Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 03 2022

सुपरकंप्यूटर ‘परम अनंत’

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 30 मई, 2022 को आईआईटी गांधीनगर में सुपरकंप्‍यूटर ‘परम अनंत’ राष्ट्र को समर्पित किया गया।
  • इलेक्‍ट्राॅनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) की एक संयुक्त पहल राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (एनएसएम) के तहत इसका उद्‍घाटन किया गया।
  • परम अनंत सुपरकंप्यूटिंग फैसिलिटी की स्थापना एनएसएम के चरण 2 के तहत की गई है। 
  • इस प्रणाली को बनाने के लिए प्रयुक्त अधिकांश कंपोनेंट का विनिर्माण और असंेबल मेक इन इण्डिया की तर्ज पर सी-डैक द्वारा विकसित स्वदेशी सॉफ्‍टवेयर स्टैक के साथ-साथ देश में किया गया है।

सुपरकंप्यूटर ‘परम अनंत’ की विशेषता

  • राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन के तहत, इस 838 टेराफ्‍लॉप्‍स सुपरकंप्यूटर की स्थापना की गई है।
  •  उल्‍लेखनीय है, कि 1 टेराफ्‍लॉप्‍स = 1012 संक्रियाएं (Operations)  प्रति सेकण्ड है।

  • यह सुपरकंप्यूटर विभिन्‍न वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग अनुप्रयोगों की कंप्‍यूटिंग आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सीपीयू नोड्‍स, जीपीयू नोड्‍स, हाई मेमोरी नोड्‍स, हाई थ्रूपुट स्टोरेज और हाई परफॉर्मेंस इनफिनिबैण्ड इंटरकनेक्‍ट के संयोजन का उपयोग करता है।
  • परम अनंत डायरेक्ट कॉन्‍टैक्ट लिक्‍विड कूलिंग तकनीक पर आधारित है। 
  • अनुसंधान कार्य हेतु इस सुपरकंप्यूटर में विभिन्‍न वैज्ञानिक डोमेन; जैसे मौसम और जलवायु, जैव सूचना विज्ञान, कंप्‍यूटेशनल  रसायन विज्ञान, आणविक गतिशीलता, सामग्री विज्ञान, कंप्‍यूटेशनल फ्‍लूड डायनेमिक्‍स इत्‍यादि से कई अनुप्रयोगों के सिस्टम पर स्थापित किया गया है।

  • एनएसएम के तहत, अभी तक 24 पेटाफ्‍लॉप की संचयी कंप्यूटिंग क्षमता के साथ देशभर में 15 सुपरकंप्यूटर संस्थापित किए जा चुके हैं। 
  • इन सभी सुपरकंप्यूटरों का विनिर्माण भारत में किया गया है और ये स्वदेशी तरीके से विकसित सॉफ्‍टवेयर स्टैक पर प्रचालन कर रहे हैं।

संकलन-मनीष प्रियदर्शी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List