Contact Us - 9792276999 | 9838932888
Timing : 12:00 Noon to 20:00 PM (Mon to Fri)
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Apr 05 2022

विंग्स इण्डिया, 2022

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 24-27 मार्च, 2022 के मध्य ‘विंग्स इण्डिया, 2022’ (Wings India, 2022)  कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
  • इसका आयोजन बेगमपेट हवाई अड्डे, हैदराबाद (तेलंगाना) में किया गया।

मुख्य विषय

  •   इस चार दिवसीय द्विवार्षिक आयोजन ‘विग्स इण्डिया, 2022’ का मुख्य विषय ‘‘इण्डिया @  75 : विमानन उद्योग के लिए नया क्षितिज ’’ (India @ 75: New Horizon for Aviation Industry) था। 

कार्यक्रम विवरण

  • कार्यक्रम का आयोजन ‘नागरिक उड्डयन मंत्रालय’ और ‘भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ’ (FICCI) द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।
  • यह नागरिक उड्डयन (वाणिज्यिक, सामान्य और व्यावसायिक विमानन) पर एशिया का सबसे बड़ा कार्यक्रम है।
  • यह इवेंट निवेश, नए व्यापार अधिग्रहण, क्षेत्रीय संपर्क और नीति-निर्माण पर भी केंद्रित है।
  • इसके साथ ही यह उड्डयन क्षेत्र को बढ़ावा देने हेतु भी प्रयास करेगा।
  • इसी दौरान 25 मार्च, 2022 को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) और पवन हंस लिमिटेड के मध्य 20 हेलीकॉप्टरों, ALH ध्रुव और लाइट यूटिलिटी हेलीकाॅप्टरों के प्रत्येक 10 सिविल संस्करणों की खरीद या लंबी अवधि के पट्टे (Lease)  हेतु सहयोग के इरादे (IOC) पर हस्ताक्षर किए गए।

​​​​​​​भारतीय नागरिक उड्डयन बाजार

 

  • उड्डयन क्षेत्र (Aviation Sector) भारत का नागरिक उड्डयन विश्व स्तर पर सबसे तेजी से बढ़ते विमानन बाजारों में से एक है, जो सकल घरेलू उत्पादों (GDP) में 72 बिलियन डॉलर ($72bn) का योगदान करता है।
    •  इसके साथ ही यह वर्ष 2024-25 तक देश के 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।
  • यात्री यातायात (Passenger Traffic) :  घरेलू हवाई यात्री यातायात में, तीसरा सबसे बड़ा विमानन बाजार है, जो वित्त वर्ष 2020 में 341.05 मिलियन का था।
  • हवाई अड्डे (Air ports):  जुलाई, 2021 तक कुल हवाई अड्डों की संख्या 153 है, जिनमें 29 अंतरराष्ट्रीय, 114 घरेलू एवं 10 कस्टम हवाई अड्डे शामिल हैं।
    • सरकार का लक्ष्य वर्ष 2024 तक 100 हवाई अड्डों का विकास करना है और वैश्विक मानकों के अनुरूप विश्व स्तरीय नागरिक उड्डयन बुनियादी ढांचा तैयार करना है।
  • नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अनुसार, उड्डयन क्षेत्र में 3.1 का आर्थिक गुणक (Economic multiple) और 6.1 का रोजगार गुणक (Employment Multiple)  है।
    • अर्थात 1 रुपये का निवेश लंबे समय में अर्थव्यवस्था में 3.1 रुपये जोड़ता है और प्रत्येक प्रत्यक्ष रोजगार हेतु 6.1 अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा होते हैं।

​​​​​​​संकलन- आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List