Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 08 2022

क्‍वाड लीडर्स की शिखर बैठक, 2022

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 24 मई, 2022 को जापान के टोक्यो में क्‍वाड देशों की शिखर बैठक संपन्‍न हुई, जिसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाग लिया।
  • सम्मेलन में भाग लेने वाले अन्य लीडर्स में अमेरिका के राष्ट्रपति जोसेफ बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्‍बनीस तथा जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा थे।
  • ध्यातव्य है, कि क्‍वाड लीडर्स की यह दूसरी व्यक्तिगत बैठक थी। पहली व्यक्तिगत बैठक सितंबर, 2021 में संपन्‍न हुई थी।
  • गौरतलब है, कि दो व्यक्तिगत बैठकों को लेकर क्‍वाड लीडर्स की अब तक कुल चार बैठकें आयोजित की जा चुकी हैं; मार्च, 2021 में पहली वर्चुअल बैठक; सितंबर, 2021 में वाशिंगटन डी.सी. में शिखर बैठक तथा मार्च, 2022 में तीसरी वर्चुअल बैठक आयोजित की गई थी।

शिखर बैठक के महत्वपूर्ण बिंदु

  • शांति और स्थिरता :  क्‍वाड समूह के नेताओं ने यूक्रेन संकट पर अपनी साझा चिंता व्यक्त की तथा क्षेत्र में शांति और स्थिरता को बनाए रखने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की।
  • म्यांमार में लोकतंत्र की बहाली तथा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अनुरूप कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की।
  • सम्मेलन में यू.एन.एस.सी. के प्रस्ताव संख्या 2593 (2021) की भी पुष्टि की गई, जिसमें आतंकी गतिविधियों हेतु अफगान क्षेत्र का भविष्य में पुन:  इस्तेमाल न किए जाने की मांग की गई है।

कोविड-19 और वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा

  • सम्मेलन में कोविड-19 टीकों की वैश्विक आपूर्ति को ध्यान में रखते हुए क्‍वाड नेताओं ने टीकों के सुरक्षित, प्रभावी, किफायती और गुणवत्तापूर्ण आपूर्ति को सुनिश्चित करने के साथ ही कोविड-19 टीकों को साझा करने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की।
  • क्‍वाड नेताओं ने सामूहिक रूप से कोवैक्स ए.एम.सी. (COVAX AMC)  को लगभग 5.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर देने का वादा किया, जो सरकारी दानदाताओं के कुल योगदान का लगभग 40 प्रतिशत है। 
  • सम्मेलन में समूह के नेताओं ने अब तक 670 मिलियन से अधिक खुराक, जिसमे 265 मिलियन खुराक अकेले हिंद प्रशांत क्षेत्र के देशों को देने की घोषणा की।
  • सम्मेलन में समूह के नेताओं ने ‘‘कोविड 19 प्रायोरिटीज्ड ग्‍लोबल एक्शन प्‍लान फॉर एनहांस्ड एंगेजमंेट’’ और कोवैक्स वैक्सीन डिलीवरी पार्टनरशिप सहित अपने प्रयासों में समन्‍वय लाने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की।

आधारभूत संरचना

  • सम्मेलन में कोविड-19 महामारी की वजह से कई देशों के ऋणग्रस्त होने के मुद्दे को संबोधित करने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की गई।
  • अगले 5 वर्षों में हिंद-प्रशांत क्षेत्र में बुनियादी ढांचे में 50 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक की सहायता और निवेश का विस्तार करने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की गई। 
  • सम्मेलन में क्षेत्रीय और डिजिटल कनेक्टिविटी, स्वच्‍छ ऊर्जा, ऊर्जा से संबंधित सुविधाओं में आपदा लचीलापन सहित जलवायु लचीलापन जैसे क्षेत्रों में सहयोग को गहरा करने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की गई।

जलवायु

  • क्‍वाड नेताओं ने नवीनतम आई.पी.सी.सी. रिपोर्टों के मुताबिक जलवायु परिवर्तन को संबोधित करने की तत्‍काल आवश्यकता को स्वीकार करते हुए पेरिस सम्मेलन (2015) में की गई प्रतिबद्धता को दृढ़ता से लागू करने तथा CoP -26 के परिणामों के मुताबिक कदम उठाने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की।
  • सम्मेलन में ‘‘क्‍वाड क्‍लाइमेट चेंज एडाप्टेशन एण्ड मिटिगेशन पैकेज’’ (Quad Climate Change Adaptation and Mitigation Package : CHAMP) को लांच किया गया, जो दो थीम ‘‘शमन’’ और ‘‘अनुकूलन’’ पर आधारित है।
  • सम्मेलन में जलवायु परिवर्तन पर ऑस्ट्रेलियाई सरकार की प्रतिबद्धता का स्वागत किया गया, जिसमें वर्ष 2050 तक नेट जीरो प्राप्त करने के लिए कानून बनाने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की गई है।
  • क्‍वाड फेलोशिप
  • सम्मेलन में ‘‘क्‍वाड फेलोशिप’’ की शुरुआत की गई, जिसके तहत प्रतिवर्ष 100 छात्र STEM (Academic Excellence in Science, Technology, Engineering, or Mathematics)  क्षेत्र में स्नातक डिग्री हासिल करने के लिए दाखिला पा सकेंगे। क्‍वाड फेलो की पहली कक्षा वर्ष 2023 की तीसरी तिमाही में शुरू होगी।

संकलन-वृषकेतु रॉय

 


 


Comments
List view
Grid view

Current News List