Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 20 2022

श्रेष्ठ योजना

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 3 जून, 2022 को केंद्रीय न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने लक्षित क्षेत्रों में उच्‍च विद्यालयों के छात्रों के लिए आवासीय शिक्षा योजना (श्रेष्ठ) का शुभारंभ किया।

श्रेष्ठ योजना क्‍या है ?

  • ‘‘स्कीम फॉर रेजिडेंशियल एजुकेशन फॉर स्टूडेंट्‍स इन हाईस्कूल इन टारगेटेड एरियाज’’ (Scheme for Residential Education For Students in High School in Targeted Areas-SHRESHTA), इस योजना का पूरा नाम है।
  • आवासीय शिक्षा योजना (श्रेष्ठ) का उद्देश्य लक्षित क्षेत्रों में उच्‍च विद्यालयों में छात्रों के लिए :
    • सरकार की विकास पहल की पहुंच बढ़ाना।
    • शिक्षा के क्षेत्र में सेवा से वंचित अनुसूचित जातियों के प्रमुख क्षेत्रों में अंतर को भरने के लिए स्वैच्‍छिक संगठनों का सहयोग लेना।
    • अनुसूचित जातियों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान एवं समग्र विकास के लिए अनुकूल वातावरण तैयार करना।
    • अनुसूचित जातियों के मेधावी छात्रों को उच्‍च गुणवत्ता वाली शिक्षा तक पहुंच प्रदान करना, ताकि वे भविष्य के अवसरों का पता लगा सकें।

योजना के लिए पात्रता एवं लाभार्थी

  • अनुसूचित जाति समुदायों के ऐसे गरीब छात्र जिनके माता-पिता की वार्षिक आय 2.5 लाख रुपये तक हो, तो ऐसे छात्र कक्षा 9वीं से कक्षा 12वीं तक की नि:शुल्क आवासीय शिक्षा प्राप्त करने के लिए पात्र होंगे।
  • राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (N.T.A) द्वारा ‘श्रेष्ठ योजना’ के लिए राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा का पारदर्शी आयोजन प्रत्येक वर्ष किया जाएगा। इस परीक्षा के माध्यम से 3000 छात्रों का चयन किया जाएगा।
  • चयनित छात्रों को 12वीं तक की शिक्षा पूरी करने के लिए 9वीं और 11वीं कक्षा में सी.बी.एस.ई. से संबद्ध सर्वश्रेष्ठ निजी आवासीय विद्यालयों में प्रवेश दिया जाएगा।
  • 12वीं के बाद की पढ़ाई के लिए एेसे छात्रों को पर्याप्त वित्तीय सहायता के साथ ही साथ पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना या मंत्रालय की उच्‍च श्रेणी की शिक्षा योजना से जोड़ा जा सकता है।

योजना से संबंधित अन्य तथ्य

  • इस योजना के लिए स्कूलों के चयन का मानक-
  • स्कूलों का कम-से-कम पिछले 5 वर्षों से अस्तित्व में होना।
  • पिछले 3 वर्षों से स्कूलों के बोर्ड के परिणाम कक्षा 10 और 12 में 75 प्रतिशत से अधिक होना।
  • स्कूलों के पास कक्षा 9वीं और 11वीं में अनुसूचित जाति के छात्रों के अतिरिक्त प्रवेश के लिए पर्याप्त बुनियादी ढांचा का होना।
  • इस योजना के तहत, चयनित छात्रों को किसी भी कठिनाई से बचने और स्कूलों की सुविधा के लिए योजना में एक बार में छात्रावास शुल्क सहित पूरे साल के शुल्क के भुगतान के प्रावधानों को शामिल किया गया है।
  • ‘‘श्रेष्ठ योजना’’ के अंतर्गत छात्र अपनी शिक्षा के लिए देशभर में किसी भी स्कूल का चयन कर सकते हैं।
  • चयनित स्कूल के नए वातावरण में छात्रों को खुद को ढालने के लिए 3 महीने की अवधि के लिए ब्रिज कोर्स का प्रावधान भी किया गया है।
  • चयनित छात्रों को छात्रवृत्ति से स्कूल शुल्क और छात्रावास शुल्क दिया जाएगा, जिसकी अधिकतम सीमा निम्नलिखित है-

संकलन-रमेश चौधरी

 


Comments
List view
Grid view

Current News List