Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 08 2022

देश का 52वां बाघ अभयारण्य

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 16 मई, 2022 को केंद्रीय पर्यावरण मंत्री द्वारा राजस्थान में रामगढ़ विषधारी अभयारण्य को बाघ अभयारण्य के रूप में अधिसूचित किया गया।
  • यह देश का 52वां बाघ अभयारण्य है।
  • नव अधिसूचित रामगढ़ विषधारी टाइगर रिजर्व में दक्षिण में मुकंुदर हिल्स टाइगर रिजर्व और पूर्वोत्तर में रणथंभौर टाइगर रिजर्व के बीच बाघ आवास शामिल है।
  • ज्ञातव्य है कि वर्ष 2021 (फरवरी) में तमिलनाडु सरकार द्वारा श्री विल्‍लिपुथुर-मेगामलाई अभयारण्य को बाघ अभयारण्य के रूप में अधिसूचित किया गया था।

लाभ

  • इस 52वें बाघ अभयारण्य की स्थापना से बाघो के संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।
  • यह अभयारण्य बाघ संरक्षण के अलावा पारिस्थितिकी तंत्र के साथ-साथ फूलों की प्रजातियों के लिए भी प्रसिद्ध है।
    • इसके साथ ही अभयारण्य बाघ, तेदुआं, भेड़िया भालू, सुनहरा सियार, चिकांरा, नील गाये लोमड़ी जैसे कई दुर्लभ जानवर सहित 500 प्रकार के वन्यजीव आवास के जाना जाता है।
  • नया टाइगर रिजर्व रणथभौर में बाघों की तेजी से बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने में मदद करेगा।
  • रामगढ़ विषधारी बाघ अभयारण्य ज्यादातर बूंदी जिले में और भीलवाडा और कोटा जिलों में स्थित है।

  • वर्ष 1973 में बाघ के संरक्षण हेतु भारत-सरकार द्वारा ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ आरंभ किया गया था।
  • नवीनतम बाघ गणना के अनुसार, वर्ष 2018 में भारत में बाघों की संख्या 2967 थी। भारत में बाघों की सर्वाधिक संख्या मध्य प्रदेश (526 बाध) में दर्ज की गयी।
  • सर्वाधिक बाघ अभराण्य मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र में है, जिनकी संख्या 6 है।

भौगोलिक क्षेत्र

  • बाघो की संख्या अध्ययन करने के लिए भारत सरकार ने भारत सरकार ने भारत के भौगोलिक क्षेत्र को निम्न 5 भागो में विभाजित किया है-
  • शिवालिक की पहाड़िया एवं गंगा का मैदान क्षेत्र 
  • मध्य भारतीय क्षेत्र एवं पूर्वी घाट
  • पश्चिमी घाट क्षेत्र
  • उत्तर पूर्वी पहाड़ियां एवं ब्रह्मपुत्र का मैदान क्षेत्र
  • सुंदरवन

महत्वपूर्ण तथ्य

  • बाघ (पैंथेरा टाइग्रिस टाइग्रिस) भारत का राष्ट्रीय पशु है। मलेशिया एवं बांग्‍लादेश का राष्ट्रीय पशु बाघ ही है।
  • ध्यातव्य है कि ‘अंतरराष्ट्रीय टाइगर दिवस’ प्रति वर्ष 29 जुलाई को मनाया जाता है।

संकलन-पंकज तिवारी


 

 


 


 


 


Comments
List view
Grid view

Current News List