Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: May 24 2022

महाराष्ट्र जीन बैंक परियोजना

जीन बैंक

  • स्थानिक प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण व उनका प्रलेखन (Documentation) करने में समुदायों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए जीन बैंक की स्थापना की जाती है।
  • इसके अंतर्गत समुद्री विविधता, स्थानीय फसलों के बीज और पशु विविधता सहित आनुवंशिक संसाधनों का संरक्षण करना शामिल किया जाता है।
  • जैव विविधता संरक्षण को एक जन आंदोलन के रूप में शुरू करने के लिए लोक पारिस्थितिकीविदों को शामिल किया जाएगा।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 28 अप्रैल, 2022 को महाराष्ट्र सरकार द्वारा राज्य में देश के अपनी तरह के पहले जीन बैंक कार्यक्रम को मंजूरी दी गई।
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य स्थानिक जैव विविधता का संरक्षण करना है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि प्राकृतिक संसाधन अगली पीढ़ी को हस्तांतरित किया जा सके।
  • कार्यक्रम के तहत, अगले पांच वर्षों में 172.39 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।

प्रमुख बिंदु

  • महाराष्ट्र सरकार द्वारा ‘जीन बैंक प्रोजेक्ट’ के तहत सात विषयों की पहचान की गई है।

  • यह कार्यक्रम महाराष्ट्र राज्य जैव विविधता बोर्ड (एमएसबीबी) द्वारा कार्यान्वित की जाएगी।
  • बोर्ड द्वारा लुप्तप्राय व दुर्लभ समुद्री प्रजातियों के संरक्षण व प्रलेखन के लिए राष्ट्रीय समुद्र प्रौद्योगिकी संस्थान (National Institute of Ocean Technology), गोवा के साथ समन्‍वय करेगा।
  • इस परियोजना को तीन स्तरीय पैनल द्वारा संचालित किया जाएगा।

कार्यक्रम के तहत शामिल प्रमुख गतिविधियां

  • आणविक (Molecular)  और आनुवंशिक (Genetic)  नमूनो को संरक्षित किया जाएगा।
  • प्रजातियों के संबंध में स्थानीय समुदायों के ज्ञान को अच्‍छी तरह से प्रलेखित किया जाएगा।
  • स्थानिक ज्ञान संसाधनों का दोहन किया जाएगा।
  • सरकार जीनोम वाहकों को प्राेत्साहित करेगी, जो फसल जैव विविधता के संरक्षण के लिए बीजों का संरक्षण करते हैं, और बीज बैंक बनाते हैं।

कार्यक्रम से प्राप्त लाभ होगे ?

  • खाद्य श्रृंखला पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करना।
  • स्थानीय प्रजातीय विविधता को संरक्षित करने में ।
  • इससे सामुदायिक भागीदारी को बढ़ावा मिलेगा।
  • जैव विविधता का संवर्धन व संरक्षण करने में।
  • स्थानीय फसलों की किस्मों के बीजों का संरक्षण करने आदि।

संकलन-पंकज तिवारी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List