशों के बीच अंतरराष्ट्रीय मंच पर संवाद की शुरुआत हुई।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 2-3 जून‚ 2022 के मध्य स्वीडन के स्टॉकहोम में ’स्टॉकहोम + 50’ सम्मेलन का आयोजन किया गया।
  • इस अंतरराष्ट्रीय बैठक का आयोजन स्वीडन और केन्या के सहयोग से किया गया।
  • इस सम्मेलन का आयोजन वर्ष 1972 में आयोजित ’मानव पर्यावरण पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन’ के 50 वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में किया गया।
  • इस सम्मेलन का विषय ’’स्टॉकहोम + 50 : सभी की समृद्धि के लिए एक सक्षम ग्रह - हमारी जिम्मेदारी‚ हमारा अवसर’’ (Stockholm + 50 : A Healthy Planet for the Prosperity of All - Our Responsibility, Our Opportunity) था।

सम्मेलन के महत्वपूर्ण बिंदु

  • सम्मेलन में चार पूर्ण सत्र शामिल थे‚ जिसमें नेताओं ने 2030 एजेण्डा तथा सतत विकास लक्ष्यों के कार्यान्वयन में तेजी लाने के लिए पर्यावरणीय कार्रवाई का आह्वान किया।
  • सम्मेलन में निम्नलिखित बिंदुओं पर चर्चा की गई :
  • वर्ष 1972 से मानव पर्यावरण में प्रगति
  • ’ट्रिपल प्लेनेटरी क्राइसिस’ की चुनौती।
  • राजनीतिक इच्छाशक्ति दिखाने तथा देशों द्वारा अपनी वचनबद्धताओं का सम्मान करने की आवश्यकता।
  • आर्थिक संकट
  • विकासशील देशों को वित्तीय और तकनीकी सहायता प्रदान करने का महत्व
  • कोविड-19 महामारी का असर
  • यूक्रेन पर रूसी आक्रमण सहित युद्ध और संघर्ष 
  • राष्ट्रीय और क्षेत्रीय कार्रवाई

संकलन - वृषकेतु राय


 


Comments
List view
Grid view

Current News List