Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: May 24 2022

खाद्य संकट पर वैश्विक रिपोर्ट, 2022

परिचय

  • 4 मई, 2022 को ग्‍लोबल नेटवर्क अगेंस्ट फ्रूड क्राइसिस (Global Network Against Food Crises)  द्वारा खाद्य संकट पर वैश्विक रिपोर्ट, 2022 जारी की गई।
  • रिपोर्ट उन देशों और क्षेत्रों पर केंद्रित है, जहां खाद्य संकट की भयावहता और गंभीरता स्थानीय संसाधनों और क्षमताओं से अधिक है।

प्रमुख बिंदु

  •  रिपोर्ट के अनुसार, 53 देशों या क्षेत्रों में 193 मिलियन से अधिक लोगों ने वर्ष 2021 में बदतर स्तर पर बृहत खाद्य असुरक्षा का अनुभव किया।
  • जिसमें 139.1 मिलियन लोगों के आपसी संघर्ष के कारण हुई है।
  • 30.2 मिलियन लोग आर्थिक समस्या के कारण तथा 23.5 मिलियन लोग चरम मौसमी घटनाओं के कारण प्रभावित रहे।
  • यह वर्ष 2020 में दर्ज संख्या की तुलना में लगभग 40 मिलियन अधिक लोगों की वृद्धि को प्रदर्शित करता है।
  • इनमें से आधे मिलियन से अधिक लाेग इथियोपिया, दक्षिणी मेडागास्कर, दक्षिण सूडान और यमन में बृहत खाद्य असुरक्षा संकट के सबसे सुभेद्य चरण में वर्गीकृत किए गए हैं।
  • रिपोर्ट के सभी 6  संस्करण में सबसे अधिक सुभेद्य 39 देशों में तीव्र खाद्य असुरक्षित लोगों की संख्या में लगातार वृद्धि हुई है।
  • यह वृद्धि वर्ष 2016 से 2021 के बीच लगभग दोगुनी हो गई है।
  • वर्ष 2016 के पश्चात अभी तक गंभीर रूप से खाद्य असुरक्षित लोगों की संख्या 48 देशों में 108 मिलियन के लगभग बढ़ी है।

संकट के पीछे के कारण

  • रिपोर्ट के अंतर्गत खाद्य संकट के लिए उत्तरदायी प्रमुखत: तीन कारणों काे चिह्नित किया गया है-

1. आपसी संघर्ष ने 24 देशों/क्षेत्रों में 139 मिलियन लोगों को तीव्र खाद्य असुरक्षा में ढकेल दिया है।
2.मौसम की चरम दशाएं :  जलवायु परिवर्तन परिणामस्वरूप मौसम की चरम दशाओं की तीव्रता ने 8 देशों में 23 मिलियन से अधिक लोगों को तीव्र खाद्य असुरक्षा परिस्थितियों के लिए मजबूर किया है।
3- आर्थिक चुनौतियां :- कोविड-19 के कारण वर्ष 2021 में 21 देशों में लगभग 30 मिलियन लोगों को तीव्र खाद्य असुरक्षा का सामना करना पड़ा ।

खाद्य 
सुरक्षा के लिए प्रमुख सिफारिशें

  • पहुंच बाधाओं को दूर करने के लिए और नकारात्मक दीर्घकालिक प्रवृत्तियों काे वापस लाने के समाधान के रूप में-
  • छोटी जोत वाली कृषि को एक फ्रंटलाइन मानवीय प्रतिक्रिया के रूप में प्राथमिकता देने की जरूरत है।
  • खाद्य सुरक्षा के उत्तरदायी कारणों को स्थायी रूप से संबोधित करने के लिए बेहतर लक्ष्यीकरण, प्रत्याशा और रोकथाम के लिए एक एकीकृत दृष्टिकोण रखने की आवश्यकता है।
  • समन्‍वित दृष्टिकोण के साथ मानवीय, विकास और शांति स्थापना गतिविधियों को समग्र और समन्‍वित तरीके से वितरित किया जाए।
  • दीर्घकालिक विकास निवेशों के माध्यम से मानवीय सहायता को बढ़ावा देने के लिए बाध्य वित्तपोषण में संरचनात्मक परिवर्तन को बढ़ावा देना।
  • सामूहिक रूप से मानवीय सहायता प्रदान करने के अधिक संधारणीय और टिकाऊ उपायों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है।

खाद्य संकट से निपटने हेतु दृष्टिकोण

 

ग्‍लोबल नेटवर्क अगेंस्ट फूड क्राइसिस

  • इसकी स्थापना यूरोपीय संघ, खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO)  और विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP)  द्वारा वर्ष 2016 में की गई थी।
  •  यह खाद्य संकट को रोकने, तैयार करने और प्रतिक्रिया देने और भूख को समाप्त करने के लिए सतत विकास लक्ष्य (SDG-2) का समर्थन करने के लिए एक साथ काम करने वाले संगठनों का गठबंधन है।

खाद्य सुरक्षा सूचना नेटवर्क (FSIN)  

  • यह विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP), अंतरराष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान (IFPRI)  और खाद्य और कृषि संगठन (FAO)  द्वारा सह-प्रायोजित एक वैश्विक पहल है।
  • इसका उद्देश्य खाद्य और पोषण सुरक्षा सूचना प्रणाली को मजबूत करने का प्रयास करना है।

​​​​​​​खाद्य असुरक्षा क्या है ?

  • यह उन परिस्थितियों काे निर्देशित करती है, जब किसी व्यक्ति की पर्याप्त भोजन का उपयोग करने में असमर्थता उसके जीवन या आजीविका को तुरंत खतरे में डाल देती है।

​​​​​​​संकलन-पंकज तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List