Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: May 26 2022

राष्ट्र स्तरीय प्रदूषण प्रतिक्रिया अभ्यास

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 19-20 अप्रैल, 2022 को भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय स्तरीय प्रदूषण प्रतिक्रिया अभ्यास (NATPOLREX: National Level Pollution Response Exercise)  का आयोजन किया गया। 
  • इसका आयोजन भारतीय तटरक्षक बल (ICG)  ने गोवा के मोरमुगाओ पत्तन पर किया।
  • यह इस अभ्यास का 8वां संस्करण था।

उद्देश्य

  • इस अभ्यास का उद्देश्य समुद्री रिसाव से निपटने में सभी हितधारकों की तैयारी और प्रतिक्रिया क्षमता को बढ़ाना है।
  • इसके अलावा राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्तर पर राष्ट्रीय तेल रिसाव आपदा आकस्मिक योजना (NOSDCP)  में निहित प्रक्रियाओं और दिशा-निर्देशों को लागू करना है।
  • इस योजना का क्रियान्‍वयन दक्षिण एशिया सहकारी पर्यावरण कार्यक्रम (SACEP)  के अधीन होगा, जिसका भारत भी एक सदस्य देश है।

अभ्यास के प्रतिभागी

  • इस अभ्यास में 50 एजेंसियों के 85 से अधिक प्रतिभागी भाग लिए, जिनमें 22 मित्र देशों सहित अंतरराष्ट्रीय संगठनों के 29 पर्यवेक्षक देश शामिल हुए।
  • इस अभ्यास में आईसीजी के 13 पोत व 10 विमान, भारतीय वायु सेना का एक सी-131 विमान, एसएईपी सदस्य राष्ट्रों (श्रीलंका व बांग्‍लादेश) के 2 पोत और ओएनजीसी का एक अपतटीय आपूर्ति पोत (OSV), भारतीय नौवहन निगम की संपत्ति तथा  मोरमुगाओ पोर्ट ट्रस्ट की खींचने वाली नौकाओं को शामिल किया गया।
  • इसमें शामिल सभी एजेंसियों ने साइड स्वीपिंग आर्म्स के माध्यम से रोकथाम सह समुद्री रिसाव रिकवरी, बूम व स्किमर्स (जल विमान) की तैनाती, एकल जहाज संचालित नियंत्रण, सह रिकवरी प्रणाली की स्ट्रीमिंग, अग्‍निशमन अभ्यास, बचाव अभियान और सतह व वायु तेल रिसाव परिक्षेपक प्रणाली का प्रदर्शन किया।

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य

  • इस अभ्यास में भारत सरकार का पत्तन, पोत परिवहन व जलमार्ग मंत्रालय सहित राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF);  भारत मौसम विज्ञान विभाग; भारतीय नौसेना और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, गोवा इत्यादि संस्थाओं ने भागीदारी की।
  • ध्यातव्य है, कि इस अभ्यास के अलावा आईसीजी ने चेन्‍नई में 18 से 29 अप्रैल, 2022 तक समुद्री तेल प्रतिक्रिया और तैयारी में एक क्षमता निर्माण पेशेवर प्रशिक्षण पाठ्‍यक्रम का आयोजन भी किया।
  • यह आयोजन हिंद महासागर परिधि संघ (IORA) के सदस्य राष्ट्रों सहित 18 देशों के 45 अंतरराष्ट्रीय प्रतिभागियों के लिए किया गया था।

संकलन-अमित शुक्‍ला

 


 


Comments
List view
Grid view

Current News List