Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Apr 25 2022

ट्री सिटी (वृक्ष शहर) ऑफ द वर्ल्ड, 2021

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 13 अप्रैल, 2022 को संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन (UN-FAO) और आर्बर डे फाउण्डेशन (Arbor Day Foundation)  ने संयुक्त रूप से मंुबई और हैदराबाद को ‘2021 वृक्ष शहर (ट्री सिटी) आॅफ द वर्ल्ड’ के रूप में मान्यता दी है।
  • ‘वृक्ष शहर’ के रूप में मुंबई यह उपलब्धि हासिल करने वाला भारत का दूसरा शहर है।
  • ध्यातव्य है, कि वर्ष 2020 में ही हैदाराबाद ‘वृक्ष शहर’ के रूप में मान्यता प्राप्त करने वाला भारत का पहला शहर बन गया था।

विश्व के वृक्ष शहर (ट्री सिटी) क्‍या हैं ?

  • ‘ट्री सिटीज ऑफ द वर्ल्ड’ संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (FAO)  और अमेरिकी गैर-लाभकारी संगठन आर्बर डे फाउण्डेशन द्वारा शुरू किया गया एक कार्यक्रम है।
  • यह एक अंतरराष्ट्रीय प्रयास है, उन शहरों और कस्बों को पहचानने के लिए, जो यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, कि उनके शहरी वन व पेड़ संधारणीय (Sustainable)  पैमाने पर सही हैं।
  • यह कार्यक्रम शहर में स्वस्थ, टिकाऊ, शहरी वानिकी कार्यक्रम के लिए एक रूपरेखा प्रदान करता है।
  • एक ‘ वृक्ष शहर’ के रूप में पहचाने जाने के लिए एक शहर को ‘पांच मुख्य’ मानकों को पूरा करने की आवश्यकता है।

आर्बर डे फाउण्डेशन

  • इस संगठन की स्थापना वर्ष 1972 में नेब्रास्का (Nebraska), संयुक्त राज्य अमेरिका में जाॅन रोसेनो द्वारा की गई थी।
  • आर्बर डे फाउण्डेशन गैर-लाभकारी पर्यावरण संरक्षण को प्रोत्साहित और इस क्षेत्र में शिक्षा व जागरूकता फैलाने वाला संगठन  है। 
  • यह वृक्षारोपण के लिए समर्पित सबसे बड़ा गैर-लाभकारी (Non-Profit) सदस्यता संगठन है।

खाद्य और कृषि संगठन

  • खाद्य और कृषि संगठन, संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी है।
  • इसका उद्देश्य सभी के लिए खाद्य सुरक्षा हासिल करना है।
  • इस संगठन की स्थापना वर्ष 1945 में हुई थी।
  • इसका मुख्यालय रोम, इटली में स्थित है।
  • यह सुनिश्चित करता है, कि लोगों को पर्याप्त मात्रा में उच्‍च गुणवत्ता वाला भोजन नियमित रूप से सुलभ हो, ताकि वे सक्रिय व स्वस्थ रहें।

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य

  • हैदराबाद को ‘वृक्ष शहर’ के रूप में मान्यता, उसके द्वारा ‘हरिता हरम कार्यक्रम’ और ‘शहरी वन पार्कों’ के माध्यम से शहरी वानिकी को बढ़ावा देने के प्रयासों के फलस्वरूप प्राप्त हुआ है।
  • ‘हरिता हरम कार्यक्रम’ का उद्देश्य राज्य के हरित क्षेत्र को वर्तमान 24 प्रतिशत से बढ़ाकर कुल भौगोलिक क्षेत्र का 33 प्रतिशत करने के लिए तेलंगाना सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है।

संकलन-पंकज तिवारी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List