Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 22 2022

E-10 का लक्ष्य प्राप्त

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • जून, 2022 में भारत ने पेट्रोल में 10 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण का लक्ष्य प्राप्त कर लिया है।
  • उल्‍लेखनीय है, कि भारत ने इस लक्ष्य को तय समय-सीमा, नवंबर, 2022 से पांच माह पूर्व हासिल कर लिया है।
  • यह घोषणा विश्व पर्यावरण दिवस, 2022 (5 जून) के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई।
  • विदित हो, कि भारत अमेरिका, ब्राजील, यूरोपीय संघ (EU)  और चीन के बाद इथेनॉल का विश्व में पांचवां सबसे बड़ा उत्पादक है।

पृष्ठभूमि

  • वर्ष 2009 में नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा ‘राष्ट्रीय जैव-ईंधन नीति’ (National Policy on Biofuels) को लागू किया गया था।
  • 4 जून, 2018 को पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा इस नीति के स्थान पर ‘‘राष्ट्रीय जैव-ईंधन नीति, 2018’’ को अधिसूचित किया गया।
  • वर्ष 2018 की नीति के तहत, वर्ष 2030 तक पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण का (जिसे E-20 भी कहा जाता है) लक्ष्य रखा गया था।
  • जून, 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा‘‘भारत में इथेनॉल मिश्रण, 2020-25’’ नाम से एक रोडमैप भी जारी किया गया था।
  • इस रोडमैप के तहत, नवंबर, 2022 तक 10 प्रतिशत मिश्रण के मध्यवर्ती लक्ष्य का उल्‍लेख किया गया है।
  • इस क्षेत्र में उत्साहजनक प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने वर्ष 2018 की नीति में महत्वपूर्ण संशोधन किए।
  • 18 मई, 2022 को केंद्रीय मंत्रिमण्डल द्वारा इन संशोधनों को मंजूरी प्रदान की गई।
  • संशोधन के तहत, लक्ष्य (वर्ष 2030 तक 20 % इथेनॉल का मिश्रण) की समय-सीमा को वर्ष 2030 से घटाकर वर्ष 2025-26 किया गया।

उपलब्धि

  • E-10  (पेट्रोल में 10% इथेनाॅल मिश्रण) लक्ष्य को हासिल करते हुए कार्बन उत्सर्जन में 27 लाख टन की कमी दर्ज की गई।
  • विदेशी मुद्रा खर्च में लगभग 41, 500 करोड़ रुपये की बचत भी की गई।
  • इसके अतिरिक्त किसानों को लगभग 40,600 करोड़ रुपये का शीघ्र भुगतान भी किया गया।

इथेनॉल (Ethanol)

  • यह एक रंगहीन यौगिक एथिल अल्कोहल (Ethyle alcohol)  है।
  • इथेनॉल का निर्माण मण्ड (Starch) और शुगर के किण्वन (Fermentation) से किया जाता है।
  • आमतौर पर  गन्‍ना, मक्‍का और शर्करा जैसे मोटे अनाजों (कृषि उत्पाद) का उपयोग इथेनॉल्‍ा निर्माण में किया जाता है।
  • चूंकि यह पादप आधारित उत्पाद है; इसलिए इसे नवीकरणीय ईंधन (Renewable fuel) माना जाता है। 

इथेनॉल मिश्रित पेट्रोल (Ethanol Blended Petrol: EBP)

  • उल्‍लेखनीय है, कि पेट्रोल (Gasoline) की तुलना में इथेनॉल का ऑक्टेन नंबर अधिक है।
  • जिसके चलते यह पेट्रोल के ऑक्टेन नंबर में सुधार करता है।
  • इथेनॉल में ऑक्सीजन (Oxygen)  की उपलब्धता के चलते, यह ईंधन के पूर्ण दहन में मदद करता है।

इथेनॉल्‍ा मिश्रण का महत्व

  • यह किसानों और चीनी मिलों के लिए लाभदायक है।
  • यह भारत की ऊर्जा आयात निर्भरता काे कम करेगा।
    • इस प्रकार कच्‍चे तेल के आयात बिल को कम करने में मदद मिलेगी।
  • इसके अतिरिक्त प्रदूषण में गिरावट दर्ज होगी।
  • गौरतलब है, कि बॉयोमास से बने इथेनॉल के दहन को वायुमण्डलीय दृष्टिकोण से कार्बन माना जाता है।

​​​​​​​

​​​​​​​

संकलन- आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List