Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Apr 27 2022

डब्‍ल्यूएचओ की पहली महामारी संधि

महामारी संधि की आवश्यकता क्यों ?

  • कोविड-19 महामारी द्वारा वैश्विक स्वास्थ्य प्रणालियों की कमियों को उजागर करने के बाद एक अद्यतन (Updates)  संहिता की आवश्यकता महसूस हुई। 
  • महामारी में अब तक टीकों का असमान वितरण देखा गया है।
  • गरीब देशों में निवारक दवाओं की उपलब्‍धता सक्षम देशों की दया पर निर्भर रही है।
  • अधिकांश देशों ने ‘मी-फर्स्ट’ (मैं-पहले) दृष्टिकोण का पालन किया है।

परिचय

  • दिसंबर, 2021 में विश्व स्वास्थ्य सभा ने वर्ष 1948 में स्थापित होने के बाद से अपने दूसरे विशेष सत्र में ‘द वर्ल्ड टुगेदर ’’ (The World together) शीर्षक के तहत महामारी संधि की आवश्यकता पर एक निर्णय को अपनाया।
  • निर्णय के तहत, स्वास्थ्य संगठन ने WHO संविधान के अनुच्‍छेद 19 के अनुपालन में महामारी संधि का मसौदा तैयार करने और बातचीत करने के लिए एक अंतरसरकारी वार्ता निकाय (Intergovernmental negotiating body) की स्थापना की गई। 
  • निकाय का उद्देश्य एक वैश्विक संधि के माध्यम से ‘‘महामारी की रोकथाम, तैयारी और प्रतिक्रिया'' को मजबूत करना है।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 12 अप्रैल, 2022 को  विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सार्वजनिक सुनवाई का पहला दौर शुरू किया।
    •  इसके तहत, भारत और दुनियाभर के विशेषज्ञों ने विभिन्‍न सुझाव दिए हैं, कि महामारी संधि में क्‍या शामिल होना चाहिए।
  • इसी परिप्रेक्ष्य में अंतरसरकारी वार्ता निकाय द्वारा 24 फरवरी, 2022 को अपनी पहली बैठक आयोजित की गई थी।
  • महामारी संधि में उभरते हुए वायरस के डाटा साझाकरण और जीनोम अनुक्रमण और टीकों और दवाओं के समान वितरण और दुनियाभर से संबंधित अनुसंधान जैसे पहलुओं को शामिल करने की उम्मीद है।

संधि को पूर्ण करने की समय-सीमा

  • 1 अगस्त, 2022 तक अंतरसरकारी वार्ता निकाय की दूसरी बैठक आयोजित करने की योजना है, जिसमें कार्य मसौदे पर प्रगति की चर्चा की जाएगी।
  • प्रगति रिपोर्ट को वर्ष 2023 में 76वीं विश्व स्वास्थ्य सभा और इसके परिणाम को वर्ष 2024 में 77वीं विश्व स्वास्थ्य सभा में विचार के लिए प्रस्तुत किया जाएगा।

संधि के लिए प्रमुख सिफारिशें

  • महामारी से निपटने के लिए विकासशील देशों द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियमों (International Health Regulations) की जवाबदेही तय करने से लेकर अधिक शक्तियों के विस्तार तक के सुझाव दिए गए हैं।
    •  ग्‍लोबल पब्‍लिक हेल्थ कन्‍वेंशन (Global Public Health Connvention) ने तीन गैर-परक्राम्य (non-negotiable)  सिद्धांतों पर जोर दिया है-

  •  G20  हेल्‍थ एण्ड डेवलपमेंट पार्टनरशिप (Health and Development Partnership) ने महामारी की तैयारी और स्वास्थ्य प्रणाली के लचीलेपन के लिए ऑफिस फॉर बजट रिस्पांसिबिलिटी (OBR) के समान एक निकाय बनाने का सुझाव दिया।

बजट उत्तरदायित्व कार्यालय-OBR

  • OBR, वर्ष 2010 में बनाया गया, एक राजकोषीय निगरानी संस्था है।
  • जो यूनाइटेड किंगडम (UK)  की अर्थव्यवस्था का स्वतंत्र आर्थिक पूर्वानुमान और विश्लेषण प्रदान करती है।

WHO का अनुच्‍छेद 19 क्या है ?

  • WHO  का अनुच्‍छेद 19 विश्व स्वास्थ्य सभा को स्वास्थ्य के मामलों पर सम्मेलनों या समझौतों को अपनाने का अधिकार देता है।
  • ऐसे सम्मेलनों या समझौतों को अपनाने के लिए दो-तिहाई बहुमत (2/3) की आवश्यकता होती है।
  • नोट -तबंाकू नियंत्रण पर WHO  फ्रेमवर्क कन्‍वेंशन अनुच्‍छेद 19 के तहत स्थापित किया गया था और यह वर्ष 2005 में लागू हुआ था।

विश्व स्वास्थ्य संगठन-WHO

  • WHO, संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी है, जो अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य से संबंधित है।
  • इसकी स्थापना 7 अप्रैल, 1948 को हुई थी। 
  • इसका मुख्यालय जेनेवा, स्विट्‍जरलैण्ड में है।
  • WHO का मुख्य कार्य सहयोग के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यों का निर्देशन और समन्वय करना है।

संकलन-पंकज तिवारी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List