Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jun 02 2022

बोंगोसागर युद्धाभ्यास

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 24-27 मई, 2022 के मध्य भारतीय नौसेना (IN)  और बांग्‍लादेश की नौसेना (BN)  ने द्विपक्षीय नौसैन्य अभ्यास ‘बोंगोसागर’ (Bongosagar)  का आयोजन किया।
  • इसका आयोजन बांग्‍लादेश के पोर्ट मोंगला तथा बंगाल की खाड़ी में किया गया।
  • यह इस अभ्यास का तीसरा (3rd) संस्करण था।
  • यह अभ्यास 2 चरणों में संपन्‍न हुआ, जो इस प्रकार है-

पृष्ठभूमि

  • इस युद्धाभ्यास का पहला संस्करण वर्ष 2019 में आयोजित किया गया था।
  • इसका दूसरा संस्करण अक्‍टूबर, 2020 में आयोजित किया गया था।

उद्देश्य

  • इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच उच्‍च स्तर की पारस्परिकता तथा संयुक्त परिचालन कौशल को विकसित करना है।
  • इन उद्देश्यों को समुद्री अभ्यासों और जंगी कार्रवाई के व्यापक स्पेक्ट्रम में संचालन के माध्यम से पूरा किया गया।

अभ्यास के प्रतिभागी

  • इस अभ्यास में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व एक मिसाइल कार्वेट और एक अपतटीय गश्ती पोत सुमेधा ने किया, जो स्वदेश निर्मित हैं।
  • वहीं दूसरी ओर बांग्‍लादेश की नौसेना का प्रतिनिधित्व 2 गाइडेड मिसाइल फ्रिगेट बीएनएस अबू उबैदाह और अली हैदर ने किए।

अभ्यास का समुद्री चरण

  • अभ्यास के समुद्री चरण में दोनों देशों की नौसेनाओं के जहाजों ने गहन सतही युद्धाभ्यास का प्रदर्शन किया।
  • इसके अलावा दोनों नौसेनाओं ने हथियारों का इस्तेमाल, फायरिंग अभ्यास, नाविक अभ्यास और सामरिक परिदृश्य में समन्‍वित हवाई संचालन में भी भाग लिया।

अभ्यास का बंदरगाह चरण

  • अभ्यास के बंदरगाह चरण के दौरान समुद्री अभ्यास के संचालन पर सामरिक स्तर की चर्चा की गई।
  • इसके अलावा इस चरण में पेशेवर और सामूहिक बातचीत तथा मैत्रीपूर्ण खेल गतिविधियों को भी शामिल किया गया।

संकलन- अमित शुक्‍ला


Comments
List view
Grid view

Current News List