Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: May 24 2022

ऊपरी भद्रा परियोजना

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 16 फरवरी, 2022 को कर्नाटक सरकार ने घोषणा की कि केंद्र द्वारा ऊपरी भद्रा परियोजना (Upper Dam Project) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा प्रदान किया गया।
  • यह परियोजना कर्नाटक में कार्यान्वित हो रही एक प्रमुख लिफ्‍ट सिंचाई परियोजना है। 

संबंधित तथ्य 

  • राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा प्राप्त होने से इस परियोजना को केंद्र से लगभग 60 प्रतिशत वित्तीय सहयोग प्राप्त होगा।
  • गौरतलब है, कि  राष्ट्रीय दर्जा प्राप्त करने वाली यह कर्नाटक की पहली परियोजना है।
    • वर्ष 2020 में केंद्रीय जल आयोग द्वारा परियोजना के राष्ट्रीय परियोजना स्टेटस को मंजूरी प्रदान कर दी गई थी।
  • इस परियोजना का उद्देश्य  निम्नलिखित सूखाग्रस्त जिलों में खरीफ मौसम में स्थायी सिंचाई सुविधा प्रदान करना है।

(1) चित्रदुर्ग (Chitradurga)
(2) चिकमगलूर (Chikmagalur)
(3) दावणगेरे (Davangere)
(4) तुमकुरु (Tumkur)

  • इसके साथ ही उपरोक्त जिलों के सूखाग्रस्त तालुकों (Drought-Prone Talukas) में 367 टैंकों को भरकर भूजल स्तर को रिचार्ज करना और पेयजल उपलब्ध कराना है।
  • सूखाग्रस्त जिलों में सूक्ष्म सिंचाई द्वारा 2.25 लाख हेक्टेयर की सीमा तक सिंचाई करने की योजना है।

निर्माण

  • इस परियोजना का निर्माण 2 चरणों में पूर्ण किया जा रहा है।
  • परियोजना के तहत, तुंगा (Tunga) नदी से भद्रा (Bhadra) जलाशय तक 17.40 हजार मिलियन क्‍यूबिक फीट (TMC)  और भद्रा जलाशय से अज्‍जमपुरा (Ajjampura) सुरंग तक 29.90 TMC  पानी उठाने की परिकल्‍पना की गई है।
  • दिसंबर, 2020 में परियोजना हेतु सरकार द्वारा लगभग 21473.67 करोड़ रुपये का संशोधित लाभांश भुगतान अनुपात (Dividend Payout Ratio: DPR)  अनुमोदित है।
  • परियोजना का क्रियान्वयन विश्वेश्वरैया (Visvesvaraya) जल निगम लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

संकलन-आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List