Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: May 26 2022

वरुण अभ्यास, 2022

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 30 मार्च से 3 अप्रैल, 2022 के बीच भारत-फ्रांस द्विपक्षीय नौसेना अभ्यास  ‘वरुण (VARUNA), 2022’ का आयोजन किया गया।
  • इसे अरब सागर में आयोजित किया गया।
  • यह इस अभ्यास का 20वां संस्करण था, जिसने अपने सभी परिचालन उद्देश्यों को सफलतापूर्वक पूर्ण किया।

पृष्ठभूमि

  • भारत और फ्रांस के नौसेनाओं के बीच द्विपक्षीय नौसैन्य अभ्यास का शुभारंभ वर्ष 1993 में शुरू हुआ था।
  • इस  अभ्यास को ‘वरुण’ नाम वर्ष  2001 में दिया गया था।
  • तभी से यह अभ्यास भारत-फ्रांस रणनीतिक द्विपक्षीय संबंधों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है।
  • इसके अलावा नौसैन्य अभ्यासों की यह वरुण श्रृंखला दोनों नौसेनाओं को एक-दूसरे की सर्वोत्तम प्रथाओं से सीखने का अवसर भी प्रदान करती रही है।

वर्तमान अभ्यास का विवरण
प्रारंभिक चरण

  • अभ्यास की वर्तमान श्रृंखला विस्तृत दायरे के साथ शुरू किया गया।
  • इसमें समुद्री परिचालन के व्यापक श्रेणियों (Spectrum) को शामिल किया गया।
  • महत्वपूर्ण सामरिक समुद्री चरण में उन्‍नत पनडुब्बी-रोधी युद्ध रणनीति, नाविक ज्ञान का विकास, सामरिक युद्धाभ्यास और व्यापक हवाई परिचालन पर प्रथम दृष्ट्‍या ध्यान केंद्रित किया गया।
  • इसके तहत, बटालियनों ने एकीकृत हेलीकॉप्टरों द्वारा क्रॉस डेक लैण्डिंग भी की, जो उनके उच्‍च स्तर की अंत: क्रियाशीलता को दर्शाता है।
  • इसके अलावा पोतों के बीच गन फायरिंग और इसे फिर से भरने की प्रक्रियाओं का भी अभ्यास किया गया।

अंतिम चरण

  • अभ्यास का अंतिम चरण उन्‍नत पनडुब्बी-रोधी युद्ध (ASW)  अभ्यासों के साथ शुरू हुआ।
  • इसके अलावा आईएनएस चेन्‍नई सी किंग एमके 42बी, समुद्री गश्ती विमान पी8आई , फ्रांसीसी नौसेना फ्रिगेट एफएस कॉरबेट, सपोर्ट वेसल एफएस लॉयर और अन्य इकाइयों सहित एएसडब्ल्‍यू परिचालन की व्यापक श्रेणियों का अभ्यास किया गया।
  • अभ्यास के अंतिम दिन (3 अप्रैल, 2022) कर्मियों का आपसी दौरा (Cross Visit), समुद्री सवारों का आपसी लदान (Cross Embarkation)  और एक समापन सत्र का आयोजन भी किया गया।
  • अभ्यास समाप्त होने के बाद सवाल-जवाब की एक श्रृंखला (Debrief) आयोजित की गई।
  • इसके तहत, दोनों देशों की नौसेनाओं ने आईएनएस चेन्‍नई पोत पर मुलाकात की और अभ्यास के आगामी संस्करणों में संभावित समावेशन के विकल्पों के साथ सभी समुद्री अभ्यास के क्रमिक विकासों पर चर्चा किए।

निष्कर्ष

  • ‘वरुण अभ्यास, 2022’ भारतीय नौसेना और फ्रांसीसी नौसेना के बीच उच्‍चस्तरीय समन्‍वय और आपसी समझ को प्रदर्शित करता है, जो दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने में एक लंबी यात्रा तय करेगा।

संकलन-अमित शुक्‍ला


 


Comments
List view
Grid view

Current News List