Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: May 26 2022

विश्व सैन्य व्यय प्रवृत्तियां, 2021

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 25  अप्रैल, 2022 को ‘विश्व सैन्य व्यय प्रवृतियां, 2021’ (Trends in World Militery Expenditure, 2021)  नामक रिपोर्ट जारी की गई।
  • इस रिपोर्ट को ‘स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्‍यूट’ (SIPRI) द्वारा जारी किया गया।

रिपोर्ट के प्रमुख निष्कर्ष

  • रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2021 में कुल वैश्विक सैन्य व्यय वर्ष 2020 की तुलना में 0.7 प्रतिशत बढ़कर 2113 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है।
  • इसके साथ ही वर्ष 2021 में विश्व सैन्य व्यय पहली बार 2 ट्रिलियन डॉलर के स्तर को पार कर गया।
  • रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2021 में कुल सैन्य व्यय वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (Global GDP)  का 2.2 प्रतिशत था।
  • वर्ष 2021 में सर्वाधिक सैन्य व्यय करने वाले पांच सबसे बड़े देश क्रमश :  अमेरिका, चीन, भारत, यूनाइटेड किंगडम और रूस हैं। 
  • ये पांचों देश ही वर्ष 2021 में वैश्विक सैन्य व्यय के 62 प्रतिशत हिस्से के लिए उत्तरदायी हैं। 
  • जबकि, अमेरिका और चीन अकेले 52 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार हैं।
  • वर्ष 2021 में विश्व के पांच बड़े क्षेत्रों में से तीन में सैन्य खर्च में वृद्धि दर्ज की गई है, जिनमें एशिया और ओशिनिया (3.5 %), यूरोप (3.0 %) और अफ्रीका (1.2 %) शामिल हैं।
  • जबकि, मध्य-पूर्व (-3.3 %) और अमेरिकी क्षेत्र (-1.2 %) में सैन्य खर्च में गिरावट दर्ज की गई है।

सर्वाधिक सैन्य व्यय वाले शीर्ष 5 देश

सकल घरेलू उत्पाद के हिस्से के रूप में सर्वाधिक सैन्य खर्च करने वाले 5 देश

भारत की स्थिति

  • सद्य: रिपोर्ट के अनुसार, भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा सैन्य व्यय करने वाला देश है।
  • वर्ष 2020 की तुलना में, वर्ष 2021 में भारत द्वारा सैन्य व्यय में लगभग 0.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
  • वर्ष 2021 में भारत का कुल सैन्य व्यय 76.6 बिलियन डॉलर रहा, जो विश्व के कुल सैन्य व्यय का लगभग 3.6 प्रतिशत है।
  • इसके साथ ही भारत का सैन्य व्यय उसके GDP का 2.7 प्रतिशत है।

संकलन-आदित्य भारद्वाज

 

 



 


Comments
List view
Grid view

Current News List