Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 14 2022

राज्य खाद्य सुरक्षा सूचकांक‚ 2021-22

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 7 जून‚ 2022 को विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. मनसुख माण्डविया द्वारा ‘राज्य खाद्य सुरक्षा सूचकांक (State Food Safety Index : SFSI)‚ 2021-22 जारी किया गया।
  • यह इस सूचकांक का चौथा संस्करण है।

पृष्ठभूमि

  • राज्य खाद्य सुरक्षा सूचकांक को ‘भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण’ (Food Safety and Standards Authority of India : FSSAI) द्वारा प्रतिवर्ष जारी किया जाता है।
  • इस सूचकांक का प्रथम संस्करण वर्ष 2019 में विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस (7 जून) के अवसर पर जारी किया गया था।

उद्देश्य

  • आम जनता को सुरक्षित खाद्य उपलब्ध कराने के ‘खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम’ (Food Safety & Standards Act) के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के मध्य सकारात्मक प्रतिस्पर्धी वातावरण का सृजन करना।

मानदण्ड

  • यह सूचकांक पिछले वित्तीय वर्ष में राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के सुरक्षित खाद्य उपलब्ध कराने में समग्र प्रदर्शन पर आधारित है।
  • इस सूचकांक में खाद्य सुरक्षा के निम्न पांच प्रमुख मानकों के आधार पर राज्यों के प्रदर्शन का मूल्यांकन किया गया है-
  1. मानव संसाधन और संस्थागत आंकड़े (Human Resources and Institutional Data) (20% भारांश)
  2. अनुपालन  (Compliance) (30% भारांश)
  3. प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण  (Training and Capacity Building) (10% भारांश)
  4. खाद्य परीक्षण-आधारभूत संरचना और निगरानी  (Food Testing Infrastructure and Surveillance) (20% भारांश)
  5. उपभोक्ता सशक्तीकरण  (Consumer Empowernment) (20% भारांश)
  • इस सूचकांक में राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों को निम्न तीन श्रेणियों में बांटा गया है-
  1. बड़े राज्य
  2. छोटे राज्य तथा
  3. केंद्रशासित प्रदेश

रैंकिंग

  • बड़े राज्यों का स्थान
  • कुल प्राप्तांकों के आधार पर शीर्ष तीन बड़े राज्य-

  • बिहार 16वें (30 स्कोर) स्थान पर है‚ जबकि अंतिम  स्थान (17वें) पर आंध्र प्रदेश है।
  • बड़े राज्य की श्रेणी में उत्तर प्रदेश को इस सूचकांक मे कुल 54.5 अंकों के साथ 8वां स्थान प्राप्त हुआ है।
  • मध्य प्रदेश (5वें)‚ झारखण्ड (12वें)‚ उत्तराखण्ड (7वें)‚ राजस्थान (10वें) स्थान पर हैं।

छोटे राज्यों का स्थान

  • कुल प्राप्तांकों के आधार पर शीर्ष तीन छोटे राज्य-

  • छोटे राज्यों की श्रेणी में कुल 21 अंकों के साथ अरुणाचल प्रदेश अंतिम स्थान (8वें) पर है।

केंद्रशासित प्रदेशों की रैंकिंग

  • कुल प्राप्तांकों के आधार पर शीर्ष तीन केंद्रशासित प्रदेश-

  • इस श्रेणी में कुल 16 अंकों के साथ लक्षद्वीप अंतिम स्थान (8वें) पर है।

संकलन-मनीष प्रियदर्शी

 

 

 


Comments
List view
Grid view

Current News List