Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jul 07 2022

NHAI का सड़क निर्माण में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

परिचय

  • भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण का गठन भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग अधिनियम‚ 1988 ’’राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास‚ अनुरक्षण और प्रबंध के लिए एक प्राधिकरण का गठन करने तथा उससे संबद्ध या उसके आनुषंगिक विषयों के लिए उपबंध करने हेतु  अधिनियम’’ के द्वारा किया गया था।
  • भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को‚ अन्य छोटी परियोजनाओं सहित‚ राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना का काम सौंपा गया है जिसमें 50,329 किमी. राष्ट्रीय राजमार्गों का विकास‚ अनुरक्षण और प्रबंधन करना शामिल है।
  • राष्ट्रीय राजमार्ग देश के अंदर एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्रियों के आवागमन और माल को लाने-ले जाने हेतु महत्वपूर्ण सड़कें होती हैं।
  • ये सड़कें देश में लंबाई और चौड़ाई में आर-पार फैली हुई हैं तथा राष्ट्रीय और राज्यों की राजधानियों‚ प्रमुख पत्तनों और रेल जंक्शनों‚ सीमा से लगी हुई सड़कों और विदेशी राजमार्गों को जोड़ती हैं।
  • फिलहाल देश में राष्ट्रीय राजमार्गों (एक्सप्रेस मार्गों सहित) की कुल लंबाई 1,32,499 किमी. है जबकि राजमार्ग/एक्सप्रेस मार्ग सड़कों की कुल लंबाई का केवल लगभग 1.7 प्रतिशत है और इन सड़कों पर 40 प्रतिशत यातायात चलता है।
  • भारत की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर और प्रधानमंत्री द्वारा घोषित आजादी के अमृत महोत्सव के तहत‚ भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (National Highway Authority of India : NHAI) द्वारा सड़क निर्माण में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guiness World Record) की उपलब्धि हासिल की गई है।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 8 जून‚ 2022 को केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अंतर्गत भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने बिटुमिनस कंक्रीट सड़क निर्माण में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज किया।
  • यह उपलब्धि राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway : NH)-53 पर एक ही लेन में 75 किलोमीटर बिटुमिनस कंक्रीट सड़क का निर्माण रिकॉर्ड 105 घंटे‚ 33 मिनट में बनाकर हासिल  की गई।

प्रमुख बिंदु

  • सड़क निर्माण महाराष्ट्र के अमरावती से अकोला जिलों के बीच एनएच (NH)-53 पर किया गया।
  • 75 किलोमीटर सिंगल लेन निरंतर बिटुमिनस कंक्रीट रोड की कुल लंबाई 37.5 किलोमीटर टू-लेन (Two-Lane) पक्की शोल्डर रोड के बराबर है।
  • मंत्रालय के अनुसार‚ यह कार्य 3 जून‚ 2022 को सुबह 7:27 बजे शुरू हुआ और 7 जून‚ 2022 को 5 बजे पूरा कर लिया गया।
  • इस परियोजना में 2070 मीट्रिक टन बिटुमेन (Bitumen) से युक्त 36,634 मीट्रिक टन बिटुमिनस मिश्रण (Bituminus Mixuture) का उपयोग किया गया है।
  • ध्यातव्य है‚ कि इससे पूर्व सबसे लंबी सड़क निर्माण का रिकॉर्ड 25.275 किमी. है। जो दोहा‚ कतर के नाम पर गिनीज बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड में वर्ष 2019 में दर्ज किया गया था।
  • इस सड़क के निर्माण में कुल 10 दिन का समय लगा था।

अन्य महत्वपूर्ण बिंदु

  • गौरतलब है‚ कि अमरावती से अकोला खण्ड एनएच-53 का हिस्सा है‚ जो एक महत्वपूर्ण गलियारे से जुड़ता है।
    • यह गलियारा कोलकाता‚ रायपुर‚ नागपुर और सूरत जैसे प्रमुख शहरों को जोड़ता है।
  • वर्ष 2021 में एनएचआई ने 18 घंटे के रिकॉर्ड समय में विजयपुर-सोलापुर (एनएच-52) के बीच 25.54 किलोमीटर के फोर-लेन खण्ड की एकल लेन का निर्माण कर एक दुर्लभ उपलब्धि हासिल की थी।
    • जिसे लिम्का बुक ऑफ रिकॉड्‌र्स (Limca Book of Records) में जोड़ा गया था।

विश्व में सड़क मार्ग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • ज्ञातव्य है‚ कि विश्व का सबसे बड़ा सड़क नेटवर्क संयुक्त राज्य अमेरिका में है।
    • वहीं‚ वर्तमान में भारत का स्थान सड़क नेटवर्क में दूसरा है।
  • भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) 44 है‚ जिसकी कुल लंबाई 3745 किलोमीटर है।
    • यह उत्तर में श्रीनगर से दक्षिण में कन्याकुमारी तक विस्तारित है। इसका पुराना नाम एनएच-7 था।
  • वहीं‚ सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग 47-A है।
    • यह एनएच - 966 B के नाम से भी जाना जाता है।
    • राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच - 966 B (NH-47A) कोच्चि‚ केरल में कुंदनूर और विलिंगडन द्वीप के बीच 5.9 किमी. लंबा है।

शीर्ष तीन राज्य राष्ट्रीय राजमार्ग लंबाई‚ रैंक

संकलन—पंकज तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List