Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 02 2022

5 जी टेस्ट बेड

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 17 मई, 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (Telecom Regulatory Authority of India : TRAI)  के रजत जयंती (Silver Jubilee)  समारोह को संबोधित किया गया।
  • इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने एक डाक टिकट जारी किया।
  • इसके साथ ही देश के पहले एवं स्वदेश निर्मित 5 जी टेस्ट बेड (5G Test bed)  का भी शुभारंभ किया।

5जी टेस्ट बेड

  • 5G प्रौद्योगिकी को टेस्ट करने हेतु बनाई गई अवसंरचना (Infrastructure) को 5G टेस्ट बेड कहते हैं।
  • यह दूरसंचार क्षेत्र में क्रिटिकल और आधुनिक प्रौद्योगिकी की आत्मनिर्भरता की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है।
  • यह भारतीय उद्योग और स्टार्टअप के लिए एक सहायक पारिस्थितिकीय तंत्र को सक्षम बनाएगा।
    • जो इन्‍हें 5 जी और अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकियों में अपने उत्पादों, प्रोटोटाइप, समाधान और एल्‍गोरिद्‍म को सत्यापित करने में सहायता करेगा।
  • इसे लगभग 220 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित किया गया था।

निर्माण

  • इसे आईआईटी मद्रास (IIT-M) के नेतृत्व में आठ संस्थानों द्वारा एक बहु-संस्थान सहयोगी परियोजना के रूप में विकसित किया गया था।
  • अन्य संस्थान, जो परियोजना में शामिल हैं, निम्नलिखित हैं-

1. आईआईटी दिल्‍ली (IIT-D)
2. आईआईटी हैदराबाद (IIT-H)
3. आईआईटी बॉम्बे (IIT-B)
4. आईआईटी कानपुर (IIT-K)
5. आईआईएससी बैंगलोर (IISc.-B)
6. सोसाइटी फॉर एप्‍लाइड माइक्रोवेव इलेक्‍ट्राॅनिक्‍स इंजीनियरिंग एण्ड रिसर्च (SAMEER)
7. सेंटर फॉर एक्‍सीलेंस इन वायरलेस टेक्‍नोलॉजी (CE-WiT)

  • गाैरतलब है, कि वर्तमान में लगभग 1.75 लाख ग्राम पंचायतों तक ब्रॉडबैण्ड कनेक्‍टिविटी पहुंचा दी गई है।

लाभ

  • यह 21वीं सदी के भारत में कनेक्‍टिविटी, देश की प्रगति को निर्धारित करेगी।
  • 5G प्रौद्योगिकी देश के कल्याणकारी शासन में ईज ऑफ लिविंग, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में सकारात्मक बदलाव लाएगी।
  • इसके साथ ही कृषि, स्वास्थ्य , शिक्षा, बुनियादी ढांचे और रसद जैसे हर क्षेत्र में विकास को बढ़ावा मिलेगा।
  • विगत 8 वर्षों में, पहुंच (Reach), सुधार (Reform),  विनियमन (Regulate),  प्रतिक्रिया (Respond)  और क्रांति (Revolutionire) के ‘पंचामृत’ (Panchamrita)  के साथ दूरसंचार क्षेत्र में नई ऊर्जा का संचार किया गया है।

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण

संकलन-आदित्य भारद्वाज

 


Comments
List view
Grid view

Current News List