Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Jan 15 2022

भारत-तुर्कमेनिस्तान के मध्य समझौता-ज्ञापन

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 6 जनवरी, 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली केंद्रीय मंत्रिमण्डल ने आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देने के लिए तुर्कमेनिस्तान के साथ समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने को मंजूरी प्रदान की ।
  • उल्‍लेखनीय है, कि वर्तमान में भारत ने विभिन्‍न देशों के साथ आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में समझौता-ज्ञापन/आशय पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • जिसमें स्विट्‍जरलैण्ड, रूस, सार्क (SAARC) देश, मंगोलिया, ताजिकिस्तान एवं इटली शामिल हैं।

उद्देश्य 

  • ऐसी आपदा प्रबंधन प्रणाली की स्थापना करना जिससे दोनों देश लाभान्वित हों।
  • आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में अच्‍छी परंपराओं का परस्पर आदान-प्रदान ।
  • आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में तैयारी, प्रतिक्रिया और क्षमता निर्माण को बढ़ावा देना।

समझौता-ज्ञापन के प्रमुख बिंदु

  • आपात स्थिति की निगरानी एवं पूर्वानुमान करना तथा उनके परिणामों का आकलन करना ; 
  • आपदा प्रबंधन में शामिल उपयुक्त संगठनों के सक्षम अधिकारियों के माध्यम से बातचीन करना ; 
  • आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में संयुक्त योजना बनाना तथा विकास, कार्यान्वयन, वैज्ञानिक एवं तकनीकी प्रकाशनों तथा अनुसंधान कार्यों के परिणामों का आदान-प्रदान करना ; 
  • सूचनाओं, पत्रिकाओं/अन्य प्रकाशनों, वीडियो और फोटो सामग्रियों के साथ-साथ प्रौद्योगिकियों का आपसी सहमति से आदान-प्रदान करना ;
  • सम्मेलनों, सेमिनारों, कार्यशालाओं के साथ-साथ अभ्यास एवं प्रशिक्षण का संयुक्त रूप से आयोजन करना ;
  • आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में विशेषज्ञों के अनुभवों को साझा करना ; 
  • खोज एवं बचाव कार्य अभियानों से जुड़े लोगों का क्षमता निर्माण करना तथा इस क्षेत्र में क्षमता निर्माण में मदद करने हेतु प्रशिक्षुओं एवं विशेषज्ञों का आदान-प्रदान करना ;
  • आपदा प्रबंधन में तकनीकी सुविधाएं एवं उपकरण उपलब्ध कराना तथा पूर्व-चेतावनी प्रणालियों में सुधार एवं क्षमता निर्माण में आपसी सहायता प्रदान करना ; 
  • आपदा-रोधी बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए ज्ञान और विशेषज्ञता को आपस में साझा करना ; 
  • आपसी सहमति से अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप गुणवत्ता प्रबंधन प्रणालियों का आदान-प्रदान करना।
  • दोनों पक्षों के सक्षम अधिकारियों के सहमति से आपदा प्रबंधन से संबंधित अन्य गतिविधियों का परस्पर आदान-प्रदान करना।

तुर्कमेनिस्तान

  • तुर्कमेनिस्तान मध्य एशिया में स्थित एक स्थलबद्ध देश है, जिसकी राजधानी अश्गाबाद है।
  • पूर्व में यह सोवियत संघ का भाग था।
  • तुर्कमेनिस्तान उत्तर में कजाख्स्तान, उत्तर व उत्तर-पूर्व में उज्बेकिस्तान, दक्षिण में ईरान तथा दक्षिण-पूर्व में अफगानिस्तान के साथ सीमा साझा करता है।

भारत-तुर्कमेनिस्तान

  • तापी (TAPI) पाइपलाइन (तुर्कमेनिस्तान, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत) का प्रारंभ तुर्कमेनिस्तान से होता है।
    • यह परियोजना दोनों देशों के आर्थिक संबंधों का प्रमुख स्तंभ है।
  • वर्ष 2015 में भारत द्वारा अश्गाबाद में फ्रीडम इंस्टीट्‍यूट आॅफ वर्ल्ड लैंग्वेजज (हिंदी पीठ) की स्थापना की थी, जहां छात्रों को  हिंदी पढ़ाई जाती है।
  • भारतीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग कार्यक्रम के अंतर्गत भारत, तुर्कमेनिस्तान के नागरिकों को विभिन्‍न क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्रदान करता है।
  • भारत की कनेक्‍ट सेंट्रल एशिया नीति में तुर्कमेनिस्तान भी समाहित है।
  • 18-19 दिसंबर, 2021 को नई दिल्‍ली में तीसरा भारत-मध्य एशिया संवाद का आयोजन किया गया।
  • जिसमें तुर्कमेनिस्तान, कजाख्स्तान, किर्गिजस्तान, ताजिकिस्तान एवं उज्बेकिस्तान ने भाग लिया था।

संकलन-अशोक तिवारी

 


Comments
List view
Grid view

Current News List